हिंदू समाजम् देहल्यां नीतं संकल्पं,देशम् संविधानेण चरिष्यति, शरीयतेण जिहादेण वा न ! हिंदू समाज ने दिल्ली में लिया संकल्प,देश संविधान से चलेगा, शरीयत या जिहाद से नहीं !

0
122

नव देहल्यां विश्व हिंदू परिषदम् शनिवासरम् देहल्या: जंतर मंतरे संकल्प मार्च इत्यायोजितं ! मार्च इत्या: उद्देश्यं धार्मिक कट्टरतायाः विरोधमस्ति ! विश्व हिंदू परिषदस्य कथनमस्ति तत देशम् संविधानेण चरनीयं शरीयतेण जिहादेण वा न !

नई दिल्ली में विश्व हिंदू परिषद ने शनिवार को दिल्ली के जंतर मंतर पर संकल्प मार्च आयोजित किया ! मार्च का उद्देश्य मजहबी कट्टरता का विरोध है ! विश्व हिंदू परिषद का कहना है कि देश संविधान से चलना चाहिए शरीयत या जिहाद से नहीं !

तत्रैव संकल्प मार्च इत्या: काळम् वंदे मातरम्, जय श्रीराम, भारत मातु: जयस्य उद्घोषानि अभवत् ! मार्च दर्शन् सुरक्षायाः दृढ़ व्यवस्थाम् कृतवन्तः ! नव देहली जनपदस्य डीसीपी अमरूथा गुगुलोथ: ज्ञापित: तत जंतर मंतराय सशर्तमाज्ञाम् प्रदत्तम् !

वहीं संकल्प मार्च के दौरान वंदे मातरम, जय श्री राम, भारत माता की जय के नारे लगाए गए ! मार्च को देखते हुए सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए हैं ! नई दिल्ली जिले की डीसीपी अमरुथा गुगुलोथ ने बताया कि जंतर-मंतर के लिए सशर्त अनुमति प्रदान की गई है !

वस्तुतः पूर्व मासम् राजस्थानस्य उदयपुरे कन्हैया लालस्य महाराष्ट्रस्य चमरावत्यां उमेश कोल्हेस्य कट्टरपंथिन् मुस्लिमै: कृतवान नृशंस हननाभ्यां जनेषु खिन्नतामस्ति ! इति कारणम् एकजुटता प्रदर्शितुं सः संपूर्णदेशस्य भिन्न-भिन्न स्थानेषु प्रदर्शनम् क्रियन्ते !

दरअसल पिछले महीने राजस्थान के उदयपुर में कन्हैयालाल और महाराष्ट्र के अमरावती में उमेश कोल्हे की कट्टरपंथी मुस्लिमों द्वारा की गई नृशंस हत्या से लोगों में नाराजगी है ! इस बाबत एकजुटता प्रदर्शित करने के लिए वह देश भर के अलग-अलग जगहों पर प्रदर्शन किए जा रहे हैं !

प्रदर्शनम् कर्तुं जनानां कथनमस्ति तत भारतं धर्म निरपेक्ष देशमस्तीदम् च् संविधानेण इव चरनीयं ! अत्र शरिया विधेयकस्य संभावनाम् नास्ति ! विश्व हिंदू परिषदस्य कार्यकारी अध्यक्ष: आलोक कुमार: कथित: तत हिन्दुषु भवितानि घातम् सम्यक् नास्ति !

प्रदर्शन कर रहे लोगों का कहना है कि भारत धर्मनिरपेक्ष देश है और यह संविधान से ही चलना चाहिए ! यहां शरिया कानून की गुंजाइश नहीं है !विश्व हिंदू परिषद के कार्यकारी अध्यक्ष आलोक कुमार ने कहा कि हिंदुओं पर हो रहे हमले ठीक नहीं है !

हिंदुन् न कश्चित विभाजितं कर्तुं शक्नोति नैव भीतुं शक्नोति ! सः कथित: तत नूपुर शर्मायाः समर्थन कर्ताषु जनेषु घातम् भवन्ति ! उदयपुरे कन्हैया लालस्य हननम् राज्य सर्वकारेण सुरक्षा न दत्तस्य कारणेन अभवत् !

