27.9 C
New Delhi

चक्रवाती झंझावत तौकते गोवायाः तटीय क्षेत्रेण ताडियतं, गृहमंत्री अमित शाह: आहुतम् गोष्ठिम् ! चक्रवाती तूफान तौकते गोवा के तटीय क्षेत्र से टकराया, गृहमंत्री अमित शाह ने बुलाई बैठक !

Date:

Share post:

चक्रवाती झंझावत तौकतेम् गृहित्वा देशस्य केचन राज्येषु संकटम् निर्मितं मीडिया सूचनानां अनुरूपम् १८ मई इत्यस्य प्रातरैव अस्य गुजरात प्राप्तस्याशाम् व्यक्तयन्ति यस्य कारणं बहु उच्चाटनस्य आशंकामपि बदितम् !

चक्रवाती तूफान तौकते को लेकर देश के कुछ राज्यों में खतरा बना हुआ है मीडिया रिपोर्टों के मुताबिक 18 मई की सुबह तक इसके गुजरात पहुंचने के आसार जताए जा रहे हैं जिसके चलते भारी तबाही की आशंका भी बताई गई है !

यस्मात् निर्णीतुम् पुष्ट व्यवस्थाम् कुर्वन्ते तत्रैव बद्यते तत रविवासरम् चक्रवाती झंझावत तौकते गोवायाः तटीय क्षेत्रेण ताडियतं गोवायां चक्रवाती झंझावतेन बहु क्षत्या: वार्ता संमुखम् आगच्छति !

इससे निपटने के लिए पुख्ता इंतजाम किए जा रहे हैं वहीं बताया जा रहा है कि रविवार को चक्रवाती तूफान तौकाते गोवा के तटीय क्षेत्र से टकरा गया है गोवा में चक्रवाती तूफान से भारी नुकसान की खबर सामने आ रही है !

चक्रवात तौकते इत्यस्य कारणेन गोवायाः बहु अंशेषु रविवासरम् तीव्र वातानि अचरत् तथा बहु वर्षामभवत्, येन कारणात् विद्युतस्य स्तंभ उन्मूलितं बहु क्षेत्रेषु च् विद्युतापूर्तिम् बाधितं !

चक्रवात तौकते की वजह से गोवा के कई हिस्सों में रविवार को तेज हवाएं चलीं तथा भारी बारिश हुई, जिस वजह से बिजली के खंभे उखड़ गए और कई इलाकों में बिजली आपूर्ति बाधित हुई !

अधिकारिंन् बदिता: तत अधुनैव कश्चितस्यापि हताहतस्य वार्ताम् नास्ति ! गोवायाः ऊर्जा मंत्री नीलेश कैब्राल: बदित: तत तीव्र वातानि चरस्य कारणं विद्युतस्य स्तंभोन्मूलितानि येन कारणेन गोवायाः अधिकांशतः क्षेत्रेषु विद्युतं गतवान !

अधिकारियों ने बताया कि अब तक किसी के भी हताहत होने की खबर नहीं है ! गोवा के ऊर्जा मंत्री नीलेश कैब्राल ने बताया कि तेज हवाएं चलने के कारण बिजली के खंभे उखड़ गए हैं जिस वजह से गोवा के अधिकतर इलाकों में बिजली चली गई है !

तौकते १८ मई इत्यस्य सायमैव गुजरात तस्मात् संयुक्त पकिस्तानी तटीय क्षेत्रस्य तटेन ताडियतुम् शक्नोति यस्मात् च् तत्र बहु उच्चाटनस्याशंका व्यक्तानि ! गुजरातस्य कच्छस्य सौराष्ट्रस्य च् समुद्री क्षेत्रेषु येन गृहित्वा कोस्ट गार्ड अलर्ट स्थित्यां निर्मितानि !

तौकते 18 मई की शाम तक गुजरात व उससे लगते पाकिस्तानी तटीय क्षेत्र के तट से टकरा सकता है और इससे वहां भारी तबाही होने की आशंका जताई गई है ! गुजरात के कच्छ और सौराष्ट्र के समुद्री इलाकों में इसे लेकर कोस्ट गार्ड अलर्ट मोड पर बने हुए हैं !

महाराष्ट्रस्य, केरलस्य गुजरातस्य तटेषु त्रय दिवसैव झंझावतस्य प्रभावस्य संभावनामस्ति सहैव कथ्यते तत चक्रवाती झंझावतस्य कालम् १५० तः १६० किलोमीटर प्रति घटकस्य तीव्रताया वातानि चरितुम् शक्नोन्ति !

