मुस्लिम संगठनों ने की सरकार से पैगंबर मोहम्मद बिल बनाने की मांग। धार्मिक भावनाओं का दिया हवाला।

0
508

महाराष्ट्र में मुस्लिम संगठनों ने सरकार से मांग की है कि वो पैगंबर मोहम्मद के खिलाफ बोलने वालो के खिलाफ सरकार एक बिल बनाए जिसका नाम “पैगंबर मोहम्मद बिल” हो।

मुस्लिम संगठनों का कहना है कि इस बिल से जो भी व्यक्ति, संस्था या कोई भी पैगंबर मोहम्मद या अन्य धर्म की प्रमुख व्यक्तियों या अन्य धर्मों के खिलाफ कुछ भी कहता है तो उसके खिलाफ कठोर कार्यवाई की जाए।

इस बिल का समर्थन करने में प्रकाश अम्बेडकर की वंचित बहुजन अघाड़ी पार्टी , रजा एकेडमी और अन्य मुस्लिम संगठनों ने की है।

मुस्लिम संगठनों का कहना है कि उनके पैगंबर मोहम्मद का जिस तरह अपमान किया जाता है कई लोगो द्वारा जैसे सलमान रुश्दी  जैसे लोग जो बार बार इस्लाम धर्म को अपमानित करते रहते हैं। नफरत फैलाते हैं इस्लाम धर्म के बारे में । उससे उनकी धार्मिक भावनाएं आहत होती है।

मुस्लिम संगठनों को सबसे पहले खुद से यह सवाल पूछना चाहिए कि उनके नेता लोग किस तरह हिंदू धर्म और हिंदू देवी देवताओं का अपमान करते हैं।

एक मुस्लिम नेता ने बहुत पहले कहा था कि १५ मिनट के लिए पुलिस हटा दो,फिर हम अपनी ताकत बताएंगे।
अन्य मुस्लिम नेता कहते हैं कि हम २५ करोड़ है,लेकिन १०० करोड़ पर भारी है ।

कितनी बार यह देखने और सुनने को मिलता है कि हिंदुओं को धार्मिक यात्रा करने की अनुमति नहीं दी जाती है मुस्लिम बहुल इलाकों से।

कितनी बार हिंदू धार्मिक स्थलों का नष्ट किया जाता है जिहादियों द्वारा, हिंदू देवी देवताओं की प्रतिमाओं को नष्ट किया जाता है।
सोशल मीडिया पर अभद्र टिप्पणी की जाती है हिंदू धर्म को लेकर।
कई नकली आईडी से हिंदू देवी देवताओं और हिंदू धर्म पर अश्लील टिप्पणी और वीडियो बनाए जाते है।

इसके बारे में मुस्लिम संगठनों ने कुछ भी आज तक प्रतिक्रिया दी है?

याद कीजिए बैंगलोर हिंसा जिसमे कुछ जिहादियों ने हिंदू देवी देवताओं पर एक अश्लील फोटो डाली थी सोशल मीडिया पर,जिसके बाद एक दलित युवक ने कुरान का हवाला देते हुए जवाब दिया था,जिसके बाद जिहादी भड़क गए और उन्होंने आधे शहर को दंगो की आग में झोंक दिया था।

हर धर्म में कुछ न कुछ खामियां रहती है जिसके कारण उसका विरोध किया जाता है लेकिन जिहादियों को अगर कुरान का हवाला देकर अगर कुछ प्रमाण दिया जाए तो वो सच सुनना पसंद नहीं करते हैं और दंगे करने पर उतर आते हैं।

इस बिल की आड़ लेकर जिहादी ताकते अपना प्रभाव दिखाना चाहती हैं, यदि ये बिल पारित हो गया तो इसके भयंकर दुष्परिणाम देखने को मिलेंगे, जैसे कोई भी मुस्लिम नेता इस बिल की आड़ लेकर दूसरे धर्म की लोगो को प्रताड़ित करेंगे। हम रोज देखते हैं सोशल मीडिया पर कितने जिहादी लोग हिंदू धर्म पर गंदी टिप्पणी करते हैं।

और यदि इन जिहादी लोगो को जरा सा भी कुछ कह दिया तो वो इस बिल की आड़ लेकर बवाल मचाना शुरू कर देंगे। इस बिल के सहारे कितने हिंदुओं और अन्य धर्म के लोगो को बिना वजह प्रताड़ित किया जाएगा। यह सोचकर ही आत्मा कांप उठती है।

यह बिल एक तरह से गजवा ए हिंद को बढ़ाने का काम करेगा और समाज में एक तरह से असहनशीलता को बढ़ावा देगा।

https://www.timesnowhindi.com/mumbai/article/muslim-organisations-want-prophet-muhammad-bill-to-punish-insults-against-muhammad/353695

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here