21.8 C
New Delhi

स्वकुटुंबिनः त्यक्तंतर्हि मध्यप्रदेशारक्षकः वृद्ध महिलां दत्तमाश्रयं, सत्य घटना यत्त रूदिष्यन्ते ! अपनों ने छोड़ा तो मध्य प्रदेश पुलिस ने वृ्द्ध महिला को दिया सहारा, सच्ची घटना जो रुला देगी !

Date:

Share post:

वृहद यत्नेण तां स्व शिशून् परिपालिष्यति पोषणिष्यति ! न्यूनाधिकं आशाम् रमिष्यति तस्य पुत्रा: वृद्धावस्थायां आधार: भविष्यन्ति ! तु तस्या: नियत्यां केचनान्यमेव स्वीकार्यमासीत् ! प्रकरणम् मध्यप्रदेशस्य इंदौरस्यास्ति यत्र एका वृद्धा महिलाम् तस्या: स्वकुटुंबिन: त्यक्ता: !

बड़े जतन से उसने अपने बच्चों को पाला पासा होगा ! थोड़ी बहुत उम्मीद रही होगी उसके बेटे बुढ़ापे में सहारा बनेंगे ! लेकिन उसकी नसीब में कुछ और ही मंजूर था ! मामला मध्य प्रदेश के इंदौर का है जहां एक वृद्ध महिला को उसके अपनों ने छोड़ दिया !

यदा तस्या: सहाय्याय कश्चित अग्रम् नागतं तर्हि एसआई अनिला पराशर तस्या: सहाय्य कृता ! वस्तुतः इति प्रकारस्य प्रकरणानि कश्चित एकम् नगरैव सीमितं नास्ति ! कुत्रैवानाथानां सहाय्याय जनाः आगच्छन्ति तर्हि बहवः जनाः प्रवासस्य लक्ष्यं भवन्ति !

जब उसकी मदद के लिए कोई आगे नहीं आया तो सब इंस्पेक्टर अनिला पराशर ने उसकी मदद की ! दरअसल इस तरह के मामले किसी एक शहर तक सीमित नहीं हैं ! कहीं बेसहारों की मदद के लिए लोग आते हैं तो ज्यादातर लोग गुरबत के शिकार होते हैं !

इंदौरस्य वासिन् वृद्धा महिलायाः अनुरूपम् तस्या: स्वकुटुंबिन: गृहात् निःसृता: ! गृहात् निस्सरणस्य अनंतरम् तयावगम्यतुम् नागता तत सम्प्रति अग्रम् किं करणीयं ! हस्तयो केचन वस्तूनि गृहीत्वा ता निःसृता !

इंदौर की रहने वाली वृद्ध महिला के मुताबिक उनके अपनों ने घर से निकाल दिया ! घर से निकाले जाने के बाद उन्हें समझ में नहीं आया कि अब आगे क्या करना चाहिए ! हाथ में कुछ सामान लेकर वो निकल पड़ीं !

तया इदम् न ज्ञातमासीत् तत तस्या: लक्ष्यं किमस्ति ! तस्या: वासस्थानम् किं भविष्यति ! तु तस्या: दैवे कश्चित अज्ञात जनस्य सहाय्यालिखत् स्म ! तस्या: सहाय्याय ता जन: आगता येन ता न ज्ञायति स्म !

उन्हें यह नहीं पता था कि उनकी मंजिल क्या है ! उनका ठिकाना क्या होगा ! लेकिन उनकी किस्मत में किसी अंजान की मदद लिखी थी ! उनकी मदद के लिए वो शख्स आई जिसे वो जानती नहीं थीं !

वार्ता ता मध्यप्रदेशारक्षके एसआई अनिला पराशर्या: करोति स्म ! अनिला पराशरेण पूर्व शीतेन रक्षणार्थम् कम्बलकम् दत्ताग्रम् च् सहाय्यस्य विश्वासम् दत्ता !

बात वो मध्य प्रदेश पुलिस में एसआई अनिला पराशर की कर रहीं थीं ! अनिला पराशर से पहले ठंड से बचने के लिए कंबल दिया और आगे मदद करने की भरोसा दिया !