महाराष्ट्र, केरल और गुजरात के तटों पर तीन दिन तक तूफान का असर रहने की संभावना है साथ ही कहा जा रहा है कि चक्रवाती तूफान के दौरान 150 से 160 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से हवाएं चल सकती हैं !

केरले १६ मई इतम् केचन स्थानेषु तीव्रात् तीव्र वृष्टिम् भवितुम् शक्नोति ! कर्नाटकस्य तटीय निकटवर्ती च् घाट जनपदेषु १६ मई इतम् केचन स्थानेषु तीव्रात् तीव्र वृष्ट्या: संभावनामस्ति !

केरल में 16 मई को कुछ स्थानों पर भारी से बहुत भारी वर्षा और 17 मई को कुछ जगहों पर भारी वर्षा हो सकती है ! कर्नाटक के तटीय और निकटवर्ती घाट जिलों में 16 मई को कुछ स्थानों पर भारी से काफी भारी वर्षा की संभावना है !

१६ मई इतम् कोंकण तथा सहवासिन् च् घाट क्षेत्रेषु तीव्रात् तीव्र वृष्ट्याः संभावनामस्ति १७ मई इतम् च् कोंकणस्य केचन स्थानेषु तीव्र वृष्टिम् भवितुम् शक्नोति !

16 मई को कोंकण तथा गोवा और पड़ोसी घाट क्षेत्रों में भारी से बहुत भारी वर्षा की संभावना है और 17 मई को उत्तर कोंकण के कुछ स्थानों पर भारी वर्षा हो सकती है !

१७ मई इतम् सौराष्ट्रस्य कच्छस्य च् अनेकेषु स्थानेषु तीव्रात् तीव्र वृष्ट्याः संभावनामस्ति ! यस्यातिरिक्तं गुजराते सौराष्ट्रस्य तटीय जनपदेषु १६ मई इत्यस्य मध्यान्ह तः अनेकेषु स्थानेषु न्यून तः सामान्य वृष्ट्याः संभावनामस्ति !

17 मई को सौराष्ट्र और कच्छ के अनेक स्थानों पर भारी से बहुत भारी वर्षा की संभावना है ! इसके अलावा गुजरात में सौराष्ट्र के तटीय जिलों में 16 मई की दोपहर से अनेक स्थानों पर हल्की से सामान्य वर्षा की संभावना है !

यद्यपि १७ मई इतम् सौराष्ट्रस्य कच्छस्तः अनेकेषु स्थानेषु तीव्रात् तीव्र वर्षाम् तथा केचन स्थानेषु ( जूनागढ़ तथा गिर सोमनाथ जनपदेषु) अत्यधिक तीव्र वर्षाम् भवितुम् शक्नोति !

जबकि 17 मई को सौराष्ट्र और कच्छ के अनेक स्थानों पर भारी से बहुत भारी वर्षा तथा कुछ स्थानों (जूनागढ़ तथा गिर सोमनाथ जिलों में) पर अत्यधिक भारी वर्षा हो सकती है !

१८ मई इतम् सौराष्ट्रस्य तथा कच्छस्य केचन स्थानेषु तथा केचन स्थानेषु (पोरबंदर, द्वारका, जामनगर कच्छ च् जनपदेषु) अत्यधिक तीव्र (२० सेंटीमीटर) वर्षाम् भवितुम् शक्नोति !

18 मई को सौराष्ट्र तथा कच्छ के कुछ स्थानों पर तथा कुछ स्थानों (पोरबंदर, देवभूमि द्वारका,जामनगर और कच्छ जिलों में) अत्यधिक भारी (20 सेंटीमीटर) वर्षा हो सकती है !

तत्रैव पश्चिम राजस्थाने १८ तथा १९ मई इतम् अनेकेषु स्थानेषु न्यून तः सामान्य वर्षाम् तथा केचन स्थानेषु तीव्रात् तीव्र वर्षाम् भवितुम् शक्नोति !

वहीं पश्चिम राजस्थान में 18 तथा 19 मई को अनेक स्थानों पर हल्की से सामान्य वर्षा तथा कुछ स्थानों पर भारी से बहुत भारी वर्षा हो सकती है !

इदम् इति वर्षस्य प्रथम चक्रवाती झंझावतास्ति ! इदम् इदृशं काले स्वरं ददाति, यदा भारतं कोरोना विषाणो: बहु घातकं द्वितीय लहरेण रणति ! तु किं भवान् कदा विचारितं तत एतानि चक्रवातानां नाम कीदृशं ध्रीति !

यह इस साल का पहला चक्रवाती तूफान है ! ये ऐसे समय में दस्तक दे रहा है, जब भारत कोरोना वायरस की बेहद घातक दूसरी लहर से लड़ रहा है ! लेकिन क्या आपने कभी सोचा है कि इन चक्रवातों का नाम कैसे रखा जाता है ?

