पीएफआई कथित: तत हिंदुत्व घातस्याखेट: यै: च् देहली आरक्षकः अवरुद्धा: तै: विधिक सहाय्य प्रदाष्यति ! पीएफआई ने कहा कि हिंदुत्व हमले के शिकार और जिन्हें दिल्ली पुलिस ने फंसाया उन्हें कानूनी सहायता प्रदान करेंगे !

0
103

पीएफआई देहल्या: जहांगीरपुर्यामभवत् हिंसायाः आरोपिन् विधिक सहाय्य प्रदाष्यति ! पीएफआई जनै: शांतिम् निर्मितस्य प्रार्थनां कृतमस्ति ! यस्य अतिरिक्तं सर्वोच्च न्यायालयस्य सेवानिवृत्त न्यायाधीशस्य नेतृत्वे उत्पातानां निष्पक्षान्वेषणस्य याचना कृतमस्ति !

पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया (PFI) दिल्ली के जहांगीरपुरी में हुई हिंसा के आरोपियों को कानूनी सहायता मुहैया कराएगी ! पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया ने लोगों से शांति बनाए रखने की अपील की है ! इसके अलावा सुप्रीम कोर्ट के सेवानिवृत्त न्यायाधीश के नेतृत्व में दंगों की निष्पक्ष जांच की मांग की है !

पीएफआई उत्पातै: प्रभावित जनेभ्यः पूर्णार्थदंडस्य याचना कृतमस्ति ! पीएफआई तान् निर्दोष जनान् विधिकसहाय्य सांत्वना च् प्रदाष्यति याः हिंदुत्व घातस्याखेट: सन्ति यै: च् देहली आरक्षकै: असाधु रूपेणावरुद्धा: !

पॉपुलर फ्रंट ने दंगों से प्रभावित लोगों के लिए पर्याप्त मुआवजे की मांग की है ! पीएफआई उन निर्दोष लोगों को कानूनी सहायता और राहत प्रदान करेगा जो हिंदुत्व हमले के शिकार हैं और जिन्हें दिल्ली पुलिस द्वारा गलत तरीके से फंसाया गया है !

पीएफआई देहल्या: प्रदेशाध्यक्ष: परवेज अहमद: एके कथने कथित: हनुमान जयंती शोभा यात्रायाः काळम् देहल्या: जहांगीरपुर्याम् मुस्लिम विरोधिन् हिंसाम् गुजराते, झारखंडे, कर्नाटके, मध्यप्रदेशे, राजस्थाने, बिहारे, गोवायां पश्चिमबंगे च् रामनवम्या: यात्राणां काळम् मुस्लिमेषु घातस्य निरंतरतायाः रूपे माननीयं !

पीएफआई दिल्ली के प्रदेश अध्यक्ष परवेज अहमद ने एक बयान में कहा कि हनुमान जयंती जुलूस के दौरान दिल्ली के जहांगीरपुरी में मुस्लिम विरोधी हिंसा को गुजरात, झारखंड, कर्नाटक, मध्यप्रदेश, राजस्थान, बिहार, गोवा और पश्चिम बंगाल में रामनवमी की रैलियों के दौरान मुसलमानों पर हमले की निरंतरता के रूप में माना जाना चाहिए !

सः कथित: तत हिंसायाः एतेषु घटनासु एकं यथा अस्ति प्रत्येकस्थानम् च् प्रयुज्यकानि कार्यप्रणालिम् सममासीत्, यथा मुस्लिम बहुल क्षेत्रेषु यात्राम् कृतं, आपत्तिपूर्ण उद्घोषानां गीतानां च् प्रयुज्यं जनान् च् हिंसायै उद्दतं !

उन्होंने कहा कि हिंसा की इन घटनाओं में एक पैटर्न है और हर जगह अपनाई जाने वाली कार्यप्रणाली समान थी, जैसे मुस्लिम बहुल इलाकों में रैलियां करना, आपत्तिजनक नारों और गानों का इस्तेमाल करना और लोगों को हिंसा के लिए उकसाना !

