हिंदू पलायन : कश्मीर और कैराना बनने की राह पर मुंबई के मालवणी का यह इलाका, भाजपा नेता मंगल प्रभात लोढ़ा और अन्य कार्यकर्ता उतरे मैदान पर।

0
3704

मुंबई : कश्मीर से लेकर कैराना तक आपने हिंदुओं के पलायन होने की बात तो सुनी होगी, किंतु आजकल मुंबई के मलाड में स्थित मालवणी इलाके में भी कुछ इस तरह की घटनाएं सामने आ रही है।
बताया जा रहा है कि मालवणी के महाडा कॉलोनी (MHB) गेट नंबर 7 में नो हिंदू परिवार रहते हैं जो कि इस इलाके में अल्पसंख्यक बन गए हैं इनकी तुलना में 100 मुस्लिम घर है। सूत्रों से मिली खबरों के अनुसार यहां पर रहने वाले हिंदू परिवारों पर मानसिक दबाव डाला जा रहा है ताकि वह अपने घर को औने पौने दाम में बेच कर इस इलाके को खाली कर दें।

स्थानीय निवासियों ने बताया कि करीब 10 15 साल पहले यहां हजारों की संख्या में हिंदू रहते थे, परंतु पिछले 5 सालों में हिंदुओं का पलायन हुआ है, अब इस वक्त केवल 9 घर हिंदुओं के रह गए हैं जो कि दलित और पिछड़े वर्ग से हैं।
4 साल पहले यहां पर महाडा की सरकारी जमीन पर अवैध रूप से मदरसा बनाया गया है जिस पर बीएमसी और लोकल प्रशासन कोई कार्यवाही नहीं कर रहा।
करीब 2 साल से यहां पर हिंदुओं पर दबाव बनाया जा रहा है कि वह अपना घर खाली कर दें, और स्थानीय निवासियों का आरोप है कि नजदीकी पुलिस थाना और प्रशासन उनकी कोई बात नहीं सुन रहा।
जब इस बात का पता भाजपा के शीर्ष नेताओं को चला तो उन्होंने इस मामले पर आवाज उठाना अब शुरू कर दिया है। आज मुंबई भाजपा के अध्यक्ष श्री मंगल प्रभात लोढ़ा, मलाड से भाजपा अध्यक्ष श्री सुनील कोली और अन्य भाजपा नेता और कार्यकर्ताओं ने पुलिस प्रशासन के सामने ज्ञापन दिया और स्थानीय हिंदू निवासियों से मिलकर उनसे स्थिति की जानकारी ली।
ट्रूनिकल से एक्सक्लूसिव बात करते हुए भाजपा के मलाड विधानसभा अध्यक्ष सुनील कोहली ने बताया :”

हिंदुओं को यहां पर प्रताड़ित किया जा रहा है हिंदू महिलाओं के साथ छेड़छाड़ की घटना यहां पर आम हो चुकी है और पुलिस प्रशासन इस बात पर आंख मूंद कर बैठा है। उन्होंने यह भी कहा कि ऐसा सब इसलिए किया जा रहा है ताकि हिंदू घर यहां से खाली कर दें और इस सब घटनाओं के पीछे लोकल भू माफिया और स्थानीय नेता एवं मंत्री असलम शेख के शामिल होने का संदेह जताया। बिजली चोरी और ड्रग जैसे अवैध कारोबार भी इस इलाके में फल फूल रहे हैं ऐसा भी आरोप लगाया जा रहा है ।
अवैध मस्जिद और मदरसा निर्माण होने की भी बात यहां पर सामने आई है जिस पर बीएमसी और महाराष्ट्र सरकार चुप्पी साधे है और कोई कार्रवाई नहीं कर रही। 31 दिसंबर को भाजपा के नेताओं ने स्थानीय पुलिस को और डीसीपी को इस बात की जानकारी दी है कि तुरंत इन घटनाओं पर कार्रवाई होनी चाहिए। सुनील कोली जी ने यह भी कहा कि अगर 15 दिनों में पुलिस और प्रशासन कार्यवाही नहीं करता तो भाजपा स्वयं अपने कार्यकर्ताओं के साथ जमीन पर उतरेगी और हिंदुओं के हित की रक्षा करने के लिए पर्याप्त कदम उठाएगी।
जिन 9 हिंदू घरों को प्रताड़ित किया जा रहा है आपको बता दें कि उनमें से सात घर दलित समाज के हैं, जय भीम और जय भीम का नारा लगाने वाले नेता इस बात पर चुप्पी साधे हुए हैं।

पुलिस प्रशासन के साथ बात करते हुए मुंबई भाजपा अध्यक्ष श्री मंगल प्रभात लोढ़ा ने मालवणी में होने वाली घटनाओं की तुलना 1990 के कश्मीर से की ।
उन्होंने पीड़ित हिंदू दलितों को न्याय दिलाने का विश्वास जताया।

हमसे बात करते हुए एक स्थानीय व्यक्ति ने कहा
“बड़े अफसोस की बात है कि आज उन्हीं के सुपुत्र श्री उद्धव ठाकरे सुबह के मुख्यमंत्री हैं परंतु उन्होंने मालवणी की इस घटना पर अपने आंख मूंद लिए हैं।”


एक जमाना था जब माननीय बालासाहेब ठाकरे हिंदू हित की बात को सर्वोपरि रखते थे और अवैध रूप से रहने वाले बाहरी लोगों पर कठोर कार्रवाई की मांग करते थे।

अब देखा जाना है कि क्या प्रशासन की नींद खुलेगी और मालवणी की घटना पर कोई ठोस कार्रवाई बिना पक्षपात के होगी ?

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here