मुरादबादे ५०० कोट्याः शत्रु संपत्त्या: मुस्लिमानां अवैधाधिपत्यं ! मुरादाबाद में 500 करोड़ की शत्रु संपत्ति पर मुस्लिमों का अवैध कब्जा !

0
70

रामपुरस्य, नैनीतालस्य, देहरादूनस्यानंतरम् सम्प्रति मुरादाबादे गृहमंत्रालयस्याधीनम् शत्रु संपत्तिषु अधिपत्यस्य वार्ता संमुखमागतमस्ति ! संपत्त्या: मूल्य ५०० कोटितः अधिकस्य ज्ञापिते यस्मिन् च् मुस्लिमजनाः अधिपत्यं कृतवन्तः !

रामपुर, नैनीताल, देहरादून के बाद अब मुरादाबाद में गृह मंत्रालय के अधीन शत्रु संपत्तियों पर कब्जे की बात सामने आई है ! संपत्ति की कीमत 500 करोड़ से अधिक की बताई जा रही है और इस पर मुस्लिम लोगों ने कब्जा किया हुआ है !

मुरादाबादस्य एडीएम एस के सिंह: ज्ञापित: तत गृह मंत्रालयेण निर्गतं एकस्यानुसंधानाज्ञायाः अनंतरम् मुरादाबाद जनपदे शत्रु सम्पत्तिनां खाता खतौन्या: अनुसंधानम् कृतवान !

मुरादाबाद के एडीएम एस के सिंह ने बताया कि गृह मंत्रालय द्वारा जारी एक जांच आदेश के बाद मुरादाबाद जिले में शत्रु संपत्तियों की खाता खतौनी की जांच पड़ताल की गई !

यस्मिन् इदम् ळब्धम् तताभिलेखाकार कार्यालये रईस अहमद: फराज: च् लिपिकौ मेलित्वा लगभगम् २५ कोट्याः एकस्य संपत्त्या: अवैधाभिलेखं तत्परम् कृत्वा मुहम्मद शमीमम् दत्तौ !

इसमें ये पाया गया कि अभिलेखाकार कार्यालय में रईस अहमद और फराज लिपिकों ने मिलकर करीब पच्चीस करोड़ की एक संपत्ति के फर्जी कागजात तैयार करवा कर मुहम्मद शमीम को दिए !

अस्यैव अभिलेखस्याधारे शमीम: केंद्रीय गृहमंत्रालये उक्त भूमि स्व भवस्य दृढ़कथनम् कृतन् येन स्व नाम कर्तुं प्रार्थनापत्रम् दत्तवान, गृहमंत्रालयं जनपद प्रशासनम् यं प्रति अनुसंधानम् कर्तुं कथित: तर्हि ळब्धं तत मूलाभिलेखान् पत्रावल्यौत्फालितमस्ति !

इन्हीं कागजात के आधार पर शमीम ने केन्द्रीय गृह मंत्रालय में उक्त जमीन अपनी होने का दावा करते हुए इसे अपने नाम चढ़ाने के लिए प्रार्थना पत्र दिया, गृह मंत्रालय ने जिला प्रशासन को इस बारे में जांच करने को कहा तो पाया कि मूल अभिलेखों को रजिस्टर से फाड़ा गया है !

यं प्रति आरके बाबू आरक्षके २४ मार्च २०१९ तमे अभियोगम् पंजीकृतमासीत् ! यस्मिन् द्वयवर्षस्य अनुसंधानस्यानंतरम् चाजर्शीट इति प्रस्तुतं यस्मिन् च् द्वयो लिपिकयो मुहम्मद शमीमस्य च् विरुद्धमारोपम् निश्चितं !

इस बारे में आरके बाबू ने पुलिस में 24 मार्च 2019 में मुकद्दमा दर्ज करवाया था ! जिस पर दो साल की जांच के बाद चार्जशीट दाखिल हो गई है और इसमें दो लिपिकों और मुहम्मद शमीम के खिलाफ आरोप तय किए गए हैं !

अनुसंधाने इदम् वार्तापि संमुखमागतमस्ति तत लगभगम् ५०० कोट्याः शत्रु संपत्त्यां मुस्लिम जनाः अवैध रूपेण वासिताः ! पूर्व द्वयवर्षाभ्यां चरितं अनुसंधानस्य काळम् अवैध रूपेणाधितिष्ठतं जनाः स्व वासशुल्कदाता दर्शित्वा जनपदप्रशासनम् वासशुल्क दत्तुं आरंभिताः !

