तेलंगानायां असमस्य मुख्यमंत्री हिमंता बिस्वा सरमा बदित: इंदिरा यथैव प्रजापीड़कम् भारतीयाः समुद्रे अक्षिपन् ! तेलंगाना में असम के मुख्यमंत्री हिमंता बिस्वा सरमा बोले इंदिरा जैसी तानाशाह को भारतीयों ने समुद्र में फेंक दिया !

0
197

भाजपायाः वरिष्ठ नेता असमस्य मुख्यमंत्री च् हिमंता बिस्वा सरमा रविवासरम् तेलंगानायां सत्तासीनम् तेलंगाना राष्ट्र समित्या: सर्वकारे बहुलक्ष्यम् लक्षित: ! वारंगले एकं जनसभाम् संबोध्यन् सः भाग्यनगरतः सांसद असदुद्दीन ओवैसिम् कांग्रेसम् चपि लक्ष्ये नीत: !

भाजपा के कद्दावर नेता और असम के मुख्यमंत्री हिमंता बिस्वा सरमा ने रविवार को तेलंगाना में सत्तासीन तेलंगाना राष्ट्र समिति की सरकार पर जमकर निशाना साधा ! वारंगल में एक जनसभा को संबोधित करते हुए उन्होंने हैदराबाद से सांसद असदुद्दीन ओवैसी और कांग्रेस को भी निशाने पर लिया !

सरमा प्रजापीड़के भाषणम् दत्तन् कथित: तत भारतवासिण: इंदिरा गांधी यथैव प्रजापीड़कं समुद्रे अक्षिपन् स्म ! तेलंगानावासिण: अपि ज्ञायन्ति तत तै: कं समुद्रे क्षिपनमस्ति ! असम सीएम देशस्य पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांध्या: कारणं राज्यस्य टीआरएस सर्वकारे लक्ष्यम् लक्षित: !

सरमा ने तानाशाही पर भाषण देते हुए कहा कि भारतवासियों ने इंदिरा गांधी जैसी तानाशाह को समुद्र में फेंक दिया था ! तेलंगानावासी भी जानते हैं कि उन्हें किसको समुद्र में फेंकना है ! असम सीएम ने देश की पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी के बहाने राज्य की टीआरएस सरकार पर निशाना साधा !

सः कथित: अन्यायेण सह रणितुं रमन्तु ! अन्यायेण सह वयं कश्चित अंगीकारः न करिष्यामः ! अस्माकं कार्यकर्ता: तत्परं भूत्वा रमन्तु ! सः तेलंगानायाः सीएम के चंद्रशेखर रावं परिबंध्यन् कथित: यदापि कश्चित प्रजापीड़क: प्रधानमंत्री मुख्यमंत्री वा भवति !

उन्होंने कहा अन्याय के साथ लड़ते रहिए ! अन्याय के साथ हम कोई समझौता नहीं करेंगे ! हमारे कार्यकर्ता तैयार हो कर रहिए ! उन्होंने तेलंगाना के सीएम के चंद्रशेखर राव को घेरते हुए कहा जब भी कोई तानाशाह प्रधानमंत्री या मुख्यमंत्री होता है !

देशे आपातकालयथा केचन भवति ! पीड़ाम् भविष्यति, भवतः परिश्रमस्य कर्तुम् भविष्यन्ति ! तु पीड़ायाः परिश्रमस्य च् परिणाम सदैव मधुरं भवति ! तत पीड़ाम् यत् च् तः अस्मासु घातम् करिष्यति अस्यैवतः नव तेलांगना निर्मिष्यति ! अतएव भवतः न भीतमस्ति ! भवतः रणम् कृतमस्ति !

देश में आपातकाल जैसा कुछ होता है ! कष्ट होगा, आप लोग को परिश्रम करना होगा ! लेकिन कष्ट और परिश्रम का फल हमेशा मीठा होता है ! वो कष्ट और जो वो हम पर हमला करेंगे इसी से नया तेलंगाना बनेगा ! इसलिए आपको डरना नहीं है। आप लोगों को संग्राम करना है !

भवतः स्वकार्ये दृढ़ेच्छायां च् पूर्णतत्परतायाः स्थितम् रमितमस्ति ! सरमा कथित: इंदिरा गांधी यथा प्रजापीड़कमपि भारतवासिण: समुद्रे अक्षिपन् स्म ! अत्रे तर्हि समुद्रमप्यास्ति ! कं क्षिपतमस्ति तेलांगना वासिण: साधुप्रकारेण ज्ञायन्ति ! अतएवात्र प्रजापीड़कैव न चरिष्यति !

आप लोगों को अपने काम और मकसद में डट कर खड़े रहना है ! सरमा ने कहा इंदिरा गांधी जैसे तानाशाह को भी भारतवासियों ने समुद्र में फेंक दिया था ! यहां में तो समुद्र भी है ! किस को फेंकना है तेलंगानावासी अच्छी तरह से जानते हैं ! इसलिए यहां तानाशाही नहीं चलेगी !

भारतस्य मृदायां प्रजापीड़कैव पूर्वमपि न चरितं स्म अग्रमपि च् न चरिष्यति ! सरमा राज्ये भाजपायाः पादस्थापनम् गृहीत्वा कथनम् दत्त: ! सः कथित: भारतं कश्चितावरोधक: नास्ति ! यथा आर्टिकल ३७० संपादितं ! यथा राममंदिर निर्माणस्य कार्यम् आरंभितं !

भारत की मिट्टी में तानाशाही पहले भी नहीं चली थी और आगे भी नहीं चलेगी ! सरमा ने राज्य में भाजपा के पैर जमाने को लेकर बयान दिया ! उन्होंने कहा भारत को कोई रोकने वाला नहीं है ! जैसे आर्टिकल 370 खत्म हो गया ! जैसे राम मंदिर बनने का काम शुरू हो गया !

अत्रात् अपि निजामस्य नाम चिह्नम् च् लुप्यष्यते ! ओवैसिण: नाम चिह्नम् लुप्यष्यते ! तत दिवसं बहु द्रुतम् नास्ति ! भारतं सम्प्रति जागृतं ! भारतं कश्चित अप्रमाणिक धर्मनिरपेक्षं सांप्रदायिकं वा राजनीति कर्तान् मान्यिष्यति !

यहां से भी निजाम का नाम और निशान मिट जाएगा ! ओवैसी का नाम और निशान मिट जाएगा ! वो दिन ज्यादा दूर नहीं है ! भारत अब जाग चुका है ! भारत किसी फर्जी धर्मनिरपेक्ष या सांप्रदायिक राजनीति करने वालों को नहीं मानेगा !

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here