31.8 C
New Delhi

पथभ्रष्ट युवकानि गृहमंत्री अमित शाहस्य सन्देशम् ! गुमराह युवकों को गृहमंत्री अमित शाह का संदेश !

Date:

Share post:

गृहमंत्री अमित शाह: इति कालम् असमस्य भ्रमणे सन्ति यत्र सः बहु परियोजनानां आधारं अधारयत् ! तम् काले सः बोडो उग्रवाद इति उल्लेखम् कृतवान तर्हि अयमपि ज्ञापयतु तत कति प्रकारेण जगद् परिवर्तमस्ति !

गृह मंत्री अमित शाह इस समय असम के दौरे पर हैं जहां उन्होंने कई परियोजना की आधारशिला रखी ! उस मौके पर उन्होंने बोडो उग्रवाद का जिक्र किया तो यह भी बताया कि किस तरह से जमाना बदला है !

सः अकथयत् तत एकम् कालमासीत् यदा अलगाववादी इति राज्येषु (पूर्वोत्तर) युवानां हस्तेषु अस्त्रम् दत्तमासीत् ! लगभगम् सर्वाणि सशस्त्रं समूहम् मुख्यधारायाम् सम्मिलितं भव्यते युवाभिः आरम्भयते च् स्टार्टअप इति विश्वस्तरे अन्य स्टार्टअप इत्येन सह प्रतिस्पर्धाम् कुर्वन्ति !

उन्होंने कहा कि एक समय था जब अलगाववादी इन राज्यों (पूर्वोत्तर) में युवाओं के हाथों में हथियार देते थे ! लगभग सभी सशस्त्र समूह मुख्यधारा में शामिल हो गए हैं और युवाओं द्वारा शुरू किए गए स्टार्टअप विश्व स्तर पर अन्य स्टार्टअप के साथ प्रतिस्पर्धा कर रहे हैं !

केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह: अकथयत् ततासमे आन्दोलनानां कालमासीत् ! बहु आन्दोलनम् भिन्नम्भिन्न मुद्देषु आरम्भयते स्म यस्मिन् शतानि युवामहन्यते स्म ! असमस्य शान्तिभंगमाभवत् विकसितं स्थागन् स्म !

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने कहा कि असम में आंदोलनों का दौर था ! कई आंदोलन अलग-अलग मुद्दों पर शुरू किए गए थे जिसमें सैकड़ों युवा मारे गए थे। असम की शांति भंग हुई और विकसित रुका हुआ था !

अग्रस्य मार्गम् किमस्ति ? विकासैव अग्रम् बर्धनस्य एकमात्रं मार्गमस्ति ! विकासम् भवति अग्रमपि च् भविष्यति तु वैचारिक परिवर्तनस्यापि आवश्यक्तामस्ति अयम् च् केवलं विकासेण न भवशक्नोति !

आगे का रास्ता क्या है ? विकास ही आगे बढ़ने का एकमात्र रास्ता है ! विकास हो रहा है और आगे भी होगा लेकिन वैचारिक परिवर्तन की भी आवश्यकता है और यह केवल विकास से नहीं हो सकता है !

कांग्रेसमाचार्य शंकरदेवस्य जन्मस्थानाय केचन न कृतवान यस्य योगदानं असमस्य इतिहासम्, नाटक लेखनं,कला कविताम् मान्यता दत्त: !

कांग्रेस ने आचार्य शंकरदेव के जन्मस्थान के लिए कुछ नहीं किया जिनके योगदान ने असम के इतिहास, नाटक लेखन, कला और कविता को मान्यता दी !

तु भाजपा राज्यानां भाषां,संस्कृतिम्,क्लाम् तीक्ष्ण कृते विश्वासम् करोति ! भाजपाया: मान्यनमस्ति तत भारत तदैव महानता प्राप्त न कृतशक्नोति यदैव राज्यानां संस्कृतिम् भाषां च् तीक्ष्ण न अक्रियते ! भारतस्य संस्कृति कलानि च् असमिया संस्कृति कलानां च् विना अर्धमस्ति !

लेकिन भाजपा राज्यों की भाषा, संस्कृति, कला को मजबूत करने में विश्वास करती है ! बीजेपी का मानना है कि भारत तब तक महानता हासिल नहीं कर सकता जब तक राज्यों की संस्कृति और भाषा को मजबूत नहीं किया जाता ! भारत की संस्कृति और कलाएँ असमिया संस्कृति और कलाओं के बिना अधूरी हैं !

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

spot_img

Related articles

रोहिंग्या-मुस्लिम्-जनाः ५००० हिन्दु-बौद्धानां गृहाणि दग्धवन्तः, तेषां दृष्टेः पुरतः सर्वं लुण्ठितवन्तः ! रोहिंग्या मुस्लिमों ने 5000 हिंदुओं-बौद्धों के घर जलाए, आँखों के सामने सब कुछ...

म्यान्मार्-देशस्य राखैन्-राज्ये सैन्य-नेतृत्वस्य जुण्टा-जातीय-विद्रोहि-समूहयोः मध्ये सङ्घर्षाः तीव्रतां प्राप्य साम्प्रदायिक-हिंसा प्रारब्धा। तत्र अस्य तनावस्य कारणात्, रोहिंज्या-जनाः हिन्दूनां बौद्धानां च...

धर्मपरिवर्तनं कारित्वा त्वया एव विवाहं करिष्यामि-मुस्लिम युवकः जुनैद: ! धर्म परिवर्तन कराकर तुमसे ही करेंगे निकाह-मुस्लिम युवक जुनैद !

उत्तरप्रदेशस्य अलीगढ-मण्डले, मुस्लिम्-युवकाः परीक्षार्थं उपस्थितां हिन्दु-बालिकाम् अनुधावन्, तां मार्गे चालयितुं प्रयतन्ते स्म। न केवलं, अभियुक्तः अपि पीडितस्य गृहं...

पाणिग्रहणस्य कुचक्रम् दत्वा भोपालतः केरलम् नयवान्, इस्लाम स्वीकरणस्य भारम् कर्तुम् अरभत् ! शादी का झाँसा दे भोपाल से केरल ले गया, इस्लाम कबूलने का...

मध्यप्रदेशस्य राजधानी भोपाल्-नगरस्य एका हिन्दु-बालिका विवाहस्य प्रलोभनेन राजा खान् इत्यनेन केरल-राज्यं नीतवती। कथितरूपेण, इस्लाम्-मतं स्वीकृत्य कल्मा-ग्रन्थं पठितुं दबावः...

कमल् भूत्वा, कामिल् एकः हिन्दु-बालिकाम् वशीकृतवान्, ततः एकवर्षं यावत् तां ब्ल्याक्मेल् कृत्वा यौनशोषणम् अकरोत्! कमल बनकर कामिल ने हिंदू लड़की को फँसाया, फिर ब्लैकमेल...

उत्तरप्रदेशस्य मुज़फ़्फ़र्नगर्-नगरस्य कामिल् नामकः मुस्लिम्-बालकः स्वस्य नाम मतं च प्रच्छन्नं कृत्वा इन्स्टाग्राम्-इत्यत्र हिन्दु-बालिकया सह मैत्रीम् अकरोत्। ततः सः...