बांग्लादेशम्, कट्टरपंथिन् मुस्लिम छात्रा: हिंदू प्राचार्यं धारणम् कारिता: उपानहानां माला, क्रीडा दर्शितुं रमिताः आरक्षकः ! बांग्लादेश, कट्टरपंथी मुस्लिम छात्रों ने हिंदू प्राचार्य को पहनाई जूतों की माला, तमाशा देखती रही पुलिस !

0
113

बांग्लादेशे नाराइल सदर उप जनपद स्थितं मिर्जापुर यूनाइटेड विद्यालयस्य प्राचार्यम् उपानहानां माला धारणकारित्वा नयेण जनाः खिन्ना: सन्ति ! इदम् घटना १७ जूनस्यास्ति ! विस्मय: इदमस्ति ततारक्षकः मूकदर्शकं निर्मितुं रमितं !

बांग्लादेश में नाराइल सदर उप जिला स्थित मिर्जापुर यूनाइटेड कॉलेज के प्रिंसिपल को जूतों की माला पहनाकर ले जाने से लोग नाराज हैं ! यह वाकया 17 जून का है ! हैरानी यह है कि पुलिस तमाशबीन बनी रही !

ज्ञापितं तत इति विद्यालयस्यैकः छात्र: नूपुर शर्मायाः चित्रम् फेसबुक इत्यां प्रस्तुतं कृतमासीत् ! अग्रिम दिवसं विद्यालये तस्मात् केचन मुस्लिम छात्रा: पोस्ट पृथककृतं कथिता: ! यस्मिन् लोकवाद: प्रसृतं तत प्राचार्य: छात्रस्य पक्षम् नीतमस्ति ! खिन्ना: मुस्लिम छात्रा: द्वयो शिक्षकयो मोटरसाइकिल इत्ये अनलस्य मध्ये क्षिपताः !

बताया गया है कि इस कॉलेज के एक छात्र ने नूपुर शर्मा की तस्वीर फेसबुक पर पोस्ट की थी ! अगले दिन कॉलेज में उससे कुछ मुस्लिम छात्रों ने पोस्ट डिलीट करने को कहा ! इस पर अफवाह फैल गई कि प्रिंसिपल ने छात्र का पक्ष लिया है ! नाराज मुस्लिम छात्रों ने दो शिक्षकों की मोटरसाइकिल को आग के हवाले कर दिया !

यस्यानंतरम् मुस्लिम छात्रा: स्थानीय जनाः च् धर्मस्य अपमानस्यारोपमारोप्यन् प्राचार्य स्वपन कुमार विश्वासस्य ग्रीवायां उपानहानां मालारोपिताः तेन च् बहु द्रुतं अपकृषितः ! इति काळम् आरक्षकः क्रीड़ा दर्शितुं रमित: ! फेसबुक इत्यां इदम् घटना प्रसृतमस्ति !

इसके बाद मुस्लिम छात्रों और स्थानीय लोगों ने मजहब के अपमान का आरोप लगाते हुए प्रिंसिपल स्वपन कुमार विश्वास के गले में जूतों की माला डाल दी और उन्हें काफी दूर तक घसीटा ! इस दौरान पुलिस तमाशा देखती रही ! फेसबुक पर यह घटना वायरल हुई है !

इति घटनायाः विरोधे सोमवासरम् मध्यान्ह ढाकायाः शाहबागे रैल्या: आह्वानम् कृतं ! रैल्या: आयोजकेषु तः एकः राबिन अहसान: कथित: तत घटनायां शिक्षकानां कश्चित भूमिका नास्ति ! आरक्षकः मूकदर्शकं निर्मितुं रमित: ! प्रशासनम् कट्टरपंथिनां हस्तेषू आगतमस्ति !

इस घटना के विरोध में सोमवार दोपहर ढाका के शाहबाग में रैली का आह्वान किया गया है ! रैली के आयोजकों में से एक राबिन अहसान ने कहा उस घटना में शिक्षकों की कोई भूमिका नहीं है ! पुलिस मूकदर्शक बनी रही ! प्रशासन कट्टरपंथियों के हाथ में आ गया है !

नाटककार: जुल्फिकार चंचलस्य कथनमस्ति तत प्राचार्य विश्वासस्य दोषम् केवलं इयतस्ति तत सः नूपुर शर्मायाः चित्रम् प्रस्तुतकः छात्रस्य विरुद्धम् आरक्षकम् दूरभाषम् कृतमासीत् ! विरोधकर्ता: मुस्लिम छात्रा: याचनां करोति स्म ततावसरे इव तेन दंडम् दीयेत् !

नाटककार जुल्फिकार चंचल का कहना है कि प्रिंसिपल विश्वास का दोष सिर्फ इतना है कि उन्होंने नूपुर शर्मा की तस्वीर पोस्ट करने वाले छात्र के खिलाफ पुलिस को फोन किया था ! विरोध करने वाले मुस्लिम छात्र मांग कर रहे थे कि मौके पर ही उसे सजा दे दी जाए !

इति घटनायाः अनंतरम् प्राचार्य कश्चितस्य संपर्के न सन्ति ! आशंकामस्ति भयस्य कारणेन सः स्व गृहम् त्यजित: ! नाराइल सदर आरक्षिस्थानस्य ओसी मोहम्मद शौकत कबीरस्य कथनमस्ति प्राचार्य: कश्चित धर्मस्यापमानम् न कृतः !

इस घटना के बाद प्रिंसिपल किसी के संपर्क में नहीं हैं ! आशंका है दहशत की वजह से उन्होंने अपना घर छोड़ दिया है ! नाराइल सदर पुलिस स्टेशन के ओसी मोहम्मद शौकत कबीर का कहना है प्रिंसिपल ने किसी धर्म का अपमान नहीं किया !

तं दिवसं तेन रक्षणायारक्षकः स्वावरणे नीत: स्म ! सः कश्चितानृतता न कृतः ! अतएव तस्य विरुद्धम् कश्चित प्रकरणम् पंजीकृतं न कृतवान ! यदि सः सुरक्षा याच्यन्ति तर्हि तेन सुरक्षा प्रदानम् करिष्यते !

उस दिन उन्हें बचाने के लिए पुलिस ने अपने घेरे में ले लिया था ! उन्होंने कोई गलती नहीं की ! इसलिए उनके खिलाफ कोई मामला दर्ज नहीं किया गया ! अगर वह सुरक्षा मांगते हैं तो उन्हें सुरक्षा प्रदान की जाएगी !

सौजन्य से सिंडिकेट फीड

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here