21.8 C
New Delhi

मध्यप्रदेश सर्वकारः मा सुरक्षौषधि, मान्नम् इति विधिं आरंभितः, निर्गत: आदेशम् ! मध्य प्रदेश सरकार ने नो वैक्सीन, नो राशन नियम लागू किया, जारी किया आदेश !

Date:

Share post:

इति वर्षस्य अंतमेव देशस्य समस्त वयस्क जनसंख्यां कोविड-१९ सुरक्षौषध्या: न्यूनात्न्यूनम् प्रथममात्रा दत्तस्य केंद्रसर्वकारस्य उद्देश्यं ळब्धुम् मध्य प्रदेश सर्वकारः केचन तीक्ष्ण पगानि उत्थित: !

इस साल के अंत तक देश की समस्त व्यस्क आबादी को कोविड-19 वैक्सीन की कम से कम पहली खुराक देने के केंद्र सरकार के उद्देश्य को प्राप्त करने के लिए मध्य प्रदेश सरकार ने कुछ कड़े कदम उठाए हैं !

इमानि पगानि इदृशान् जनान् सुरक्षौषधि नीतुं विवश करिष्यति ये टीकानीतै: संशयमनुभवन्ति ! मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहानस्य नेतृत्वकः एमपी सर्वकारः ८ नवंबरस्य एके आदेशे घोषितवन्तः !

ये कदम ऐसे लोगों को वैक्सीन लेने के लिए मजबूर करेंगे जो टीका लेने से हिचकिचाते हैं ! मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के नेतृत्व वाली एमपी सरकार ने 8 नवंबर के एक आदेश में घोषणा की है !

राज्य प्रशासनम् स्वसंपूर्ण जनसंख्यायाः टीकाकरण कृताय स्व प्रतिबद्धतायां अचल: अस्ति, यस्मै केचन नव संशोधनम् कृतवान !

राज्य प्रशासन अपनी पूरी आबादी का टीकाकरण कराने के लिए अपनी प्रतिबद्धता पर कायम है, जिसके लिए कुछ नए सुधार किए गए हैं !

नवाधिसूचनायाः अनुसारम्, अन्नस्य आपणेषु लाभम् ळब्धुम् सम्प्रति सर्वेभ्यः टीकानां स्व द्वेमात्रा ळब्धुम् अनिवार्यमस्ति !

नई अधिसूचना के अनुसार, राशन की दुकानों पर लाभ प्राप्त करने के लिए अब सभी के लिए टीके के अपने दोनों शॉट्स प्राप्त करना अनिवार्य है !

निर्देशे कथितं तत सर्वा: अन्नपत्र धारकेभ्यः सुरक्षा औषधि द्वेमात्रा ळब्धुमनिवार्यमस्ति इदं च् विक्रतायाः अपि जिम्मेवारिमस्ति तत सः अन्वेषणतु तत ग्राहक: एतस्य शिष्टाचारस्य पालनम् कृतवान न वा !

निर्देश में कहा गया है कि सभी राशन कार्ड धारकों के लिए वैक्सीन की दोनों खुराक प्राप्त करना अनिवार्य है और यह विक्रेता की भी जिम्मेदारी है कि वह जांच करे कि ग्राहक ने इन प्रोटोकॉल का पालन किया है या नहीं !

यदि विक्रेताम् ज्ञातम् भवति तत ग्राहकम् तस्य प्रथम द्वितीय वा मात्रा न ळब्धितः, तर्हि तेनक्रेताया निकषा चिकित्सालयं गन्तुम् स्वम् च् टीका नीतस्य आग्रह करणीय: !

यदि विक्रेता को पता चलता है कि ग्राहक को उनकी पहली या दूसरी खुराक नहीं मिली है, तो उसे खरीदार से नजदीकी अस्पताल जाने और खुद को टीका लगवाने का आग्रह करना चाहिए !

यस्यातिरिक्तं, तानि जनानां एकम् अनुक्रमणिकाम् निर्मिष्यते यत् एतेषां दिशानिर्देशानां पालने विफल: रमन्ति इदं च् सुनिश्चितं कृतं विक्रेतायाः कर्तव्यमस्ति तत इदृशान् जनान् अन्नमुपलब्धम् न कारयतु !

इसके अलावा, उन लोगों की एक सूची बनाई जाएगी जो इन दिशानिर्देशों का पालन करने में विफल रहते हैं और यह सुनिश्चित करना विक्रेता का कर्तव्य है कि ऐसे लोगों को राशन उपलब्ध नहीं कराया जाए !

यस्मात् पूर्व मध्यप्रदेशस्य सिंगरौल्या: जिलाधिकारी एकमादेशम् निर्गत्वा १५ दिसंबरस्यानंतरम् कोविड- १९ इतस्य टीका न नीतकानां विरुद्धम् प्राथमिकी पंजीकृतस्य याचनां कृतमासीत् !

इससे पहले मध्यप्रदेश के सिंगरौली के जिलाधिकारी ने एक आदेश जारी कर 15 दिसंबर के बाद कोविड-19 का टीका नहीं लेने वालों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज करने की मांग की थी !

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

spot_img

Related articles

जोधपुरस्य सर्वकारी विद्यालये हिजाब धारणे संलग्ना: छात्रा: ! जोधपुर के सरकारी स्कूल में हिजाब पहनने पर अड़ी छात्राएँ !

राजस्थानस्य जोधपुरे हिजाब इतम् गृहीत्वा प्रश्नं अभवत् ! सर्वकारी विद्यालये छात्रा: हिजाब धारणे गृहीत्वा संलग्नवत्य:, तु तेषां परिजना:...

मेलकम् दर्शनमगच्छन् हिंदू महिला: शमीम: सदरुद्दीन: चताडताम्, उदरे अकुर्वताम् पादघातम् ! मेला देखने गईं हिन्दू महिलाओं को शमीम और सदरुद्दीन ने पीटा, पेट पर...

उत्तरप्रदेशस्य फर्रुखाबाद जनपदे एकः हिंदू युवके, तस्य मातरि भगिन्यां च् घातस्य वार्ता अस्ति ! घातस्यारोपम् शमीमेण सदरुद्दीनेण च्...

हल्द्वानी हिंसायां आहूय-आहूय हिंदू वार्ताहरेषु अभवन् घातम् ! ऑपइंडिया इत्यस्य ग्राउंड सूचनायां रहस्योद्घाटनम् ! हल्द्वानी हिंसा में चुन-चुन कर हिंदू पत्रकारों पर हुआ हमला...

उत्तराखंडस्य हल्द्वानी हिंसायां उत्पातकाः आरक्षक प्रशासनस्यातिरिक्तं घटनायाः रिपोर्टिंग कुर्वन्ति हिंदू वार्ताहरानपि स्वलक्ष्यमकुर्वन् स्म ! ते आहूय-आहूय वार्ताहरेषु घातमकुर्वन्...

हल्द्वान्यां आहतानां सुश्रुषायै अग्रमागतवत् बजरंग दलम् ! हल्द्वानी में घायलों की सेवा के लिए आगे आया बजरंग दल !

हल्द्वान्यां अवैध मदरसा-मस्जिदम् न्यायालयस्य आज्ञायाः अनंतरम् प्रशासनम् धराभीम गृहीत्वा ध्वस्तकर्तुं प्राप्तवत् तु सम्मर्द: उग्राभवन् ! प्रस्तर घातमकुर्वन्, गुलिकाघातमकुर्वन्,...