21.8 C
New Delhi

परिवर्तनयात्रायाम् गर्जत: जेपी नड्डा:,मातु, मृत्तिका मानुष च् सर्वाणि अभवत् ध्वस्तम् ! परिवर्तन यात्रा में गरजे जे पी नड्डा,मां,माटी और मानुष सब हुए तबाह !

Date:

Share post:

नबद्वीपे परिवर्तन रथयात्रायाः स्वीकृत्या: अनंतरम् भाजपाया: राष्ट्रीयाध्यक्ष जेपी नड्डा: पूर्वस्य भांति ममता बनर्जी सरकारे बहु भर्तस्यत: ! सः कथितः तत नबद्वीपेण परिवार यात्रामारम्भयतम् ! अयम् केवलं सर्कारस्य नापितु विचारस्यापि परिवर्तनमस्ति !

नबद्वीप में परिवर्तन रथ यात्रा के हरी झंडी दिखाने के बाद बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जे पी नड्डा पहले की तरह ममता बनर्जी सरकार पर जमकर बरसे ! उन्होंने कहा कि नबद्वीप से परिवार यात्रा शुरू हो चुकी है ! यह केवल सरकार का नहीं बल्कि सोच का भी बदलाव है !

ममता अग्रजा मानवस्य शपथ इति गृहित्वा १० वर्ष पूर्व सर्कारस्य गठनम् कृता ! १० वर्षे माँ इतम् लुंठ्यतानि स्म,मृत्तिकायाः अपकारः कृतानि स्म मानवस्य च् रक्षणम् न कृतानि स्म ! भाजपा बंगस्य जनानि इति परिवर्तन यात्राया जागृतस्य प्रयत्नम् करोति !

ममता दी ने माटी मानुष की शपथ लेकर 10 साल पहले सरकार का गठन किया ! 10 साल में माँ को लूट लिया गया था,माटी का अनादर किया गया था और मानुष की रक्षा नहीं की गई थी ! बीजेपी बंगाल के लोगों को इस परिवर्तन यात्रा के जरिए जगाने की कोशिश कर रही है !

नबद्वीपे भाजपा प्रमुख जेपी नड्डा: कथ्यति, मोदीमहाशयः बंगम् सर्वाणि दत्तस्य प्रयत्नम् कृतः स्म ! तु ममता चाही ना,चाही ना,चाय ना, इति कथ्यति ! प्रत्येक वस्तु इत्याय होबे ना इति कथ्यति ! कथं ? सर्वाणि मई इत्यस्य मासस्य अनंतरम् भविष्यति !

नबद्वीप में बीजेपी प्रमुख जेपी नड्डा कहते है, मोदी जी ने बंगाल को सब कुछ देने की कोशिश की है ! लेकिन ममता चाही ना,चाही ना,चाय ना कहती हैं। वह हर चीज के लिए होबे ना कहती हैं ! क्यों ? सब कुछ मई के महीने के बाद होगा !

इदम् कस्य प्रकारस्य सरकारः अस्ति ! अत्याचारस्य सरकार: ? अस्माकं लगभगम् १३० जनः हन्यतानि,३०० तः अधिकम् जनेषु प्रहारम् कृतानि ! यदा ते अस्मासु अपि प्रहारम् कर्तुम् शक्नोन्ति,तदा अहम् बङ्गे साधारण मानवस्य स्थितिम् अवगमतुम् शक्नोमि !

यह किस तरह की सरकार है ! अत्याचार की सरकार ? हमारे लगभग 130 लोग मारे गए हैं, 300 से अधिक लोगों पर हमला किया गया है ! इस सरकार को जाना होगा ! जब वे हम पर भी हमला कर सकते हैं,तो मैं बंगाल में आम आदमी की स्थिति को समझ सकता हूँ !

