32.1 C
New Delhi

‘आश्रम’ के सेट पर पिटे बॉबी देओल और प्रकाश झा, जनता ने दौड़ा दौड़ा कर पीटा और हिन्दू-विरोधियो का किया मुंह काला

Date:

Share post:

आजकल हिंदुत्व और हिन्दुओ के आस्था से खिलवाड़ करने का रिवाज ही चल पड़ा है, और इसमें सबसे आगे है हमारा बॉलीवुड। वैसे तो बॉलीवुड हमेशा से ही हिंदुत्व को नीचे दिखता आया है, लेकिन OTT प्लेटफार्म आने के बाद तो जैसे उसे एक खुला लाइसेंस ही मिल गया है हिंदुत्व के खिलाफ कंटेंट बनाने का।

पिछले कुछ सालो में हमने कई सीरीज देखी हैं, जिनमे हिन्दू धर्म, हमारे भगवानो, हमारी आस्थाओ का खुला मज़ाक उड़ाया गया है , और ऐसी ही एक सीरीज है आश्रम।

इसमें बॉबी देओल मुख्य कलाकार हैं, वहीं इसके निर्देशक हैं प्रकाश झा। इस सीरीज के दो पार्ट पहले ही आ चुके हैं, जिसमे आश्रमों में होने वाले बुरे कामो को दिखाया गया है, और एक तरह से सभी आश्रमों को बदनाम किया गया है।

ताजा खबर ये है कि मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में ‘आश्रम-3’ की शूटिंग चल रही थी, जिस दौरान बजरंगदल के लोगों ने गाड़ियों में तोड़फोड़ की और डायरेक्टर प्रकाश झा पर भी स्याही फेंक दी.

पुलिस के अनुसार भोपाल की अरेरा हिल्स की पुरानी जेल के रास्ते में इस सीरीज का सेट लगाया हुआ था, जैसे ही जनता को इस बात की भनक लगी लोग शूटिंग के स्थान पर पहुंच गए, और उन्होंने इस सीरीज कि शूटिंग का विरोध करना शुरू कर दिया। लोगो ने कहा कि इस वेब सीरीज में हिन्दू संतो का अपमान किया गया है, उन्हें हर गलत काम करने वाला बताया गया है, और इसी वजह से जनता में भरी रोष था।

गुस्साए लोगो ने डायरेक्टर प्रकाश झा और एक्टर बॉबी देओल से सवाल जवाब करने शुरू कर दिए । जनता ने पूछा आप ऐसी वेब सीरीज दूसरे धर्मो के प्रचारकों पर क्यों नहीं बनाते? कई मौलाना मदरसों में बच्चो के साथ गलत काम करते और बलात्कार करते पकड़े गए हैं तो वहीं मुंबई के मिशनरी स्कूल में फादर पर बच्चो से अनैतिक काम करने और बिशप पर बलात्कार का आरोप लग चुका है, इस पर आप वेब सीरीज क्यों नहीं बनाते?

जनता के सवाल जायज़ थे, क्यूकी अन्य धार्मिक स्थलों में होने वाले गलत कामो के बारे में बहुतायत में खबरें आती हैं, लेकिन उन्हें जानबूजकर दबा दिया जाता है, और उन पर कोई कंटेंट नहीं बनाया जाता, क्यूकी बॉलीवुड को भी पता है कि वो किसी और धर्म के बारे में कुछ भी दिखाएंगे तो उन्हें उसके परिणाम भुगतने पड़ेंगे, इसलिए उनके लिए हिन्दू धर्म एक आसान शिकार सरीखा है।

जनता को उनके सवालों के जवाब देने के बजाये प्रकाश झा और बॉबी देओल जनता को ही उल्टे सीधे और भड़काऊ जवाब देते हुए हिन्दू संत परंपरा और साधु संतो को ही बुरा भला कहना शुरू कर दिया, उनके घृणित बयानों को सुन कर जनता और भड़क गई, और डायरेक्टर प्रकाश झा और एक्टर बॉबी देओल की जम कर धुनाई कर दी, इसका बाद डायरेक्टर प्रकाश झा का मुंह भी काला कर दिया गया।

बजरंग दल के प्रांत संयोजक सुशील ने चेतावनी दी कि झा को फिल्म का नाम बदलना पड़ेगा. विरोध प्रदर्शन के बाद उनसे बात हुई है. उन्होंने नाम बदलने के लिए वायदा भी किया है, अगर प्रकाश झा ने इस सीरीज का नाम नहीं बदला तो शूटिंग नहीं होने दी जाएगी. इतना ही नहीं, इस सीरीज को रिलीज़ भी नहीं होने दिया जाएगा. 

