अजय उर्फ एजाज खान ने तिलक लगाकर की महिला से दोस्ती, दुष्कर्म कर के धर्म परिवर्तन करने का दवाब बनाया,हुआ गिरफ्तार

0
916

लव जिहाद पर भले ही कठोर कानून बन गए हो,लेकिन तब भी लव जिहाद के रोज नए नए मामले सामने आ रहे हैं। ऐसा ही एक मामला इंदौर मध्यप्रदेश से आया है लव जिहाद का जिसमे आरोपी ने विवाहित महिला से दुष्कर्म कर उससे पैसे ऐंठे और फिर धर्म परिवर्तन करने का दवाब बनाने लगा।

विजय नगर थाना पुलिस के मुताबिक 27 वर्षीय विवाहित महिला वर्ष 2019 में आरोपी एजाज खान के संपर्क में आई थी।
उसकी मुलाकात माधवबाग क्लीनिक में हुई थी तब एजाज खान वहां कंप्यूटर ऑपरेटर का काम करता था।
एजाज खान ने उससे अज्जू उर्फ अजय बनकर दोस्ती की, एजाज खान उस समय माथे पर तिलक लगाकर मिलने आया और अपना नाम अजय बताया।
उसके कुछ समय के बाद उनकी मुलाकात होटल सूर्या में एक बैठक के दौरान हुई और दोनो में दोस्ती हो गई।
तब तक पीड़ित महिला को उसकी असली पहचान के बारे में नहीं पता था।
फरवरी 2019 में आरोपी एजाज खान उसको फ्लैट दिखाने के बहाने राजेंद्र नगर ले गया और उसके साथ शारीरिक संबंध बनाए।
बाद में महिला को धमकाया कि अगर उसने अपना मुंह खोला तो वो उसकी बेटी की हत्या कर देगा।
इसके बाद बदनामी के डर से एजाज खान ने उस महिला का बहुत शोषण किया और उससे ढाई लाख रुपए, सोने का हार, अगुठियां, चेन भी ले ली।
इसके बाद जब महिला ने जब उस मिलने को मना किया तो आरोपी ने अपनी पहचान बताई कि वो हिन्दू नही मुस्लिम है,यह सच जानकर महिला के होश उड़ गए।


एजाज खान ने एक और खुलासा किया कि उसने नीमच शहर में एक युवती के साथ कर चुका है।
महिला ने डर के कारण अपना मोबाइल बंद कर दिया।
इसके बाद एजाज खान ने 4 जून को महिला के घर चला गया और उसके परिवार के लोगों को धमकाते हुए कहा कि वो महिला से शादी करना चाहता है।
आरोपी ने महिला के पति और बच्चों को जान से मारने की धमकी देने लगा ।
इसके बाद पीड़िता ने सच बताया जिसके बाद परिवार के लोगों ने हिन्दू संगठन से संपर्क किया और पूरी घटना बताई।
इसके बाद पुलिस थाने जाकर एजाज खान के खिलाफ शिकायत दर्ज की।
पुलिस ने मोबाइल लोकेशन के आधार पर चिकित्सक नगर में छापा मारा और आरोपी को गिरफ्तार किया।
पुलिस की पकड़ में आने के बाद आरोपी एजाज खान ने अपना जुर्म कबूल किया और पीड़िता से ऐंठी हुई ज्वैलरी को रतलाम में छिपाना कबूल किया।
पीड़िता ने आरोप लगाया कि एजाज खान उसको ब्लैकमेल करके धर्म परिवर्तन करने के लिए धमकाता था।
अब इस मामले को समझने का प्रयास करते है, आरोपी ने तिलक लगाकर महिला से दोस्ती की और फिर उससे नजदीकियां बढ़ानी शुरू की।

हम लोगो को इस बात को लेकर सावधान रहना होगा क्योंकि ये जिहादी लोग तिलक लगाकर धोखा देते है और महिलाओं को फिर अपना शिकार बनाते हैं।
महिला के साथ जब उसके जबरन शारीरिक संबंध बनाए थे तभी महिला को उसके खिलाफ कानूनी कार्यवाई कर देनी थी।
यहां महिला को हम दोष नही दे सकते है क्योंकि उसको सामाजिक बदनामी का डर था और उसको ये लगता होगा कि कहीं उसका पति उसका त्याग न कर दे।
लेकिन जिस तरह महिला के परिवार वालों ने उसका साथ दिया और उसको मानसिक रूप से तैयार किया आरोपी के खिलाफ वो प्रशंसनीय है।
एक बात ध्यान देने वाली यह है कि जितना उस महिला ने उस आरोपी को सहा उतना ही वो आरोपी उस पर हावी होता रहा,और आरोपी ने उसके घर जाकर उसके घर वालो के सामने उसको बदनाम करने का प्रयास किया,वह ये सब इसलिए ऐसा कर सका क्योंकि महिला ने कहीं न कहीं उसको अपने परिवार के बारे में बताया होगा। इसलिए हमारा आप सब से विनम्र निवेदन है की अपनी घर के बारे में किसी भी व्यक्ति को एकदम न बताए भले ही वो आपका कितना ही खास क्यों न हो |

अब आप सब कहेंगे की जिहादी तिलक लगाकर धोखा देते है तो क्या करे, बहुत ही सरल उपाय है, सैनिटाइजर की छोटी सी बोतल में गौमूत्र डाल ले और जब भी कोई तिलक लगाकर अपनी झूठी पहचान बताए तो उससे बातचीत करते हुए गौमूत्र का छिड़काव उसके आसपास कर दे।
देखना कैसे दुम दबाकर भाग जायेगा जिहादी, क्योंकि गौमूत्र से तो जिहादियों को डर लगता है।

news link:

https://epaper.naidunia.com/epaper/10-jun-2021-74-indore-edition-indore-page-3.html
https://epaper.naidunia.com/epaper/11-jun-2021-74-indore-edition-indore-page-3.html

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here