परवेज अहमद: कथित: तत यत्र देशे शतानि विभिन्न प्रकारस्य धार्मिकायोजनमुत्सवम् च् नियमितरूपेण शांतिपूर्वकमायोज्यते, तत्रैवेदम् वार्तायाः प्रमाणम् सन्ति तत संघ कुटुंबेण धार्मिकायोजनान् हिंसककर्तुं दृढ़प्रयासम् कुर्वते !

परवेज अहमद ने कहा कि जहां देश में सैकड़ों विभिन्न प्रकार के धार्मिक आयोजन और त्यौहार नियमित रूप से शांतिपूर्वक आयोजित किए जाते हैं, वहीं ये इस बात का प्रमाण हैं कि संघ परिवार द्वारा धार्मिक आयोजनों को हिंसक बनाने के लिए ठोस प्रयास किए जा रहे हैं !

इदम् हिंसा अतिदुःखपूर्णमस्ति कुत्रचित् हिंदुत्वेण उत्तर-पूर्वी देहल्यां मुस्लिमविरोधिन् जनसंहारकृतन् केवलं द्वयवर्षमेवाभवन् इदम् च् दुःखदस्मृतिम् पुनः आनयति यस्मिन् निधनानां, घातानां आजीविकायाः च् क्षतिम् भवति !

यह हिंसा अत्यंत खेदजनक है क्योंकि हिंदुत्व द्वारा उत्तर-पूर्वी दिल्ली में मुस्लिम-विरोधी जनसंहार किए हुए केवल दो साल ही हुए हैं और यह दुखद यादों को वापस लाता है जिसमें मौतें, चोटें और आजीविका का नुकसान होता है !

राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघस्य भाजपायाः च् नेतारः यथा कपिल मिश्र रागिनी तिवारी च् २०२० तमस्य उत्तर पूर्वी देहली उत्पातेषु एकः प्रमुखभूमिका निर्वहिते स्म जहाँगीरपुरी हिंसायाः पश्चस्य कुचक्रेषु तयो संलिप्ततात्यधिकं संदिग्धमस्ति !

आरएसएस और बीजेपी के नेताओं जैसे कपिल मिश्र और रागिनी तिवारी ने 2020 के उत्तर पूर्वी दिल्ली दंगों में एक प्रमुख भूमिका निभाई थी और जहांगीरपुरी हिंसा के पीछे की साजिशों में उनकी संलिप्तता अत्यधिक संदिग्ध है !

सः देहली आरक्षकस्य पूर्णरूपेण एकपक्षीयेण राजनित्या च् प्रेरितं कार्यवाहिन् गृहीत्वापि प्रश्नम् उत्थित: ! सः अपृच्छत् तत जहांगीरपुर्या: चलचित्रेण चित्रै: च् स्पष्टम् ज्ञातम् भवति तत हनुमान जयंत्या: सम्मर्द: स्वेण सह खड्ग, कुंता: पिस्तौल च् आनीत: स्म !

उन्होंने दिल्ली पुलिस की पूरी तरह एकतरफा और राजनीति से प्रेरित कार्रवाइयों को लेकर भी सवाल उठाए ! उन्होंने पूछा कि जहांगीरपुरी के वीडियो और तस्वीरों से साफ पता चलता है कि हनुमान जयंती के जुलूस अपने साथ तलवार, भाले और पिस्तौल लाए थे !

तु इदृश: किमस्ति तत उत्पातोद्दतस्यारोपे केवलं मुस्लिमान् बंधनम् क्रियते ? परवेज अहमद: देहल्या: मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवालमपि न्यायपीठे स्थित: !

लेकिन ऐसा क्यों है कि दंगे भड़काने के आरोप में केवल मुसलमानों को गिरफ्तार किया जा रहा है ? परवेज अहमद ने दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को भी कटघरे में खड़ा किया !

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here