24.1 C
New Delhi

ज्ञायन्तु किमस्ति मणिपुरघातं कर्तातंकी संगठनम् ? चिनेणापि सततं लब्धति सहाय्य ! जानिए कौन है मणिपुर हमले को अंजाम देने वाला आतंकी संगठन ? चीन से भी लगातार मिलती है मदद !

Date:

Share post:

मणिपुरे शनिवासरम् आतंकिनां घातम् कृत्वा कृतं घाते कमांडिंग अधिकारी कर्नल विप्लव त्रिपाठिना सह अर्धसैन्य बलानां चत्वारः सैनिका: हुतात्मा: अभवन् ! इति कापूर्णघाते कर्नल इतस्य भार्या बालस्य चपि निधनम् अभवताम् !

मणिपुर में शनिवार को उग्रवादियों के घात लगाकर किए गए हमले में कमांडिंग ऑफिसर कर्नल विप्लव त्रिपाठी समेत अर्धसैन्य बलों के चार सैनिक शहीद हो गए ! इस कायराना हमले में कर्नल की पत्नी और बच्चे की भी मौत हो गई !

घातस्यानंतरं सैन्यं घातकर्तानां अन्वेषणाय प्रचालनं चालितं, कुत्रचित प्रतिशोधम् कर्तुम् शक्नुत: ! गृह मंत्री अमित शाह: अपि कथित: तत शौर्यवान सैनिकानां बलिदानम् व्यर्थं न गमिष्यते ! घातस्य जिम्मेवारिम् पीएलए मणिपुर मणिपुर नागा पीपल्स फ्रंट च् नीते !

हमले के बाद सेना ने हमलावरों को ढूंढ निकालने के लिए ऑपरेशन चलाया है, ताकि हिसाब बराबर किया जा सके ! गृहमंत्री अमित शाह ने भी कहा है कि बहादुर सैनिकों का बलिदान व्‍यर्थ नहीं जाएगा ! हमले की जिम्‍मेदारी PLA मणिपुर और मणिपुर नागा पीपल्‍स फ्रंट ने ली है !

इदम् घातम् तत काळम् कृतवन्तः यदा ४६ असम राइफल इतस्य कमांडिंग अधिकारी विप्लव त्रिपाठी एकम् क्षेत्रम् भ्रमणकृत्वा स्वसमूहै: सह पुनरागच्छति तदा आतंकिन: प्रथम आईईडी इति विस्फोटितं तस्य अनंतरम् सततं गुलिका: घातम् कृतवान !

यह हमला उस समय किया गया जब 46 असम राइफल के कमांडिंग ऑफि‍सर विप्‍लव त्रिपाठी एक पोस्‍ट को विजिट करके अपने काफि‍ले के साथ लौट रहे थे तभी उग्रवादियों ने पहले IED ब्‍लास्‍ट किया और उसके बाद ताबड़तोड़ गोलियां चलाईं !

येन स्थाने घातं कृत्वा घातम् कृतवन्तः तः मणिपुरस्य चुराचांदपुर जनपदस्य सिंघटम् निकषास्ति ! भवतः ज्ञापयन्तु ततेदम् क्षेत्रम् म्यांमार सीमाया बहु द्रुतम् नास्ति अतएव सीमायां निरीक्षणमति बर्धितानि !

जिस जगह पर घात लगाकर हमला किया गया वो मणिपुर के चुराचांदपुर जिले के सिंघट के करीब है ! आपको बता दें कि ये इलाका म्‍यांमार बॉर्डर से बहुत दूर नहीं है इसलिए बॉर्डर पर निगरानी और बढ़ा दी गई है !

इति कापूर्णम् घातस्य जिम्मेवारिम् पीएलए मणिपुर मणिपुर नागा पीपल्स फ्रंट च् नीते ! आतंकिन् ज्ञातम् आसीत् तत वाहने कर्नल इतस्य भार्या पुत्र चपि स्त: तु यस्योपरांत ते घातम् कृतवन्तः !

इस कायराना हमले की जिम्‍मेदारी पीएलए मणिपुर और मणिपुर नागा पीपल्‍स फ्रंट ने ली है ! उग्रवादियों को पता था कि गाड़ी में कर्नल की पत्‍नी और बेटा भी है लेकिन इसके बावजूद उन्‍होंने हमले को अंजाम दिया !

मणिपुरेण संलग्नं म्यांमार सीमायामातंकिनां चिनस्य शक्तिम् लब्धति भारतस्य च् सैन्यम् स्वहुतात्मानां बलिदानस्य प्रतिशोधमवश्यमेव नीष्यते ! येनातंकि संगठनम् पीएलए इति मणिपुर घातस्य जिम्मेवारिम् नीतं, तं प्रत्ये अपि भवतः ज्ञापयन्ति !

मणिपुर से लगे म्‍यांमार बॉर्डर पर उग्रवादियों की चीन की शह मिलती रही है और भारत की सेना अपने शहीदों के बलिदान का हिसाब जरूर लेगी ! जिस उग्रवादी संगठन PLA ने मणिपुर हमले की जिम्मेदारी ली है, उसके बारे में भी आपको बताते हैं !

