मध्यप्रदेशे आरम्भयन् पंख इत्यभियानम् ! मध्य प्रदेश में शुरू हुआ पंख अभियान !

0
468

राष्ट्रीय बालिका दिवसस्य अवसरे मध्यप्रदेशस्य मुख्यमंत्री शिवराज चौहान: बालिकानां सशक्तीकरणाय विकासाय पंख इत्यभियानं आरम्भयत: ! कार्यक्रमे बदित: चौहान: कथितः वयं पुत्री रक्षित: पुत्री पठित: इत्यस्यानुरूपम् अद्य पंख इति अभियानमारम्भयन्ति !

राष्ट्रीय बालिका दिवस के अवसर पर मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने बालिकाओं के सशक्तीकरण और विकास के लिए पंख अभियान शुरू किया ! कार्यक्रम में बोलते हुए चौहान ने कहा हम बेटी बचाओ बेटी पढाओ के तहत आज पंख अभियान शुरू कर रहे हैं !

इति कालम् सः अस्य अर्थमपि बदित: ! सः कथितः,पंखे पी इति सुरक्षायास्ति,ए इति स्व अधिकाराणि गृहित्वा जागरूकताम्,एन इति पोषणायास्ति,के इति ज्ञानाय कुत्रचित प्रत्येक क्षेत्रे प्रगत्यासि एच स्वास्थ्यायास्ति च् ! येन एकम् वर्षमेव संचालिष्यते !

इस दौरान उन्होंने इसका अर्थ भी बताया ! उन्होंने कहा,पंख में P सुरक्षा के लिए है,A अपने अधिकारों को लेकर जागरूक रहना,N पोषण के लिए है,K ज्ञान के लिए ताकि हर क्षेत्र में प्रगति हो और H स्वास्थ्य के लिए है ! इसे एक साल तक जारी रखा जाएगा !

सः कथितः यदा अहम् विधायक निर्मत:,तदा अहम् निर्धनकुटुंबानां बालिकानां पाणिग्रहणेभ्यः एकम् योजनामारम्भयत: कुत्रचित तया भारं न मान्यत: !

उन्होंने कहा जब मैं विधायक बना,तो मैंने गरीब परिवारों की लड़कियों की शादी के लिए एक योजना शुरू की ताकि इसे बोझ न समझा जाए !

यदा अहम् मुख्यमंत्री निर्मत:,तदा अहमेच्छामि स्म बालिकान् एकस्य वरदानस्य रूपे पश्यतः,भारं नातएव अहम् लाड़ली लक्ष्मी योजना इति आनयत: !

जब मैं मुख्यमंत्री बना,तो हम चाहते थे कि लड़कियों को एक वरदान के रूप में देखा जाए, बोझ नहीं इसलिए हम लाड़ली लक्ष्मी योजना लाए !

मुख्यमंत्री लाड़ली लक्ष्मी योजनायाः अनुरूपम् २६०९९ बालिकान् ६.४७ कोटि रूपकस्य छात्रवृत्त्या: प्रस्तुत: ! सः वीडियो कांफ्रेंसिंग इत्येन छात्राभिः वार्तालापम् कृतः !

मुख्यमंत्री ने लाड़ली लक्ष्मी योजना के तहत 26,099 लड़कियों को 6.47 करोड़ रुपए की छात्रवृत्ति की पेशकश की ! उन्होंने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए छात्राओं से बातचीत की !

इति संबंधे शिवराज सिंह: बहु ट्वीतमपि कृतः कथितः च् राष्ट्रीय बालिका दिवसे शुभाशयाः ! पुत्र्य: भारम् नापितु कुटुंबस्य,समाजस्य राष्ट्रस्य वा आधार: सन्ति !

इस संबंध में शिवराज सिंह ने कई ट्वीट भी किए और कहा नेशनल गर्ल्स चाइल्ड डे पर शुभकामनाएं ! बेटियां बोझ नहीं अपितु परिवार,समाज व राष्ट्र का आधार हैं !

अनेकानां विषमतानां उपरंत पुत्र्य: प्रत्येक क्षेत्रे सफलताम् लभध्वा वंशस्य राष्ट्रस्य च् गौरवम् बर्धयन्ति ! तया अवसरम् दानिया,अयमेव श्रेष्ठ समाजस्य राष्ट्र निर्माणस्य वा स्वप्नम् साकारम् करिष्यन्ति !

अनेक विषमताओं के बावजूद बेटियां हर क्षेत्र में सफलता प्राप्त कर कुल और राष्ट्र का गौरव बढ़ा रही हैं ! इन्हें अवसर दीजिए,यही श्रेष्ठ समाज व राष्ट्र निर्माण का स्वप्न साकार करेंगी !

भवान् पुत्रीनाम् स्वप्नानि पंख इति दत्त:,इमा: भवतः स्वप्नानि उड़ान इति दाष्यन्ति साकारम् करिष्यन्ति च् ! प्रत्येक पुत्री बहु संबंधानि पूर्णताया सह जीवति,तदा तयापि साधिकार जीवनस्याधिकारम् लभ्धनीयः !

आप बेटियों के सपनों को पंख दीजिए,ये आपके सपनों को उड़ान देंगी और साकार करेंगी ! हर बेटी अनेक रिश्ते को पूर्णता के साथ जीती है,तो उसे भी साधिकार जीने का हक मिलना चाहिए !

राष्ट्रीय बालिका दिवस २०२१ तमे वयं अयम् प्रणत: तत प्रत्येक पुत्रीम् तस्या: इदमधिकारम् लभ्धिष्यति ! एके ट्विते सः कथितः तत पंख इति अभियानस्य शुभारंभ कार्यक्रमे पुत्रीनाम् ऊर्जामयी उपस्थित्या हृदयम् बहु उत्साहेनानंदेन वा परिपूर्णत: !

नेशनल गर्ल चाइल्ड डे 2021 पर हम सब यह प्रण करें कि हर बेटी को उसका यह हक मिलेगा ! एक ट्वीट में उन्होंने कहा कि पंख अभियान के शुभारंभ कार्यक्रम में बेटियों की ऊर्जामयी उपस्थिति से मन असीम उत्साह व आनंद से भर गया !

अस्या: पिच्छानि तीक्ष्ण कृतस्य मम संकल्पम् अतितीक्ष्ण भवित:,कुत्रचित इमा: स्व उच्च उड्डानेन प्रदेशस्य देशस्य च् गौरवम् बहु उच्चा: एव नीयतुम् शक्नुत: !

इनके पंखों को मजबूत करने का मेरा संकल्प और मजबूत हुआ,ताकि ये अपनी ऊंची उड़ान से प्रदेश और देश के गौरव को असीम ऊंचाइयों तक पहुंचा सकें !

पुत्र्य: अस्माकं धीरता सन्ति,शौर्य,कर्म शुभशयाः च् सन्ति,वास्तवे अस्या: विना विश्वम् चरितुम् न शक्नोति ! इमाः अस्माकं संस्कार: सन्ति तत वयं पुत्राणाम् न,पुत्रीणाम् पूजनम् कुर्वन्ति !

बेटियां हमारी साहस हैं,शौर्य,कर्म और शुभकामनाएं हैं,सचमुच में इनके बिना दुनिया नहीं चल सकती है ! ये हमारे संस्कार हैं कि हम बेटों की नहीं,बेटियों की पूजा करते हैं !

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here