बजरंग दाल के प्रांत संयोजक सुशील ने आरोप लगाया कि झा जान बूझकर हिन्दू धर्म को बदनाम कर रहे हैं. उन्होंने कहा, ”आश्रम परंपरा हमारी पहचान है. किसी आश्रम में यदि कोई अपराध हुआ है तो उसके नाम से वह फिल्म बनाएं. सभी आश्रमों को बदनाम नहीं करें.

बॉलीवुड के बड़े सितारे ये भूल गए हैं की उन्हें ऊंचाई पर बैठाने वाली जनता ही है, जो उनके कामो को देखती है, और उन्हें सराहती है, लेकिन इसका फायदा उठा क्र ये बॉलीवुड के सितारे जनता के धर्म का ही अनादर करते हैं।

इस बार भोपाल में ये सितारे स्थिति की गंभीरता का अंदाजा नहीं लगा पाए थे, उन्हें लगा था जनता इनके पैर की जूती है, और वो जनता को कुछ भी कह सुनकर बच जाएंगे, लेकिन जैसे ही जनता ने इनकी धुनाई की इनका भूत कफूर हो गया और पूरी टीम सर पर पैर रख कर भाग खड़ी हुई।

आशा करते हैं इस घटना से बाकी के डायरेक्टर और एक्टर भी सबक लेंगे और देश की बहुसंख्यक आबादी की भावनाओं का ख्याल रख कर वेब सीरीज बनाएंगे, एकतरफा धर्म को बदनाम करना इन्हे बंद करना पड़ेगा। सेकुलरिज्म और आर्टिस्टिक लिबर्टी के नाम पर हिंदुत्व और हमारे धार्मिक प्रतीकों के खिलाफ ज़हर उगलना इन्हे बंद करना ही पड़ेगा।

हिन्दू अब जागरूक हो गया है, और अब वो इन सब खेलो को समझने भी लगा है । अब हिन्दू कोई मंदिर का घंटा नहीं है, जिसे कोई भी आये और बजा कर चला जाए, अब हिन्दू को भी जवाब देना आ गया है, कभी सितारों को सोशल मीडिया पर, कभी उनके खिलाफ आर्थिक बहिष्कार का अभियान चला कर, उनकी फिल्मो का बायकाट करके हिन्दुओ ने दिखा दिया है कि धर्म पर आंच आने पर वो अब चुप नहीं बैठने वाला।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

spot_img

Related articles

कन्हैया लाल तेली इत्यस्य किं ?:-सर्वोच्च न्यायालयम् ! कन्हैया लाल तेली का क्या ?:-सर्वोच्च न्यायालय !

भवतम् जून २०२२ तमस्य घटना स्मरणम् भविष्यति, यदा राजस्थानस्योदयपुरे इस्लामी कट्टरपंथिनः सौचिक: कन्हैया लाल तेली इत्यस्य शिरोच्छेदमकुर्वन् !...

१५ वर्षीया दलित अवयस्काया सह त्रीणि दिवसानि एवाकरोत् सामूहिक दुष्कर्म, पुनः इस्लामे धर्मांतरणम् बलात् च् पाणिग्रहण ! 15 साल की दलित नाबालिग के साथ...

उत्तर प्रदेशस्य ब्रह्मऋषि नगरे मुस्लिम समुदायस्य केचन युवका: एकायाः अवयस्का बालिकाया: अपहरणम् कृत्वा तया बंधने अकरोत् त्रीणि दिवसानि...

यै: मया मातु: अंतिम संस्कारे गन्तुं न अददु:, तै: अस्माभिः निरंकुश: कथयन्ति-राजनाथ सिंह: ! जिन्होंने मुझे माँ के अंतिम संस्कार में जाने नहीं दिया,...

रक्षामंत्री राजनाथ सिंहस्य मातु: निधन ब्रेन हेमरेजतः अभवत् स्म, तु तेन अंतिम संस्कारे गमनस्याज्ञा नाददात् स्म ! यस्योल्लेख...

धर्मनगरी अयोध्यायां मादकपदार्थस्य वाणिज्यस्य कुचक्रम् ! धर्मनगरी अयोध्या में नशे के कारोबार की साजिश !

उत्तरप्रदेशस्यायोध्यायां आरक्षकः मद्यपदार्थस्य वाणिज्यकृतस्यारोपे एकाम् मुस्लिम महिलाम् बंधनमकरोत् ! आरोप्या: महिलायाः नाम परवीन बानो या बुर्का धारित्वा स्मैक...