दिग्विजय सिंहस्य भाजपायां आरोपम्, निर्धनम् मुस्लिमाणां बालकान् पणम् दत्वा कारयन्ति प्रस्तर प्रहारम् ! दिग्विजय सिंह का बीजेपी पर आरोप, गरीब मुसलमानों के बच्चों को पैसे देकर कराते हैं पथराव !

0
90

दिग्विजय सिंह: कांग्रेसस्य तेषु केचन वरिष्ठ नेतृषुतः एकम् सन्ति यत् भाजपायाः विरुद्धम् तीक्ष्णस्वरे लक्ष्यम् लक्ष्यन्ति ! एकदा पुनः सः लक्ष्यम् लक्षित: ! प्रकरणम् रामनवम्या: अनंतरम् हिंसाया संलग्नम् केचन वार्ताभिः सन्ति !

दिग्विजय सिंह कांग्रेस के उन कुछ कद्दावर नेताओं में से एक हैं जो बीजेपी के खिलाफ सख्त अंदाज में निशाना साधते हैं ! एक बार फिर उन्होंने निशाना साधा है ! मामला रामनवमी के बाद हिंसा से जुड़ी कुछ खबरों से है !

दिग्विजय सिंह: कथ्यति भाजपायाः जनाः स्वयमेव निर्धनमुस्लिमाणां बालकान् पणम् दत्वा प्रस्तरप्रहारं कारयन्ति यद्यपि तः यस्यानुसंधानं कारयन्ति ! तस्य पार्श्व इति संबंधे अपवादमागत: ! सः कथित: तत सः इति प्रकरणस्यानुसंधानम् कारयन्ति !

दिग्विजय सिंह कहते हैं बीजेपी के लोग खुद ही गरीब मुसलमानों के बच्चों को पैसे देकर पथराव कराते हैं हालांकि वो इसकी जांच करा रहे हैं ! उनके पास इस संबंध में शिकायत आई है ! उन्होंने कहा कि वो इस मामले की जांच करा रहे हैं !

तु यदीति प्रकारस्य वार्ता: संमुखमागच्छन्ति तर्हि केचन न केचन कारणं भविष्यति ! कश्चितापि कं कश्चितं प्रत्यां इति प्रकारस्य वार्ता करिष्यति ! दिग्विजय सिंह: कथ्यति तत भाजपाम् सांप्रदायिक राजनित्यां दक्षता ळब्धमस्ति त: च् सत्तायां निर्मितुं कश्चितापि स्तरमेव गन्तुं शक्नोति !

लेकिन अगर इस तरह की बातें सामने आ रहीं हैं तो कुछ न कुछ वजह होगी ! कोई भी क्यों किसी के खिलाफ बारे में इस तरह की बात करेगा ! दिग्विजय सिंह कहते रहे हैं कि बीजेपी को सांप्रदायिक राजनीति में महारत हासिल है और वो सत्ता में बने रहने के लिए किसी भी स्तर तक जा सकती है !

खरगोन हिंसायां मध्यप्रदेशस्य पूर्व मुख्यमंत्री कांग्रेसस्य च् वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह: कथित: तत पंडित द्वारका, पंडित मिश्र: मया कथितुं करोति स्म तत यदैव सीएम नेच्छति तदैव उत्पातानि भवितुं न शक्नुतं ! बाबरी मस्जिद विध्वंसस्यानंतरमहम् मुख्यमंत्री भवित: !

खरगोन हिंसा पर मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस के सीनियर नेता दिग्विजय सिंह ने कहा कि पंडित द्वारका, पंडित मिश्रा मुझसे कहा करते थे कि जब तक सीएम नहीं चाहते तब तक दंगे नहीं हो सकते ! बाबरी मस्जिद विध्वंस के बाद मैं मुख्यमंत्री बना !

२००३ तमैव कश्चितोत्पातं किं नाभवत् ? कुत्रचित अहम् सांप्रदायिक कलहमुत्पादकान् अवरुद्धं कृतः स्म ! देशस्य भिन्न-भिन्न राज्येषु रामनवाम्या: उत्सवे उत्पन्नम् सांप्रदायिकोत्पातानि पूर्णप्रकारम् प्रायोजितं सन्ति यस्य पश्च च् निश्चितस्वरूपम् कार्यम् करोति !

2003 तक कोई दंगा क्यों नहीं हुआ ? क्योंकि मैंने सांप्रदायिक तनाव भड़काने वालों को गिरफ्तार किया था ! देश के अलग-अलग राज्यों में रामनवमी के त्योहार पर भड़के सांप्रदायिक दंगे पूरी तरह प्रायोजित हैं और इनके पीछे एक पैटर्न (तय स्वरूप) काम कर रहा है !

धर्मिकोन्मादम् सत्तारूढ़म् भाजपायाः सर्वात् वृहत् अस्त्रम् ज्ञाप्यन् सिंह: इदम् दृढ़कथनमपि कृतः तत केचन मुस्लिमसंगठनम् भाजपाया सह मेलित्वा राजनैतिक क्रीड़ा क्रीडन्ति ! इदम् पृच्छने तत का सः रामनवम्यां भिन्न-भिन्न राज्येषु अभवन् सांप्रदायिक घटनानां पश्च कश्चित निश्चितस्वरूपम् विक्ष्यति !

धार्मिक उन्माद को सत्तारूढ़ बीजेपी का सबसे बड़ा हथियार बताते हुए सिंह ने यह दावा भी किया कि कुछ मुस्लिम संगठन बीजेपी के साथ मिलकर सियासी खेल खेलते हैं ! यह पूछे जाने पर कि क्या वह रामनवमी पर अलग-अलग राज्यों में हुई सांप्रदायिक घटनाओं के पीछे कोई पैटर्न देखते हैं !

सः त्वरितं कथित: तत निश्चितरूपे एकं निश्चित प्रारूपमस्ति इमानि घटना: च् पूर्णरूपं प्रायोजितानि सन्ति ! केचन इदृशानि मुस्लिम संगठनानि सन्ति यत् पूर्णरूपेण भाजपाया सह मेलित्वा क्रीडन्ति ! सिंह: यद्यपि कथित मुस्लिमसंगठनानां नाम व्यक्तं न कृतः !

उन्होंने तुरंत कहा कि निश्चित तौर पर एक पैटर्न है और ये घटनाएं पूरी तरह प्रायोजित हैं ! कुछ ऐसे मुस्लिम संगठन हैं जो पूरे तरीके से बीजेपी के साथ मिलकर खेलते हैं ! सिंह ने हालांकि कथित मुस्लिम संगठनों के नाम जाहिर नहीं किए !

सः आरोपमारोपित: तत भाजपायै धार्मिकोन्मादम् सर्वात् वृहत् अस्त्रमस्ति यस्य हिंदून् मुस्लिमान् पृथककर्तुं राजनीतिक दुरुपयोगम् क्रियते !

उन्होंने आरोप लगाया कि बीजेपी के लिए धार्मिक उन्माद सबसे बड़ा हथियार है जिसका हिंदुओं और मुसलमानों को बांटने के लिए राजनीतिक दुरुपयोग किया जाता है !

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here