इंद्रप्रस्थारक्षकायुक्तस्य बहु विशेषमस्ति संदेश: ! दिल्ली पुलिस कमिश्नर का बहुत खास है संदेश !

0
387

२६ जनवरी इतम् देश गणतंत्र दिवस मान्यति स्म राजपथे च् भारतीय शौर्यस्य साक्षी विश्वम् निर्मयति स्म ! तु तैव कालम् राजपथात् केवलं केचन किमी इति उपद्रवस्य क्रीड़ा क्रीडते स्म !

26 जनवरी को देश गणतंत्र दिवस मना रहा था और राजपथ पर भारतीय शौर्य की साक्षी दुनिया बन रही थी ! लेकिन उसी दौरान राजपथ से महज कुछ किमी दूर उत्पात का खेल खेला जा रहा था !

कृषि विधेयकानां विरुद्धम् कृषकदला: हलयंत्रम् यात्रायाः उद्घोषयता: स्म ! तु इन्द्रप्रस्थ आरक्षकस्यानुरूपम् ताः स्व शपथपत्रेणापज्ञा: ! हलयंत्रयात्रायाः नामे आईटीओ इत्येन लालकिलाया च् यत् चित्राणि सम्मुखमागत: ताः प्रत्येकम् त्रपितकर्तासन् !

कृषि कानूनों के खिलाफ किसान संगठनों ने ट्रैक्टर परेड का ऐलान किया था ! लेकिन दिल्ली पुलिस के मुताबिक वो अपने शपथ पत्र से मुकर गए ! ट्रैक्टर परेड के नाम पर आईटीओ और लालकिले से जो तस्वीरें सामने आईं वो हर किसी को शर्मसार करने वाली थी !

आईटीओ इत्ये लालकिले चराजकतायाः स्थितिम् आसीत् ! उन्मादिन् हलयंत्रचालकाः इदृशस्य व्यवहृताः ताः बहु प्रश्नम् उत्थायति तत का ताः कृषका: आसन् !

आईटीओ और लालकिले में अराजकता का आलम था ! उन्मादी ट्रैक्टर चालकों ने जिस तरह का व्यवहार किया वो कई सवाल खड़े करता है कि क्या वो किसान थे !

उत्पातिभिः निवृत्तस्य क्रमे इंद्रप्रस्थारक्षकस्य लगभगम् ३९४ जनाः आहत: सन्ति ! गृहमंत्री अमित शाह: केचन चिकित्सालयेषु गत: आहतानां स्वास्थ्यप्रति पृच्छत: !

उत्पातियों से निपटने के क्रम में दिल्ली पुलिस के करीब 394 लोग घायल हैं ! गृहमंत्री अमित शाह कुछ अस्पतालों में गए और घायलों का हालचाल पूछा !

एत सर्वानां मध्य इंद्रप्रस्थारक्षकायुक्त: महत्वपूर्ण सभायाः अनंतरम् स्व सहयोगिन् पत्रम् लिखित्वा कथितः तत येन प्रकारेण भवन्तः अत्यधिक संयमस्य परिचयम् दत्तानि तानि प्रशंसनीयास्ति ! तु केचन दिवसं आह्वानै: परिपूर्णम् भविष्यन्ति !

इन सबके बीच दिल्ली पुलिस कमिश्नर ने अहम बैठक के बाद अपने मातहतों को खत लिखकर कहा कि जिस तरह से आप लोगों ने अत्यधिक संयम का परिचय दिया वो काबिलेतारीफ है ! लेकिन कुछ दिन चुनौती से भरे होंगे !

२६ जनवरी इतम् कृषकान्दोलनस्य हिंसक भवे अपि भवन्तः अत्यंत संयमस्य बुद्धिमत्तायाः च् परिचयम् दत्तानि ! अस्माकं पार्श्व शक्ति प्रयोगस्य विकल्पम् उपस्थितः स्म !

26 जनवरी को किसान आंदोलन के हिंसक हो जाने पर भी आपने अत्यंत संयम और सूझबूझ का परिचय दिया है ! हम लोगों के पास बल प्रयोग का विकल्प मौजूद था !

तु वयं बुद्धिमत्तायाः परिचयम् दत्ता: ! भवताम् इति आचरणेन इंद्रप्रस्थ आरक्षकः इति आह्वान पूर्णान्दोलनेन निवृत्त: ! वयं इति प्रकारस्य आह्वानानां समाघातम् कर्तुम् आगताः !

परन्तु हमने सूझबूझ का परिचय दिया ! आपके इस आचरण से दिल्ली पुलिस इस चुनौती पूर्ण आन्दोलन से निपट पायी ! हम सब इस प्रकार की चुनौतियों का सामना करते आए हैं !

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here