देवेंद्र फडणवीसस्य लक्ष्ये आगतः उद्धव ठाकरे: ! देवेंद्र फडणवीस के निशाने पर आए उद्धव ठाकरे !

0
249

महाराष्ट्रस्य राजनीत्याम् एकदा यलगार परिषद चर्चायामस्ति तदा तस्य कारणम् उद्धव सरकारः भाजपाया: लक्ष्ये अस्ति ! पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस: सरलरूपे लक्ष्यम् लक्ष्यत: !

महाराष्ट्र की राजनीति में एक बार यलगार परिषद चर्चा में है तो उसके बहाने उद्धव सरकार बीजेपी के निशाने पर है ! पूर्व सीएम देवेंद्र फडणवीस ने सधे अंदाज में निशाना साधा !

सः कथितः ततायम् वृहद आश्चर्यस्य वार्तास्ति तत शिवसेनायाः नेता यत् मात्र केचन मासानि पूर्वैव यलगार परिषदस्य विरुद्धम् अग्नि उद्भवते स्म अद्य सः स्व मुखे पट्टिका बंध्यत: !

उन्होंने कहा कि यह बड़े आश्चर्य की बात है कि शिवसेना के नेता जो महज कुछ महीनों पहले तक यलगार परिषद के खिलाफ आग उगलते रहते थे आज उन्होंने अपने मुंह पर पट्टी बांध ली है !

यलगार परिषदस्य वर्तमान भाषणे भाजपाया: देवेंद्र फडणवीस: कथितः शार्जील उस्मानी नामकस्य एक: मानवः भीषण विचारेण सह पुणे आगच्छति हिंदून् च् भयकरः इति कथ्यति ! राज्य सरकारं तस्य विरुद्धम् कार्यवाहिम् करणीय: !

यलगार परिषद के हालिया भाषण पर भाजपा के देवेंद्र फडणवीस ने कहा शार्जील उस्मानी नाम का एक शख्स भयानक सोच के साथ पुणे आता है और हिंदुओं को भयानक कहता है ! राज्य सरकार को उसके खिलाफ कार्रवाई करनी चाहिए !

किं महाराष्ट्रे मुगल इति शासनमस्ति तत कश्चितापि हिंदुनां दुरुपयोगम् कर्तुम् शक्नोति कश्चित च् कार्यवाहिम् न क्रियते ? अद्य महाराष्ट्रस्य प्रत्येक मानवः पृच्छति तत उद्धव महाशय: यत् वृहद वृहद वार्तय: कारयते स्म अंतम् स्व जिह्वायाम् तालयंत्राणि किं अवरुद्धताः !

क्या महाराष्ट्र में मुगल शासन है कि कोई भी हिंदुओं का दुरुपयोग कर सकता है और कोई कार्रवाई नहीं की जाती है ? आज महाराष्ट्र का हर एक शख्स पूछ रहा है कि उद्धव जी जो बड़ी बड़ी बातें किया करते थे आखिर अपनी जुबां पर ताले क्यों लगा लिए हैं !

महाराष्ट्र सरकारं ज्ञातमस्ति तत यलगार परिषद केवलं घृणा उत्पादेभ्यः आयोजितम् क्रियते,सः इत्यात् पूर्वैपि कृतवान !

महाराष्ट्र सरकार को पता है कि यलगार परिषद केवल घृणा पैदा करने के लिए आयोजित की जाती है,उन्होंने इससे पहले भी किया है !

यदि तस्य विरुद्धम् कश्चित कार्यवाहिम् न क्रियते,तदा भाजपा अस्य विरुद्धम् विरोध प्रदर्शनम् करिष्यते,अयम् च् स्पष्टम् भविष्यति तत ठाकरे सर्कारस्य समर्थनेन सह कथनं दत्त: स्म !

यदि उनके खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की जाती है,तो भाजपा इसके खिलाफ विरोध प्रदर्शन करेगी,और यह स्पष्ट होगा कि ठाकरे सरकार के समर्थन के साथ बयान दिया गया था !

सः कथितः तत उद्धव ठाकरे यत् स्वयम् हिंदू हृदय सम्राट: इति कथ्यते स्म ! तस्य मूकता स्पष्टयति तत हिंदून् ताः केवलं स्व राजनीतिक हितानि साधानाय कारयते स्म !

उन्होंने कहा कि उद्धव ठाकरे जो खुद को हिंदू हृदय सम्राट कहा करते थे ! उनकी चुप्पी साबित करती है कि हिंदुओं को वो सिर्फ अपने राजनीतिक हितों को साधने के लिए किया करते थे !

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here