केचन जनाः धर्मस्य नामनि द्वेष: प्रसारयन्ति, भारतस्य प्रगत्यै देशस्यैकतावश्यकी:-एनएसए अजित डोभाल: ! कुछ लोग धर्म के नाम पर नफरत फैला रहे हैं, भारत की प्रगति के लिए देश की एकता जरूरी:-एनएसए अजीत डोभाल !

0
793

राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकारः अजीत डोभाल: शनिवासरम् एके कार्यक्रमे कथित: तत केचन तत्वाः इदृशम् स्थितिं निर्माणस्य प्रयत्नम् कुर्वन्ति यत् भारतस्य प्रगत्यां विघ्नम् कुर्वन्ति ! ते धर्मस्य विचारधारायाः नामनि कटुता संघर्षम् चोत्पादयन्ति !

राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार (एनएसए) अजीत डोभाल ने शनिवार को एक कार्यक्रम में कहा कि कुछ तत्व ऐसा माहौल बनाने की कोशिश कर रहे हैं जो भारत की प्रगति में बाधा डाल रहा है ! वे धर्म और विचारधारा के नाम पर कटुता और संघर्ष पैदा कर रहे हैं !

इदम् पूर्णदेशं प्रभावति देशस्य च् बाह्यापि प्रसरति ! सः कथित: तत विश्वे संघर्षस्य स्थितिमस्ति, यदि अस्माभिः तत स्थित्या पारम् यातुमस्ति तर्हि देशस्य एकतामेकेण सह निर्मितुं धृतमावश्यकमस्ति ! भारतं येन प्रकारेणाग्रम् बर्ध्यति, तस्मात् सर्वानां धर्माणां जनान् लाभम् भविष्यति !

यह पूरे देश को प्रभावित कर रहा है और देश के बाहर भी फैल रहा है ! उन्होंने कहा कि दुनिया में संघर्ष का माहौल है, अगर हमें उस माहौल से निपटना है तो देश की एकता को एक साथ बनाए रखना जरूरी है ! भारत जिस तरह से आगे बढ़ रहा है, उससे सभी धर्मों के लोगों को फायदा होगा !

एनएसए इत्या: उपस्थित्यां अंतर्धार्मिक संवादे सर्व सम्मत्या संकल्पं नीतवन्तः तत पीएफआई इदृशानि च् कश्चितापि अन्य फ्रंट यथा संगठनम्, यत् देश विरोधिन् गतिविधिषु लिप्तम् सन्ति अस्माकं च् नागरिकानां मध्य द्वेष: उत्पादयन्ति !

एनएसए की उपस्थिति में अंतरधार्मिक संवाद में सर्वसम्मति से संकल्प लिया गया कि पीएफआई और ऐसे किसी भी अन्य फ्रंट जैसे संगठन, जो देश विरोधी गतिविधियों में लिप्त हैं और हमारे नागरिकों के बीच नफरत पैदा कर रहे हैं !

तै: प्रतिबंधितं करणीयं देशस्य च् विध्या: अनुसारम् तेषां विरुद्धम् कार्यवाहिमारंभनीयं ! सहैव वयं दृढ़तायानुशंसा कुर्वन्ति तत कश्चितापि जनान् संगठनम् वा कश्चितापि माध्यमेण समुदयानां मध्य द्वेष: प्रसारस्य साक्ष्येण सह दोषिन् ळब्धं तर्हि तेषां विरुद्धम् विध्या: प्रावधानानां अनुसारम् कार्यवाहिम् करणीयं !

उन्हें प्रतिबंधित किया जाना चाहिए और देश के कानून के अनुसार उनके खिलाफ कार्रवाई शुरू की जानी चाहिए ! साथ ही हम दृढ़ता से अनुशंसा करते हैं कि किसी भी व्यक्ति या संगठन को किसी भी माध्यम से समुदायों के बीच नफरत फैलाने के सबूत के साथ दोषी पाया गया तो उसके खिलाफ कानून के प्रावधानों के अनुसार कार्रवाई की जानी चाहिए !

