कृषक: सरकार: वार्तायाम् चत्वारैण द्वय याचनाषु भवति सहमतिम् ! किसान सरकार वार्ता में 4 में से दो मांगों पर बनी सहमति !

0
213

फोटो कृषिमंत्री नरेंद्र सिंह तोमर

कृषक संगठना: सर्कारस्य मध्य च् बुधवासरम् षष्टम चकरस्य वार्ता सम्पन्नम् अभवत् ! इति वार्तायाम् कृषकानां चत्वारैण द्वयो याचनो पूर्ण कृताय सरकार तत्परमभवत् यद्यपि द्वयो याचनयो सहमतिम् न भव्यते !

किसान संगठनों और सरकार के बीच बुधवार को छठे दौर की वार्ता संपन्न हुई ! इस बातचीत में किसानों की चार में से दो मांगों को पूरा करने के लिए सरकार तैयार हो गई जबकि दो मांगों पर सहमति नहीं बन पाई !

सरकारः पराली इति विधेयकम् विद्युत प्रकरण विधेयके च् कृषक संगठनानां याचनां पूर्णम् करिष्यति यद्यपि त्रय कृषि विधेयकानि निरस्तं कृतं एमएसपी इतम् विधिरूप दास्य याचनायां सहमतिम् न भव्यते !

सरकार पराली कानून एवं बिजली मसौदा कानून पर किसान संगठनों की मांग पूरी करेगी जबकि तीन कृषि कानूनों को रद्द करने एवं एमएसपी को कानूनी दर्जा देने की मांग पर सहमति नहीं बन पाई !

सम्प्रति ४ जनवरी इतम् इति द्वयो प्रकरणयो सरकार: कृषक संगठनानां च् मध्य वार्ता भविष्यति ! द्वयो पक्षौ अद्यस्य वार्तायाम् सन्तोषम् व्यक्तम् कृतवान !

अब चार जनवरी को इन दोनों मुद्दों पर सरकार और किसान संगठनों के बीच वार्ता होगी ! दोनों पक्षों ने आज की बातचीत पर संतोष जाहिर किया !

सूत्राणां कथनमस्ति तत त्रय कृषि विधेयकै: संलग्न प्रकरणेषु वार्ताय सरकारः एक समितिम् निर्मशक्नोति ! कृषक नेतृभिः सह वार्तायाः अनन्तरं केंद्रीय कृषिमंत्री नरेंद्र सिंह तोमर: अकथयत् तत सभाम् सकारात्मक बिन्दुयाम् संपादिताभवत् !

सूत्रों का कहना है कि तीन कृषि कानूनों से जुड़े मुद्दों पर वार्ता के लिए सरकार एक समिति बना सकती है ! किसान नेताओं के साथ वार्ता के बाद केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने कहा कि बैठक सकारात्मक बिंदु पर खत्म हुई !

विज्ञान भवने षष्टम चक्रस्य वार्ताया: अनन्तरं तोमर: मीडिया कर्मीभिः अकथयत् अद्यस्य वार्ता बहु साधु वातावरणे अभवत् अस्य समापनम् च् एकम् सकारात्मकं बिंदुयामभवत् ! द्वयो पक्ष चत्वारैण द्वय प्रकरणयो सहमतमभवत् !

विज्ञान भवन में छठे दौर की वार्ता के बाद तोमर ने मीडियाकर्मियों से कहा आज की वार्ता काफी अच्छे माहौल में हुई और इसका समापन एक सकारात्मक बिंदु पर हुआ ! दोनों पक्ष चार में से दो मुद्दों पर सहमत हुए हैं !

केंद्रीय कृषिमंत्री: अकथयत् कृषकानां मान्यनमस्ति तत विद्युत विधेयके यदि संशोधनं अक्रियते तर्हि तेन क्षतिम् उत्थाष्यते ! कृषक संघ इच्छन्ति तत सिंचनाय राज्य सरकाराणि प्रत्येन कृषकानि दायकः सब्सिडी इति निरन्तरते ! इति प्रकरणे अपि सहमतिम् भवेत् !

केंद्रीय कृषि मंत्री ने कहा किसानों का मानना है कि बिजली कानून में यदि सुधार किया जाता है तो उन्हें नुकसान उठाना पड़ेगा ! किसान संघ चाहते हैं कि सिंचाई के लिए राज्य सरकारों की तरफ से किसानों को दी जाने वाली सब्सिडी जारी रहे ! इस मसले पर भी सहमति बनी है !

तत्रैव अद्यस्य वार्तायाः अनन्तरं क्रांतिकारी कृषक समूहस्य अध्यक्ष दर्शन पाल: अकथयत् त्रय कृषि विधेयकेषु अद्यापि गतिरोधमवर्तते ! वयं न्यूनतम समर्थन मूल्ये सहमतियाम् न प्राप्तमशक्नुते !

