तालिबानम् रुचितं दिल्ली डॉयलॉग, कथितं भारत महत्वपूर्णदेशम्, साधु संबंधमिच्छाति ! तालिबान को पसंद आया दिल्ली डॉयलॉग, कहा भारत अहम देश, अच्छा संबंध चाहते हैं !

0
150

अफगानिस्तानस्य स्थित्यां इंद्रप्रस्थे राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार: अजीत डोभालस्य नेतृत्वे अभवत् अष्ठ देशानां गोष्ठ्याः प्रभावं तालिबाने अभवत् ! तालिबानं भारतं इति क्षेत्रस्य एकम् बहु इव महत्वपूर्णदेशम् ज्ञापितं कथितं च् तत भारत सर्वकारेण सह साधु राजनयिक संबंधम् धृतुमिच्छति !

अफगानिस्तान के हालात पर दिल्ली में राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल की अगुवाई में हुई आठ देशों की बैठक का असर तालिबान पर हुआ है ! तालिबान ने भारत को इस क्षेत्र का एक बहुत ही महत्वपूर्ण देश बताया है और कहा है कि वह भारत सरकार के साथ अच्छे राजनयिक संबंध रखना चाहता है !

तालिबानस्य प्रवक्ता जबीउल्लाह मुजाहिद: इति वार्तायाः विश्वासम् दत्तं तत तस्य देशमिस्लामिक नित्या: अनुसरणन् स्व भूम्या: प्रयोगं कश्चित देशस्य विरुद्धम् भवितुम् न दाष्यति ! तालिबान द्वितीयै: देशै: सह पारस्परिकसहाय्यस्येच्छाम् ध्रीति !

तालिबान के प्रवक्ता जबीउल्लाह मुजाहिद ने इस बात का भरोसा दिया है कि उनका देश इस्लामिक नीति का अनुसरण करते हुए अपनी जमीन का इस्तेमाल किसी देश के खिलाफ नहीं होने देगा ! तालिबान दूसरे देशों के साथ पारस्परिक सहयोग करने की इच्छा रखता है !

सूचनानां अनुरूपम् मुजाहिद: कथित:, यद्यपि इंद्रप्रस्थे अभवत् इति गोष्ठ्यां वयं उपस्थितं नासन् पुनः अपि अस्माकं मान्यतमस्ति ततेदम् गोष्ठिम् अफगानिस्तानस्य हिते अस्ति ! गोष्ठ्यां इति क्षेत्रस्य सर्वाणि देशानि अफगानिस्तानस्य स्थित्यां मंथनम् कृतं !

रिपोर्टों के मुताबिक मुजाहिद ने कहा, हालांकि दिल्ली में हुई इस बैठक में हम उपस्थित नहीं थे फिर भी हमारा मानना है कि यह बैठक अफगानिस्तान के हित में है ! बैठक में इस क्षेत्र के सभी देशों ने अफगानिस्तान के हालात पर मंथन किया है !

गोष्ठ्यां प्रतिभागकान् देशान् अफगानिस्तानस्य सुरक्षा स्थिति दृढ़े एवं तेन संशोधये अपि ध्यानम् दानीयं ! देशान् अत्रस्य वर्तमान सर्वकारस्य सहाय्य अपि करणीयं कुत्रचित वयं स्व देशस्य सुरक्षाम् स्वयमेव कर्तुम् शक्नुतं ! तालिबान प्रवक्ता कथित: तत अफगानिस्तान स्थित्यां इंद्रप्रस्थे अभवत् गोष्ठिना तेन कश्चित पीड़ाम् नास्ति !

बैठक में हिस्सा लेने वाले देशों को अफगानिस्तान की सुरक्षा स्थिति मजबूत बनाने एवं उसे सुधारने पर भी ध्यान देना चाहिए ! देशों को यहां की मौजूदा सरकार की मदद भी करनी चाहिए ताकि हम अपने देश की सुरक्षा खुद से कर सकें ! तालिबान प्रवक्ता ने कहा कि अफगानिस्तान के हालात पर दिल्ली में हुई बैठक से उन्हें कोई समस्या नहीं है !

