किं कृषकांदोलनस्याश्रये भवति अंतरराष्ट्रीय कुचक्रम् ! क्या किसान आंदोलन की आड़ में हो रही है अंतरराष्ट्रीय साजिश ?

1
304

कपिल मिश्र भाजपा व ग्रेटा थुनबर्ग

पर्यावरणविद ग्रेटा थुनबर्ग स्व तं ट्वीतम् उत्सृज्यता, यस्मिन् सा गूगल आलेख प्रसृता स्म यस्मिन् च् अलिख्यते स्म तत कश्चित प्रकारेण वैश्विक स्तरे भारतस्य नव कृषि विधेयकानां विरोधम् कृतैति !

एनवायरमेंट एक्टिविस्ट ग्रेटा थुनबर्ग ने अपने उस ट्वीट को डिलीट कर दिया है,जिसमें उन्होंने गूगल डॉक्यूमेंट शेयर किया था और इसमें लिखा गया था कि किस तरह से वैश्विक स्तर पर भारत के नए कृषि कानूनों का विरोध किया जाना है !

भाजपा नेता कपिल मिश्र: ग्रेटायाः वैश्विक कृषकाणामांदोलन उपकरणधृतस्य सामग्रीम् प्रसृतमानः कथितः तत ते २६ जनवरी इतम् कलहानां तत्परति स्म !

भाजपा नेता कपिल मिश्र ने ग्रेटा की वैश्विक किसानों की स्ट्राइक टूल किट की सामग्री साझा करते हुए कहा कि वे 26 जनवरी को दंगों की तैयारी कर रहे थे !

ग्रेटा थुनबर्ग २६ जनवरी इतम् आगतानि काले भवितानि विरोधम् मार्गे च् भवितानि प्रदर्शनानां अभिज्ञानक: दस्तावेज प्रसृता स्मानंतरे इति ट्वीतम् उत्सृज्यता इति दस्तावेजेण स्वच्छमस्ति तत ता एकम् दुष्प्रचारस्य अंशम् सन्ति !

ग्रेटा थुनबर्ग ने 26 जनवरी को और आने वाले वक्त में होने वाले विरोध और सड़क पर होने वाले प्रदर्शनों की डिटेल्स वाला दस्तावेज साझा कर दिया था और बाद में इस ट्वीट को डिलीट कर दिया ! इस दस्तावेज से साफ है कि वो एक प्रोपेगेंडा मुहिम का हिस्सा हैं !

स: ट्वीतेनैव ज्ञापित: तत भारत सरकारे केन प्रकारेण भारम् भारतुम् शक्नोति अस्मै च् सः ट्वीतैव सम्पूर्ण योजनापि ज्ञापित: यत् वृहद अंतरराष्ट्रीय कुचक्रेण संलग्न दृश्यते !

उन्होंने ट्वीट के जरिए ही बताया कि भारत सरकार पर किस तरह से दबाव बनाया जा सकता है और इसके लिए उन्होंने ट्विटर पर ही पूरी योजना भी बताई जो बड़े अंतरराष्ट्रीय साजिश से जुड़ी नजर आती है !

भाजपा नेता कपिल मिश्र: ट्वितस्य छायाचित्र प्रसृतमानः लिखित: बहुवृहद गम्भीर्य च् ! अयम् दस्तावेज ग्रेटाया ट्वितम् अक्रियते ! ते २६ जनवरी इतम् पूर्वेनैव कलहेभ्यः तत्परः आसीत् ! भारतस्य विरुद्धम् अति कलहानां घातानां च् योजनां विश्वस्तरे भवति !

भाजपा नेता कपिल मिश्र ने ट्वीट का स्क्रीन शॉट शेयर करते हुए लिखा बहुत बड़ा और गंभीर ! यह दस्तावेज ग्रेटा द्वारा ट्वीट किया गया है ! वे 26 जनवरी को पहले से ही दंगों के लिए तैयार थे ! भारत के खिलाफ अधिक दंगों और हमले की योजना विश्व स्तर पर हो रही है !

ग्रेटा यत् गूगल दस्तावेज ट्वीत कृता उत्सृज्या तस्मिन् बहु प्रकारस्य प्रकरणानि सन्ति ! यस्मिन् ज्ञापितम् तत केन प्रकारेण कृषकांदोलनस्य नामे भारम् भार्यतम् !

ग्रेटा ने जो गूगल दस्तावेज ट्वीट कर डिलीट कर दिया उसमें कई तरह के प्वाइंट्स हैं ! इसमें बताया गया है कि किस तरह से किसान आंदोलन के नाम पर दबाव बनाना है !

दस्तावेजेण स्वच्छम् भवति तत अस्य योजना बहु पूर्वैव निर्मितम् स्म,अर्थतः तत २५ जनवरी इत्येनापि पूर्वम् ! पश्य किं किं वार्तानि लिखितानि ! यस्मिन् लिखितम् कृषकांदोलने प्राप्तानि एकजुटतायाः च् प्रदर्शनकर्ता: चित्राणि अंतर्जाल माध्यमेन प्रेषितानि !

दस्तावेज से साफ होता है कि इसकी योजना काफी पहले ही बन गई थी,यानि कि 25 जनवरी से भी पहले ! देखिए क्या क्या बातें लिखी हैं ! इसमें लिखा है किसान आंदोलन में पहुंचे और एकजुटता का प्रदर्शन करने वाली तस्वीरें मेल करें !

एकमन्य प्रकरणे अलिख्यते तकनीकी आन्दोलनम् ! #AskIndiaWhy इत्येन सह चित्रम्/चलचित्रसूचनां २६ जनवरी इत्येन पूर्व २६ जनवरी इत्यैव ट्वीतरे प्रस्तुत कर्तुम् दीयन्तु ! ४-५ फरवरी इतम् ट्वीतर पूर्ण ट्रेंड इति कृतस्य प्रयत्नम् स्व च् हैशटैग इतम् निर्मितुम् धृतम् !

एक अन्य प्वाइंट में लिखा गया है डिजिटल स्ट्राइक ! #AskIndiaWhy हैशटैग के साथ फोटो/वीडियो मैसेज 26 जनवरी से पहले या 26 जनवरी तक ट्विटर पर पोस्ट कर दिए जाएं ! 4-5 फरवरी को ट्विटर पूरा ट्रेंड कराने की कोशिश और अपने हैशटैग को बनाए रखना !

यस्मिन् चलचित्रम्,चित्रसूचनां प्रेषिष्यते,अन्तिम् दिवसं ६ फरवरी इतम् अयम् बहु अधिकम् भविष्यति ! इत्येव न येन लिखित: तत द्वय वृहद व्यापारिक भारतीय कुटुंबौ बलहीन कृतमस्ति !

इसमें वीडियो,फोटो मैसेज भेजे जाएंगे,आखिरी दिन 6 फरवरी को यह और ज्यादा होगा ! इतना ही नहीं इससे मेंशन है कि दो बड़े व्यापारिक भारतीय घरानों को कमजोर करना है !

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here