वहीं आज की वार्ता के बाद क्रांतिकारी किसान यूनियन के अध्यक्ष दर्शन पाल ने कहा तीन कृषि कानूनों पर अभी भी गतिरोध बना हुआ है ! हम न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) पर सहमति पर नहीं पहुंच सके !

पराली इति दग्धस्य प्रकरणे सरकारः कृषकानि इत्यात् बाह्य धृते तत्परमभव्यते ! विद्युतस्य प्रकरणे सरकारः पावर बिल २०२० इति प्रत्यागृहणाय तत्परमभव्यते !

पराली जलाने के मसले पर सरकार किसानों को इससे बाहर रखने पर तैयार हो गई है ! बिजली के मुद्दे पर सरकार पावर बिल 2020 वापस लेने के लिए तैयार हुई है !

सूत्राणां कथनमस्ति तत सभायाः कालम् सरकारः कृषक संघभिः अकथयत् तत सः त्रय नव कृषिविधेयकानि न प्रत्यागृहष्यते ! मंत्रिण: एमएसपी इत्ये स्व प्रस्तावम् कथ्यमानः इत्ये लिखिते आश्वासन दास्य वार्तामकथयन् !

सूत्रों का कहना है कि बैठक के दौरान सरकार ने किसान संघों से कहा कि वह तीन नए कृषि कानूनों को वापस नहीं लेगी ! मंत्रियों ने एमएसपी पर अपना प्रस्ताव दोहराते हुए इस पर लिखित में आश्वासन देने की बात कही !

तोमर: अकथयत् तत सरकारः आश्वासन दत्तवान तत एमएसपी इति निरन्तरिष्यते ! वयं लिखिते आश्वासन दत्तुम् तत्परम् सन्ति ! आल इंडिया कृषक सभा इत्यस्य अध्यक्ष बालकरन सिंह बरार: अकथयत् अद्यस्य वार्ता सकारात्मकाभव्यते !

तोमर ने कहा कि सरकार ने भरोसा दिया है कि एमएसपी जारी रहेगी ! हम लिखित में भरोसा देने के लिए तैयार हैं ! ऑल इंडिया किसान सभा (पंजाब) के अध्यक्ष बालकरन सिंह बरार ने कहा आज की बातचीत सकारात्मक हुई !

सरकारः सदैव आन्दोलनम् समापने समूहम् निर्मयस्य वार्ता कथ्यति आगतः तु वयं तस्य वार्ता न मान्येन् ! वयं कश्चित समिति इति न निर्मिष्याम: ! वयं अग्रिम् सभायां एमएसपी इत्ये चर्चाम् करिष्याम: !

सरकार हमेशा आंदोलन समाप्त करने और कमेटी बनाने की बात कहती आई है लेकिन हमने उनकी बात नहीं मानी है ! हम अपना आंदोलन वापस नहीं लेंगे ! हम कोई समिति नहीं बनाएंगे ! हम अगली बैठक में एमएसपी पर चर्चा करेंगे !

ज्ञापयतु तत कृषकस्य सर्कारस्य मध्य षष्टम चक्रस्य वार्ता ९ दिसंबर इतम् भवतः स्म,तु केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाहस्य कृषक संगठनानां च् केचन नेतृणाम् मध्य इत्यात् पूर्व अभवतनौपचारिकं वार्तायाम् कश्चित परिणाम न निस्सरे सभाम् निरस्तमक्रियते !

बता दें कि किसान और सरकार के बीच छठे दौर की वार्ता नौ दिसंबर को होने वाली थी, लेकिन केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह और किसान यूनियनों के कुछ नेताओं के बीच इससे पहले हुई अनौपचारिक बातचीत में कोई नतीजा नहीं निकलने पर बैठक रद्द कर दी गई !

शाहेन मेलनस्यानन्तरं सरकारः कृषक संगठनानि एकम् प्रस्तावम् अप्रेषयत् स्म यस्मिन् नव विधेयके सप्त-अष्ट संशोधन कृते एमएसपी इत्ये च् लिखित आश्वासन दास्य वार्तामकथ्यते स्म ! सरकारः त्रय कृषि विधेयकानि निरस्त कृतेन नैति कृतवान स्म !

शाह से मुलाकात के बाद सरकार ने किसान संगठनों को एक प्रस्ताव भेजा था जिसमें नए कानून में सात-आठ संशोधन करने और एमएसपी पर लिखित आश्वासन देने की बात कही गई थी ! सरकार ने तीनों कृषि कानूनों को निरस्त किए जाने से इनकार कर दिया था !

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here