जेएनयू इति परिक्षेत्रम् परितः स्थापितानि भगवा प्ररोचकानि ध्वजानि च्, हिंदूसेना भगवा प्ररोचकम् अपि स्थापितं ! जेएनयू कैंपस के चारों तरफ लगाए गए भगवा पोस्टर और झंडे, हिन्दू सेना ने भगवा बैनर भी चिपकाए !

0
123

नवदेहल्या: जेएनयूपरिक्षेत्रम् एकदा पुनः वार्तासु अस्ति ! परिक्षेत्रम् परितः भगवा प्ररोचकं स्थापितानि सन्ति ! वर्तमाने मांसाहारम् गृहीत्वाभवन् कलहस्य अनंतरमधुना हिंदू सैन्यस्य कार्यकर्ता: जेएनयू इत्या: बाह्य भगवा जेएनयू इत्यालिखत् प्ररोचकं स्थापितानि परिक्षेत्रस्य च् द्वारे भगवा ध्वजानि अपि स्थापितानि !

नई दिल्ली के जेएनयू कैंपस एक बार फिर सुर्खियों में है ! कैंपस के चारों तरफ भगवा पोस्टर लगाए गए हैं ! हाल में नॉनवेज को लेकर हुए बवाल के बाद अब हिंदू सेना के कार्यकर्ताओं ने जेएनयू के बाहर भगवा जेएनयू लिखे बैनर चिपकाए और कैंपस के गेट पर भगवा झंडे भी लगाए !

इमानि प्ररोचकानीदृशे काले स्थापितानि यदैव वर्तमाने जेएनयू परिक्षेत्रे मांसाहारम् गृहीत्वा बहु कलहमभवत् स्म द्वयो: छात्रयो: दलयो हिंसक समाघातमभवत् स्म ! इति संबंधे देहली आरक्षकस्य कथनमस्ति तत शुक्रवासरस्य प्रातः जेएनयू परिक्षेत्रं निकषा वीथिषु केचन ध्वजानि स्थापितानि दृष्टिम् आगतानि !

ये पोस्टर ऐसे समय में लगाए गए हैं जब हाल ही में जेएनयू कैंपस में नॉनवेज को लेकर जमकर बवाल हुआ था और दो छात्र गुटों में हिंसक झड़प हुई थी ! इस संबंध में दिल्ली पुलिस का कहना है कि शुक्रवार की सुबह जेएनयू कैंपस के करीब वाली सड़कों पर कुछ झंडे लगे हुए नजर आए !

वर्तमानस्य घटनाम् दर्शन् तानि ध्वजान् निर्वर्तितानि उचितवैधानिकं च् कार्यवाहिम् क्रियते ! हिंदू सैन्यस्य राष्ट्रीयोपाध्यक्ष सुजीत यादव: कथित: तत येन प्रकारेण जेएनयू इत्यां भगवायाः अपमानम् क्रियते तेन स्वीकारम् न करिष्यति ! सः कथित: तत तेषां जनानां कश्चित पंथेण धर्मेण वा शत्रुता नास्ति !

हाल की घटनाओं को देखते हुए उन झंडों को हटा दिया गया है और उचित वैधानिक कार्रवाई की जा रही है ! हिंदू सेना के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष सुजीत यादव ने कहा कि जिस तरह से जेएनयू में भगवा का अपमान किया जाता रहा है उसे सहन नहीं करेंगे ! उन्होंने कहा कि उन लोगों का किसी पंथ या मजहब से बैर नहीं है !

तु यदि भगवामपमानितस्य क्रम चरितुं रमिष्यति तर्हि सः कश्चितापि पगम् उत्थितुं शक्नोति ! मीडिया तः वार्ताकृतन् हिंदूसैन्यस्य अध्यक्ष: विष्णु गुप्ता कथित:, ध्वजेण कश्चितं आपत्तिम् न भवनीयं !