हिंदुओं को न कोई विभाजित कर सकता है और न ही डरा सकता है ! उन्होंने कहा कि नूपुर शर्मा का समर्थन करने वाले लोगों पर हमले हो रहा हैं ! उदयपुर में कन्हैयालाल की हत्या राज्य सरकार द्वारा सुरक्षा न देने की वजह से हुई है !

आलोक कुमार: कथित: तत भारत देशं संविधानेण चरिष्यति ! अत्र जिहादाय कश्चित स्थानम् नास्ति ! विहिप हेल्पलाइन क्रमांक प्रस्तुतं कृतमस्ति ! यदि कश्चितापि हिंदूम् भर्त्सक: मेलयति तर्हि सः दूरभाषं क्रियेत्, तस्य सहाय्याय अस्माकं कार्यकर्ता: तस्य प्रतिसंभवम् सुरक्षायै तत्परः सन्ति !

आलोक कुमार ने कहा कि भारत देश संविधान से चलेगा ! यहां जिहाद के लिए कोई जगह नहीं है ! विहिप ने हेल्पलाइन नंबर जारी किया है ! अगर किसी भी हिंदू को धमकी मिल रही है तो वह फोन करे, उनकी मदद के लिए हमारे कार्यकर्ता उनकी हर संभव सुरक्षा के लिए तैयार हैं !

हिंदू संगठनानां जनाः संकल्प मार्च इत्यां त्रिवर्णम् विधुनन्ति जय श्रीरामस्य च् उद्घोषमुद्घोषन् अग्रम् बर्ध्यन्ति ! इति काळम् भाजपा नेता कपिल मिश्र: कथित: तत देशे विधि व्यवस्थाम् नाशकेभ्यः कश्चित स्थानम् नास्ति ! विधि रक्षणाय हिंदू समाजमद्य मार्गे अवतरितमस्ति !

हिंदू संगठनों के लोग संकल्प मार्च में तिरंगा लहरा रहे हैं और जय श्री राम के नारे लगाते हुए आगे बढ़ रहे हैं ! इस दौरान बीजेपी नेता कपिल मिश्रा ने कहा कि देश में कानून बिगाड़ने वालों के लिए कोई जगह नहीं है ! कानून बचाने के लिए हिंदू समाज आज सड़क पर उतरा है !

सः कथित: तत शिरम् गाततः पृथकं, वचनमेव न रमितं अपितु हननम् क्रियते ! संकल्प मार्च तर्हि अद्यापि एकं संदेशमस्ति तेभ्यः जनेभ्यः यत् जिहाद प्रसारयन्ति ! संकल्प मार्च इत्यां सम्मिलित: उत्तरी देहल्या: पूर्व महापौर: अवतार सिंह: कथित: तताद्य संकल्प मार्च इतिभिः बहवः हिंदू समूहम् मार्गेषु अवतरिता: !

उन्होंने कहा कि सर तन से जुदा, बोल ही नहीं रहे बल्कि हत्या की जा रही है ! संकल्प मार्च तो अभी एक संदेश है उन लोगों के लिए जो जिहाद फैला रहे हैं ! संकल्प मार्च में शामिल उत्तरी दिल्ली के पूर्व मेयर अवतार सिंह ने कहा कि आज संकल्प मार्च के लिए कई हिंदू समूह सड़कों पर उतरा है !

वयमत्र हिन्दुषु घातानां विरुद्धं स्वरमुत्थीतुं आगताः ! हिन्दुषु इति प्रकारेण घातम् न भवनीयं ! हिंदुन् लक्ष्यं कर्तानां घातम् कर्तानां विरुद्धम् दृढ़ कार्यवाहिम् भवनीयम् !

हम यहां हिंदुओं पर हमलों के खिलाफ आवाज उठाने के लिए आए हैं ! हिंदुओं पर इस तरह से हमला नहीं होना चाहिए ! हिंदुओं को निशाना बनाने और हमला करने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई होनी चाहिए !

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here