एनएसए डोभालस्योपस्थित्यां हजरत सैयद नसरुद्दीन चिश्ती कथित: तत यदा कश्चित घटना भवति तर्हि वयं जुगुप्साम: ! इदम् केचन कृतस्य कालमस्ति ! कट्टरपंथि संगठनेषु अवरोधम् कृतस्य प्रतिबंधितस्य चावश्यकतामस्ति ! किं न तत कश्चितापि कट्टरपंथिनः संगठनमसि, तेषां विरुद्धम् साक्ष्यम् भवे तै: प्रतिबंधितं करणीयं !

एनएसए डोभाल की मौजूदगी में हजरत सैयद नसरुद्दीन चिश्ती ने कहा कि जब कोई घटना होती है तो हम निंदा करते हैं ! यह कुछ करने का समय है ! कट्टरपंथी संगठनों पर लगाम लगाने और प्रतिबंधित करने की जरूरत है ! चाहे वह कोई भी कट्टरपंथी संगठन हो, उनके खिलाफ सबूत होने पर उन्हें प्रतिबंधित कर दिया जाना चाहिए !

एनएसए अजीत डोभाल: कथित: तत मूकदर्शकम् भवस्यापेक्षास्माभिः स्व स्वरं दृढ़ कृतेण सह-सह स्व मतभेदेषु भूमिस्तरे कार्यं कर्तुं भविष्यति ! अस्माभिः भारतस्य प्रति संप्रदायं इदम् अनुभूतिम् कारीतमस्ति तत वयं एकेण सह एकं देशम् सन्ति, अस्माभिः यस्मिन् गर्वमस्ति अत्र च् प्रतिधर्मम् स्वतंत्रतामस्ति !

एनएसए अजीत डोभाल ने कहा कि मूकदर्शक बने रहने के बजाय हमें अपनी आवाज को मजबूत करने के साथ-साथ अपने मतभेदों पर जमीन पर काम करना होगा ! हमें भारत के हर संप्रदाय को यह महसूस कराना है कि हम एक साथ एक देश हैं, हमें इस पर गर्व है और यहां हर धर्म को आजादी है !

हजरत सैयद नसरुद्दीन चिश्ती कथित: तत एकं अंतर्धार्मिक सम्मेलनमायोजितं, शिरम् गातात्त पृथकं यथौद्घोषानीस्लाम विरोधिन: सन्ति ! तालिबानस्य विचारमस्ति, यस्य समाघातमवरुद्ध कक्षाणामपेक्षा भूम्यां करणीयं !

हजरत सैयद नसरुद्दीन चिश्ती ने कहा कि एक अंतरधार्मिक सम्मेलन आयोजित किया गया, सर तन से जुदा जैसे नारे इस्लाम विरोधी हैं ! तालिबान का विचार है, इसका मुकाबला बंद कमरों के बजाय जमीन पर किया जाना चाहिए !

तत पीएफआई असि अन्य संगठनानि वा, भारत सर्वकारम् तेषु प्रतिबंधम् करणीयं ! हजरत सैयद नसरुद्दीन चिश्ती अखिल भारतीय सूफी सज्जाद नाशिन परिषदस्याध्यक्ष: सन्ति, यं एकं अंतर्धार्मिक सम्मेलनमायोजितं स्म यस्मिन् एनएसए अजीत डोभाल: प्रतिभागित: स्म !

वह पीएफआई हो या अन्य संगठन, भारत सरकार को उन पर प्रतिबंध लगाना चाहिए ! हजरत सैयद नसरुद्दीन चिश्ती अखिल भारतीय सूफी सज्जादनाशिन परिषद के अध्यक्ष हैं, जिसने एक अंतरधार्मिक सम्मेलन आयोजित किया था जिसमें एनएसए अजीत डोभाल ने भाग लिया था !

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here