इंदौरारक्षके एसआई अनिला पराशर कथिता तत यदा सा तां महिलाम् पीड़िता दर्शिता तर्हि तस्या: पार्श्व गता समस्त ज्ञानम् ळब्धं ! शीतस्य कारणेन ता पीड़ितासीत् तर्हि सर्वात् प्रथम तया कम्बलम् दत्ता विश्वासम् च् दत्ता तत तया सह न्यायम् भविष्यति !

इंदौर पुलिस में सब इंस्पेक्टर अनिला पराशर ने कहा कि जब उन्होंने उस महिला को हैरान परेशान देखा तो उसके पास गईं और सारी जानकारी मिली ! ठंड की वजह से वो परेशान थीं तो सबसे पहले उन्हें कंबल दिया और भरोसा दिया कि उनके साथ न्याय होगा !

वस्तुतः वृद्धावस्थायाः कारणेन तस्या: स्वकुटुंबिन: तया धृतुम् नेच्छन्ति स्म ! वृद्धा महिलायाः पार्श्व यदा कश्चित वासम् न ळब्धा तर्हि ता निःसृता ! वस्तुतः तस्या: गृहवासिनै: संपर्कम् कृत्वा तै: अवगम्यस्य प्रयत्नम् करिष्यते !

दरअसल बुढ़ापे की वजह से उनके अपने उन्हें रखना नहीं चाहते थे ! वृद्ध महिला के पास जब कोई और ठिकाना नहीं मिला तो वो निकल गईं ! फिलहाल उनके घर वालों से संपर्क कर उन्हें समझाने की कोशिश की जाएगी !

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

spot_img

Related articles

जोधपुरस्य सर्वकारी विद्यालये हिजाब धारणे संलग्ना: छात्रा: ! जोधपुर के सरकारी स्कूल में हिजाब पहनने पर अड़ी छात्राएँ !

राजस्थानस्य जोधपुरे हिजाब इतम् गृहीत्वा प्रश्नं अभवत् ! सर्वकारी विद्यालये छात्रा: हिजाब धारणे गृहीत्वा संलग्नवत्य:, तु तेषां परिजना:...

मेलकम् दर्शनमगच्छन् हिंदू महिला: शमीम: सदरुद्दीन: चताडताम्, उदरे अकुर्वताम् पादघातम् ! मेला देखने गईं हिन्दू महिलाओं को शमीम और सदरुद्दीन ने पीटा, पेट पर...

उत्तरप्रदेशस्य फर्रुखाबाद जनपदे एकः हिंदू युवके, तस्य मातरि भगिन्यां च् घातस्य वार्ता अस्ति ! घातस्यारोपम् शमीमेण सदरुद्दीनेण च्...

हल्द्वानी हिंसायां आहूय-आहूय हिंदू वार्ताहरेषु अभवन् घातम् ! ऑपइंडिया इत्यस्य ग्राउंड सूचनायां रहस्योद्घाटनम् ! हल्द्वानी हिंसा में चुन-चुन कर हिंदू पत्रकारों पर हुआ हमला...

उत्तराखंडस्य हल्द्वानी हिंसायां उत्पातकाः आरक्षक प्रशासनस्यातिरिक्तं घटनायाः रिपोर्टिंग कुर्वन्ति हिंदू वार्ताहरानपि स्वलक्ष्यमकुर्वन् स्म ! ते आहूय-आहूय वार्ताहरेषु घातमकुर्वन्...

हल्द्वान्यां आहतानां सुश्रुषायै अग्रमागतवत् बजरंग दलम् ! हल्द्वानी में घायलों की सेवा के लिए आगे आया बजरंग दल !

हल्द्वान्यां अवैध मदरसा-मस्जिदम् न्यायालयस्य आज्ञायाः अनंतरम् प्रशासनम् धराभीम गृहीत्वा ध्वस्तकर्तुं प्राप्तवत् तु सम्मर्द: उग्राभवन् ! प्रस्तर घातमकुर्वन्, गुलिकाघातमकुर्वन्,...