पीएलए इतस्य गठनम् १९७८ तमे अभवत् स्म, यत् भयावह आतंकिसंगठनेषु तः एकमस्ति ! पीएलए इत्ये च् चिनी अस्त्राणां प्रयोगस्यारोपमपि अस्ति उत्तरदक्षिणयो च् हिंसा प्रसारम् यस्येच्छामस्ति !

PLA का गठन 1978 में हुआ था, जो खतरनाक आतंकी संगठनों में से एक है और चीन से इस आतंकी संगठन को मदद मिलती है ! PLA पर चीनी हथियारों के इस्तेमाल का आरोप भी है और नॉर्थ-ईस्ट में हिंसा फैलाना इनका मकसद है !

प्रथममपि बहु घातेषु यस्य नामागतवन्तः यस्यानंतरं इति संगठने केंद्रसर्वकारः प्रतिबंधं कृतः ! २०१८ तमे पीएलए इत्ये प्रतिबंधम् ५ वर्षाणि बर्धितानि !रिवोल्यूशनरी पीपुल्स फ्रंट यस्य राजनीतिक समूहम् अस्ति यस्मिन् चपि केंद्र सर्वकारः प्रतिबंधम् धृतुम् अभवत् !

पहले भी कई हमलों में इसका नाम आ चुका है जिसके बाद इस संगठन पर केंद्र सरकार ने बैन लगाया हुआ है ! 2018 में PLA पर बैन 5 साल बढ़ाया गया ! रिवोल्यूशनरी पीपुल्स फ्रंट इसका राजनीतिक विंग है और इस पर भी केंद्र सरकार ने बैन लगा रखा हुआ है !

इति घाते आहता: सैनिकानां स्थितिज्ञाने इम्फालस्य शिजा चिकित्सालयम् प्राप्त: मणिपुरस्य मुख्यमंत्री एन वीरेन सिंह: ज्ञापित: तत वृहद रूपे अन्वेषण प्रचालनम् चालयति घातकर्तानां न मोचिष्यते !

इस हमले में घायल सैनिकों का हाल जानने इम्‍फाल के शिजा अस्‍पताल पहुंचे मणिपुर के मुख्‍यमंत्री एन वीरेन सिंह ने बताया कि बड़े पैमाने पर सर्च ऑपरेशन चलाया जा रहा है और हमलावरों को छोड़ा नहीं जाएगा !

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

spot_img

Related articles

काङ्ग्रेस्-सर्वकारे हनुमान्-चालीसा इति अपराधः, शत्रवः अस्माकं जवानानां शिरः छेदयन्ति स्म-प्रधानमन्त्री नरेन्द्र मोदी ! कांग्रेस सरकार में हनुमान चालीसा अपराध, दुश्मन काट कर ले जाते...

प्रधानमन्त्रिणा नरेन्द्रमोदिना मङ्गलवासरे (एप्रिल् २३,२०२४) राजस्थानस्य टोङ्क् तथा सवाई माधोपुर् इत्यत्र विशालां जनसभां सम्बोधयत्। अयं प्रदेशः पूर्व-उपमुख्यमन्त्रिणः तथा...

1.5 वर्षाणि यावत् बलात्कृतः, गर्भम् अपि पातितः, लक्की इति भूत्वा मेलयत् स्म शावेज अली ! 1.5 साल तक बलात्कार किया, गर्भ भी गिरवाया, लक्की...

उत्तराखण्ड्-राज्यस्य राजधानी डेहराडून् नगरात् लव्-जिहाद् इत्यस्य नूतनः प्रकरणः प्रकाश्यते। अत्र चावेज़् अली नामकः प्रेमजालस्य माध्यमेन तस्याः नाम परिवर्त्य...

नेहा उपरि ३० सेकेण्ड्-मध्ये १४ प्रावश्यं प्रहारिता, कण्ठस्य शिराः अकर्तयत् ! नेहा पर 30 सेकेंड में 14 बार चाकू से वार, काट डाली गले...

कर्णाटकस्य हुब्ली-नगरे फयाज इत्यनेन नेहा हीरेमठ्-इत्यस्याः छुरिकाघातेन अहनत् ! नेहा प्रकाश्यदिवसे क्रूरतया मारिता आसीत्! अधुना अस्मिन् प्रकरणे नेहा-वर्यस्य...

कांग्रेसस्य दृष्टि भ्रष्टाचारे-पीएम नरेंद्र मोदिन् ! कांग्रेस का ध्यान भ्रष्टाचार पर-पीएम नरेंद्र मोदी !

प्रधानमन्त्री नरेन्द्रमोदी कर्णाटकस्य बेङ्गळूरुनगरे जनसभां सम्बोधयति ! नादप्रभु केम्पेगौडा वर्यः बेङ्गलूरुनगरं महत् नगरं कर्तुं स्वप्नम् अपश्यत्, परन्तु काङ्ग्रेस्-सर्वकारः...