भवतम् अभिज्ञानेनाश्चर्यं भविष्यति तत अस्य एकम् इतिहासं प्रक्रियाम् चस्ति ! आगच्छन्तु अवगम्यन्ते, चक्रवात तौकते इत्यस्य नाम म्यांमार अवगमितं ! इदम् एकम् बर्मी शब्दमस्ति यस्यार्थमस्ति गेको इति, एका गृहगोधिकास्ति !

आपको जानकर हैरानी होगी कि इसका एक इतिहास और प्रक्रिया है ! आइए समझते हैं, चक्रवात तौकते का नाम म्यांमार ने सुझाया है ! यह एक बर्मी शब्द है जिसका अर्थ है गेको, एक छिपकली है !

चक्रवातानां नामकरण विश्व मानसून विज्ञान संगठन/संयुक्त राष्ट्र आर्थिक सामाजिकायोग एशिया प्रशांत च् (डब्ल्यूएमओ/इएससीएपी) पैनल ऑन ट्रॉपिकल साइक्लोन (पीटीसी) इत्येन क्रियते !

चक्रवातों का नामकरण विश्व मौसम विज्ञान संगठन/संयुक्त राष्ट्र आर्थिक और सामाजिक आयोग एशिया और प्रशांत (WMO/ESCAP) पैनल ऑन ट्रॉपिकल साइक्लोन (PTC) द्वारा किया जाता है !

दले १३ देशानि सम्मिलितं सन्ति, भारत, बांग्लादेश, म्यांमार, पकिस्तान, मालदीव, ओमान, श्रीलंका, थाईलैंड, ईरान, कतर, सऊदी अरब, संयुक्त अरब अमीरात यमन च् ! इमानि १३ देशानि इति क्षेत्रस्य चक्रवातान् नाम ददान्ति !

पैनल में 13 देश शामिल हैं, भारत, बांग्लादेश, म्यांमार, पाकिस्तान, मालदीव, ओमान, श्रीलंका, थाईलैंड, ईरान, कतर, सऊदी अरब, संयुक्त अरब अमीरात और यमन ! ये 13 देश इस क्षेत्र के चक्रवातों को नाम देते हैं !

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

spot_img

Related articles

अवयस्का हिंदू बालिकामताडयत्, अलिहत् स्व ष्ठीव्, मोहम्मद मुश्ताक: बंधनम् ! नाबालिग हिन्दू बच्ची को मारा, चटवाया अपना थूक, मोहम्मद मुश्ताक गिरफ्तार !

बिहारस्य पूर्णियायां एकावयस्का हिंदू बालिकां ष्ठीव् लिहस्य प्रकरणम् संमुखमगच्छत् ! आरोपं अस्ति तत बालिकया: स्तंम्भे निबध्य ताडनमपि अकरोत्...

जोधपुरस्य सर्वकारी विद्यालये हिजाब धारणे संलग्ना: छात्रा: ! जोधपुर के सरकारी स्कूल में हिजाब पहनने पर अड़ी छात्राएँ !

राजस्थानस्य जोधपुरे हिजाब इतम् गृहीत्वा प्रश्नं अभवत् ! सर्वकारी विद्यालये छात्रा: हिजाब धारणे गृहीत्वा संलग्नवत्य:, तु तेषां परिजना:...

मेलकम् दर्शनमगच्छन् हिंदू महिला: शमीम: सदरुद्दीन: चताडताम्, उदरे अकुर्वताम् पादघातम् ! मेला देखने गईं हिन्दू महिलाओं को शमीम और सदरुद्दीन ने पीटा, पेट पर...

उत्तरप्रदेशस्य फर्रुखाबाद जनपदे एकः हिंदू युवके, तस्य मातरि भगिन्यां च् घातस्य वार्ता अस्ति ! घातस्यारोपम् शमीमेण सदरुद्दीनेण च्...

हल्द्वानी हिंसायां आहूय-आहूय हिंदू वार्ताहरेषु अभवन् घातम् ! ऑपइंडिया इत्यस्य ग्राउंड सूचनायां रहस्योद्घाटनम् ! हल्द्वानी हिंसा में चुन-चुन कर हिंदू पत्रकारों पर हुआ हमला...

उत्तराखंडस्य हल्द्वानी हिंसायां उत्पातकाः आरक्षक प्रशासनस्यातिरिक्तं घटनायाः रिपोर्टिंग कुर्वन्ति हिंदू वार्ताहरानपि स्वलक्ष्यमकुर्वन् स्म ! ते आहूय-आहूय वार्ताहरेषु घातमकुर्वन्...