महाकाल क्षेत्रस्य पार्श्व निर्मितं मस्जिदस्य अवैध अंशमक्रियते ध्वस्तम् ! महाकाल क्षेत्र के पास बनी मस्जिद का अवैध हिस्सा किया गया ध्वस्त !

0
213

मध्यप्रदेशस्य उज्जैन स्थितं महाकाल क्षेत्रस्य रुद्रसागरे गुरूवासरम् तकिया मस्जिदस्य अतिक्रमणं अंशानि ध्वस्तमक्रियते ! बहु आरक्षकरशक्तिस्य उपस्थितियाम् इति अवैध निर्माणं ध्वस्तम् कृतवंत: !

मध्य प्रदेश के उज्जैन स्थित महाकाल क्षेत्र के रुद्रसागर में गुरुवार को तकिया मस्जिद के अतिक्रमण वाले हिस्से को ध्वस्त कर दिया गया ! भारी पुलिस बल की मौजूदगी में इस अवैध निर्माण को ध्वस्त किया गया !

अत्रैव प्राप्तम् सर्वाणि मार्गानि पूर्वेव बैरिकेड इति स्थापित्वा अवरोधयते ! कश्चितापि प्रकारस्य अप्रिय घटनाया निवर्ताय इति प्रान्तरे गुरूवासरम् प्रातः कालात् लगभगम् ५०० मीटर इत्यस्य क्षेत्रे ६०० तः अधिकम् आरक्षककर्मीनि नियुक्तमासन् !

यहां तक पहुंचने वाले सभी रास्तों को पहले ही बैरिकेड लगाकर रोक दिया गया ! किसी भी तरह की अप्रिय घटना से निपटने के लिए इस इलाके में गुरुवार सुबह से करीब 500 मीटर के दायरे में 600 से अधिक पुलिसकर्मी तैनात थे !

फोटो साभार दैनिक हिंदुस्तान समाचार पत्र

वस्तुतः सर्वोच्चन्यायालयः १ सितंबर इतमेव महाकाल मन्दिरम् गृहित्वा वृहद आदिशतः अकथयत् स्म तत मन्दिरस्य ५०० मीटर इत्यस्य परिधियाम् अतिक्रमणं निवारयते ! इत्येव आज्ञायाः अनुरूपम् इयम् कार्यवाहिम् अक्रियते !

दरअसल सुप्रीम कोर्ट ने 1 सितंबर को ही महाकाल मंदिर को लेकर बड़ा आदेश देते हुए कहा था कि मंदिर की 500 मीटर की परिधि में अतिक्रमण को हटाया जाय ! इसी आदेश के तहत ये कार्रवाई की गई !

इति कार्यवाहिम् अति गोपनीय प्रकारेण अक्रियते तत कश्चितं पूर्व सूचनैव न अभवत् ! अत्याधिकम् आरक्षकरशक्तिस्य मध्य प्रशासन: धराभीमस्य सहयोगेण मस्जिदस्य अवैध अंशम् अपातयत् !

इस कार्रवाई को इतने गोपनीय तरीके से अंजाम दिया गया कि किसी को पहले भनक तक नहीं लगी ! भारी पुलिस बल के बीच प्रशासन ने जेसीबी की मदद से मस्जिद के अवैध हिस्से को ढहाया !

इयम्कार्यवाहिम्प्रातः ११ वादनैव निरन्तरति ! न्यायालयस्य आज्ञायाः कारणम् दत्त: एएसपी अमरेंद्र सिंह: अबदत् तत इति प्रकारस्य अवैध निर्माणम् पातयस्य प्रक्रिया अग्रमपि निरन्तरिष्यते !

यह कार्रवाई सुबह 11 बजे तक जारी रही है ! कोर्ट के आदेश के हवाला देते हुए एएसपी अमरेंद्र सिंह ने बताया कि इस तरह के अवैध निर्माण को ढहाने की प्रक्रिया आगे भी जारी रहेगी !

अत्याधिकम् आरक्षकस्य कारणम् कश्चित प्रकारस्य कश्चित विरोध प्रदर्शनम् नाभवत् स्म ! मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान: वीडियो कान्फ्रेंसिंग इत्येन अतिक्रमण अभियानस्य समीक्षायाः कृतमासीत् इत्ये च् अधिकारीनां शिथिलतां गृहित्वा क्रोधम् व्यक्तम् कृतमासीत् !

भारी पुलिस के चलते किसी तरह का कोई विरोध प्रदर्शन नहीं हुआ था ! मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए अतिक्रमण अभियान की समीक्षा की थी और इस पर अधिकारियों की सुस्ती को लेकर नाराजगी व्यक्त की थी !

मुख्यमंत्री: अधिकारिनि तीक्ष्ण निर्देशम् दत्तवान तेनस्य परिणाममस्ति तत प्रशासन: अवैध निर्माण कार्येषु स्व धराभीम चालनम् आरम्भयते !

मुख्यमंत्री ने अधिकारियों को सख्त निर्देश दिए और उसी का नतीजा है कि प्रशासन ने अवैध निर्माण कार्यों पर अपना बुलडोजर चलाना शुरू कर दिया है !

तकिया मस्जिदस्य अवैध निर्माणम् पतनाय कति प्रकारम् गोपनियतामक्रियते तस्य आकलनं इत्येव वार्ताया कृतशक्नोति तत अत्र नियुक्त: आरक्षक कर्मिकाणि रात्रि १२ वादनैव न ज्ञातमासीत् तत तेन कुत्र गमनमस्ति !

तकिया मस्जिद के अवैध निर्माण को ढहाने के लिए किस कदर गोपनीयता बरती गई उसका अंदाजा आप इसी बात से लगा सकते हैं कि यहां तैनात पुलिसकर्मियों को रात 12 बजे तक नहीं पता था कि उन्हें कहां जाना है !

बुधवासरम् रात्रि १२ वादनम् यदा तेन आरक्षक गृहे आहुतवान तर्हि तस्य उपरांत तेन ज्ञापयतु तत तेषां नियुक्तिम् कुत्रे भवेत् !

बुधवार रात 12 बजे जब उन्हें पुलिस लाइन में बुलाया गया तो उसके बाद उन्हें जानकारी दी गई कि उनकी तैनाती कहां पर होनी है !

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here