लेकिन अगर भगवा को अपमानित करने का सिलसिला जारी रहेगा तो वो किसी भी कदम को उठा सकते हैं ! मीडिया से बात करते हुए हिंदू सेना के अध्यक्ष विष्णु गुप्ता ने कहा, झंडा से किसी को आपत्ति नहीं होनी चाहिए !

भगवाधारिषु येन प्रकारेण घातं क्रियन्ते तत निंदनीयं सन्ति ! भगवाध्वजेण कश्चितं कापत्तिमस्ति ! यान् जनान् परिक्षेत्रे भगवा ध्वजम् स्थापने आपत्तिमस्ति तै: तर्हि सर्वोच्चन्यायालयस्य निर्णयेषु अपि आपत्तिं भवति ! हिंदू धर्म कश्चित धर्म नापितु इतम् जीवन जीवस्य शैलिम्, इति वार्ताम् तर्हि सर्वोच्च न्यायालय: अपि कथितं !

भगवाधारियों पर जिस तरह से हमले किए जा रहे हैं वो निंदनीय है ! भगवा झंडा से किसी को क्या आपत्ति है ! जिन लोगों को कैंपस में भगवा झंडा लगाने पर आपत्ति है उन्हें तो सुप्रीम कोर्ट के फैसलों पर भी आपत्ति होती है ! हिंदू धर्म कोई धर्म नहीं बल्कि यह जीवन जीने की शैली, इस बात को तो सुप्रीम कोर्ट भी कह चुका है !

रविवासरम् जेएनयू इत्या: कावेरी छात्रावासे छात्राणां द्वयो: दलयो: मध्यसमाघातस्यानंतरं तीक्ष्ण वार्तालापं पुनः च् द्वंदयुद्धमभवत् स्म ! हिंसायाः इति प्रकरणे जेएनयू इत्या: १५ छात्रा: आहत: अभवन् ! वस्तुतः इदम् घटनाम् रामनवम्या: दिवसं शाकाहारी एवं मांसाहारी भोजनस्य कलहेणारंभितं !

रविवार को जेएनयू के कावेरी हॉस्टल में छात्रों के दो समूहों के बीच कहासुनी के बाद तीखी नोकझोंक और फिर मारपीट हुई थी ! हिंसा की इस वारदात में जेएनयू के 15 छात्र जख्मी हुए हैं ! दरअसल यह घटना रामनवमी के दिन शाकाहारी एवं मांसाहारी भोजन के विवाद से शुरू हुई !

छात्राणां एकंदळं छात्रावासस्य भोजन अनुक्रमणिकायां मांसाहारी भोजनम् परिवेषयस्य पक्षे आसीत् ! तत्रैव द्वितीय दळम् वांछति स्म तत छात्रावासे सर्वानां छात्राणां केवलं शाकाहारी भोजनं इव परिवेषितं !

छात्रों का एक समूह हॉस्टल के मैन्यू में मांसाहारी भोजन परोसे जाने के पक्ष में था ! वहीं दूसरा समूह चाहता था कि हॉस्टल में सभी छात्रों को केवल शाकाहारी भोजन ही परोसा जाए !

जेएनयू इत्या: कुलपति कथित: तत कश्चितापि समाघातेण रक्षितुं छात्रावासरक्षिका तत्क्षण पगम् उत्थायतु ! सुरक्षाकर्मिन् अपि इति प्रकारस्य घटना: अवरोधनाय सतर्करमस्य जेएनयू प्रशासनम् च् त्वरित सूचनापत्रम् प्रदत्तस्य निर्देशम् दत्तवान !

जेएनयू के कुलपति ने कहा है कि किसी भी टकराव से बचने के लिए वार्डन तत्काल कदम उठाएं ! सुरक्षाकर्मियों को भी इस तरह की घटनाओं को रोकने के लिए सतर्क रहने और जेएनयू प्रशासन को तुरंत रिपोर्ट सौंपने का निर्देश दिया गया है !

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here