प्रवक्ता आशाम् व्यक्तं तत गोष्ठिना यत् वस्तूनि बाह्य निःसृतं सन्ति तस्य प्रयोगम् तै: च् प्रारंभिष्यते ! इति गोष्ठ्याः अनंतरम् भारतसर्वकारः कथित: तत सः अफगानिस्ताने मानवीय सहाय्य प्रदत्तुम् प्रतिबद्धम् अस्ति तु तत्र भूम्याम् स्थित्य: अद्यापि दुष्करं निर्मितुमभवत् !

प्रवक्ता ने उम्मीद जताई कि बैठक से जो चीजें बाहर निकली हैं उनका इस्तेमाल और उन्हें लागू किया जाएगा ! इस बैठक के बाद भारत सरकार ने कहा कि वह अफगानिस्तान में मानवीय मदद पहुंचाने के लिए प्रतिबद्ध है लेकिन वहां जमीन पर स्थितियां अभी भी दुष्कर बनी हुई हैं !

इति कारणेन निर्बाधप्राप्तं संभवं न भवितुं शक्नोति ! अफगानिस्ताने भारतम् दृढ़मार्गेण गोधूम् प्रेषितुम् इच्छति तु तत अद्यापि पकिस्तानस्याज्ञायाः प्रतीक्षाम् करोति !

इस वजह से बाधा रहित पहुंच संभव नहीं हो पा रही है ! अफगानिस्तान में भारत सड़क मार्ग से गेहूं भेजना चाहता है लेकिन वह अभी भी पाकिस्तान की मंजूरी का इंतजार कर रहा है !

इति गोष्ठ्याः अनंतरं विदेशमंत्रालयं स्वकथने कथितं, अफगानिस्तानस्य जनान् सहाय्य दत्तं गृहीत्वा भारत पूर्णस्पष्टमस्ति ! वयं वर्षभिः अफगानिस्तानस्य समर्थनम् कर्तुमागतं तु पूर्व केचन मासभिः धरायां स्थितिम् बहु काठिन्यं अभवन् !

इस बैठक के बाद विदेश मंत्रालय ने अपने बयान में कहा, अफगानिस्तान के लोगों को मदद दिए जाने को लेकर भारत बिल्कुल स्पष्ट है ! हम वर्षों से अफगानिस्तान का समर्थन करते आए हैं लेकिन पिछले कुछ महीनों से जमीन पर हालात काफी कठिन हो गए हैं !

ज्ञापयन्तु तत अफगानिस्तानस्य वर्तमान स्थितिम् विशेषतः सुरक्षाया संलग्नम् विभिन्न स्थित्यां वार्ता कर्तुम् भारतं अफगानिस्तानस्य सहवासीनां देशानां एनएसए इतस्य गोष्ठिमाहूतं !

बता दें कि अफगानिस्तान के मौजूदा हालात खासकर सुरक्षा से जुड़े विभिन्न पहलुओं पर वार्ता करने के लिए भारत ने अफगानिस्तान के पड़ोसी देशों के एनएसए की बैठक बुलाई !

इति इंद्रप्रस्थ क्षेत्रीय सुरक्षावार्तायां भारतस्य, ईरानस्य, रूसस्य, कजाखस्तानस्य, किर्गिस्तानस्य, ताजिकिस्तानस्य, तुर्कमेनिस्तानस्य उज्बेकिस्तानस्य च् एनएसए सम्मिलिता: ! भारतं चिनस्य पाकिस्तानस्य च् एनएसए इतमपि निमंत्रणम् प्रेषितानि स्म तु तानि इति गोष्ठ्यां आगमनै: निषेधितानि !

इस दिल्ली क्षेत्रीय सुरक्षा वार्ता में भारत, ईरान, रूस, कजाखस्तान, किर्गिस्तान, ताजिकिस्तान, तुर्कमेनिस्तान और उज्बेकिस्तान के एनएसए शामिल हुए ! भारत ने चीन और पाकिस्तान के एनएसए को भी न्योता भेजा था लेकिन उन्होंने इस बैठक में आने से इंकार कर दिया !

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here