कृषक सुरक्षा सहभोज कार्यक्रमें सम्मिलित्वा कृषक भ्रातभिः सह भोजनम् कृतस्य सौभाग्य लभ्धन् ! मोदी सरकारेण कृषकान् सशक्त कर्ता योजनेषु पश्चिम बंगस्य कृषक भ्रातृणाम्- भगिनीनाम् अपि समानाधिकारमस्ति !

कृषक सुरक्षा सहभोज कार्यक्रम में सम्मिलित होकर कृषक बंधुओं के साथ भोजन करने का सौभाग्य प्राप्त हुआ। मोदी सरकार द्वारा किसानों को सशक्त करने वाली योजनाओं पर प. बंगाल के कृषक भाई-बहनों का भी बराबर अधिकार है !

यम् सुनिश्चताय भाजपा प्रतिबद्ध: अस्ति ! पीएम नरेंद्र मोदी: देशस्य कृषकाणाम् जीवनम् सुगमम् सुखमयम् च् निर्माय सततं कार्यम् कुर्वन्ति,अपितु ममता भगिनी स्वाभिमाने अनुग्रहे कृषका: एव लाभम् न लभ्धुम् ददान्ति !

जिसको सुनिश्चित करने के लिए भाजपा प्रतिबद्ध है ! पीएम नरेंद्र मोदी ने देश के किसानों के जीवन को सुगम एवं सुखमय बनाने के लिए निरंतर कार्य कर रहे हैं,किंतु ममता दीदी अपने अहंकार और जिद में किसानों तक लाभ नहीं पहुंचने दे रहीं हैं !

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

spot_img

Related articles

जोधपुरस्य सर्वकारी विद्यालये हिजाब धारणे संलग्ना: छात्रा: ! जोधपुर के सरकारी स्कूल में हिजाब पहनने पर अड़ी छात्राएँ !

राजस्थानस्य जोधपुरे हिजाब इतम् गृहीत्वा प्रश्नं अभवत् ! सर्वकारी विद्यालये छात्रा: हिजाब धारणे गृहीत्वा संलग्नवत्य:, तु तेषां परिजना:...

मेलकम् दर्शनमगच्छन् हिंदू महिला: शमीम: सदरुद्दीन: चताडताम्, उदरे अकुर्वताम् पादघातम् ! मेला देखने गईं हिन्दू महिलाओं को शमीम और सदरुद्दीन ने पीटा, पेट पर...

उत्तरप्रदेशस्य फर्रुखाबाद जनपदे एकः हिंदू युवके, तस्य मातरि भगिन्यां च् घातस्य वार्ता अस्ति ! घातस्यारोपम् शमीमेण सदरुद्दीनेण च्...

हल्द्वानी हिंसायां आहूय-आहूय हिंदू वार्ताहरेषु अभवन् घातम् ! ऑपइंडिया इत्यस्य ग्राउंड सूचनायां रहस्योद्घाटनम् ! हल्द्वानी हिंसा में चुन-चुन कर हिंदू पत्रकारों पर हुआ हमला...

उत्तराखंडस्य हल्द्वानी हिंसायां उत्पातकाः आरक्षक प्रशासनस्यातिरिक्तं घटनायाः रिपोर्टिंग कुर्वन्ति हिंदू वार्ताहरानपि स्वलक्ष्यमकुर्वन् स्म ! ते आहूय-आहूय वार्ताहरेषु घातमकुर्वन्...

हल्द्वान्यां आहतानां सुश्रुषायै अग्रमागतवत् बजरंग दलम् ! हल्द्वानी में घायलों की सेवा के लिए आगे आया बजरंग दल !

हल्द्वान्यां अवैध मदरसा-मस्जिदम् न्यायालयस्य आज्ञायाः अनंतरम् प्रशासनम् धराभीम गृहीत्वा ध्वस्तकर्तुं प्राप्तवत् तु सम्मर्द: उग्राभवन् ! प्रस्तर घातमकुर्वन्, गुलिकाघातमकुर्वन्,...