जांच में ये बात भी सामने आई है कि करीब पांच सौ करोड़ की शत्रु संपत्ति पर मुस्लिम लोग अवैध रूप से बसे हुए हैं ! पिछले दो साल से चल रही जांच के दौरान ही अवैध रूप से काबिज लोग अपनी किरायेदारी दिखाकर जिला प्रशासन को किराया जमा कराने लगे हैं !

यस्मिन् अपि गृहमंत्रालयं खिन्नता व्यक्तन् उक्त स्थाने अधितिष्ठितं जनान् सूचनापत्रम् प्रस्तुतं कथितमस्ति ! अभिज्ञानस्यानुरूपम् गृहमंत्रालयस्य अधिकारीणां एकं दळम् पूर्व दिवसानि शत्रु सम्पत्तिनां अवलोकनं कृतवान यस्य चभिलेखान् प्रति जनपद प्रशासनम् निर्देशमपि दत्तवान !

इस पर भी गृह मंत्रालय ने नाराजगी जाहिर करते हुए उक्त जगह पर काबिज लोगों को नोटिस जारी करने को कहा है ! जानकारी के मुताबिक गृह मंत्रालय के अधिकारियों की एक टीम ने पिछले दिनों शत्रु संपत्तियों का अवलोकन किया है और इनके दस्तावेजों के बारे में जिला प्रशासन को दिशा-निर्देश भी दिए हैं !

यस्याधारे इदमभिज्ञानम् संमुखमागतमस्ति तत लगभगम् ५०० कोट्याः सर्वकारस्य शत्रु संपत्त्यां अवैध रूपेण जनाः अधितिष्ठिताः सन्ति तेन च् इति भूमिम् परस्परं पगड़ी इत्या: आधारे क्रीताः-विक्रीताः अपि सन्ति !

इसके आधार पर ये जानकारी सामने आई है कि करीब पांच सौ करोड़ की सरकार की शत्रु संपत्ति पर अवैध रूप से लोग काबिज हैं और उन्होंने इस जमीन को आपस में पगड़ी के आधार पर खरीदा-बेचा भी है !

वस्तुतः जनपद प्रशासनमुक्त संपत्ती: सम्प्रति स्व नियंत्रणे नीतुं आरंभितमस्ति, स्वतंत्रतायाः काळम् विभाजने हिंदुस्थानतः याः जनाः पकिस्तानम् गताः तेषां भूसंपत्ति यत् भारते रमिताः तेन शत्रु संपत्तीति कथ्यते !

फिलहाल जिला प्रशासन ने उक्त संपत्तियों को अब अपने नियंत्रण में लेना शुरू कर दिया है, आजादी के दौरान बंटवारे में हिंदुस्तान से जो लोग पाकिस्तान चले गए उनकी भू संपत्ति जो भारत में रह गई उसे शत्रु संपत्ति कहा जाता है !

इति संपत्त्या: स्वामी गृहमंत्रालयं भवति ! इमानि संपत्ति सर्वकारी कार्ये पकिस्ताने च् स्व संपत्ति त्यक्त्वा भारतं आगताः हिन्दुषु आवंटितुं उपयोगे क्रियते !

इस संपत्ति का मालिक गृह मंत्रालय होता है ! ये संपत्ति सरकारी कार्य में और पाकिस्तान में अपनी संपत्ति छोड़ कर भारत आए हिंदुओं में आवंटित करने के लिए उपयोग में लाई जाती है !

पूर्व दिवसानि भारततः पकिस्तानम् गताः मुस्लिम कुटुंबानां अवैधोत्तराधिकारिनभिलेखम् निर्मित्वा शत्रु संपत्तिमधिग्रहणस्य क्रीडा उत्तर प्रदेशे, मध्य प्रदेशे उत्तराखंडे च् संमुखमागमनेण गृहमंत्रालयं क्रियायुक्ततायां आगतमस्ति !

पिछले दिनों भारत से पाकिस्तान गए मुस्लिम परिवारों के फर्जी वारिस दस्तावेज बनाकर शत्रु संपत्ति को हड़पने का खेल उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश और उत्तराखंड में सामने आने से गृह मंत्रालय हरकत में आया है !

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here