कोरोना संकटस्य मध्य पीएम मोदिण: अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेनेन वार्तालापम् ! कोरोना संकट के बीच पीएम मोदी की अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन से बातचीत !

0
370

देशे चरितं कोरोना संकटस्य मध्य भारतस्य पीएम मोदी: अमेरिकायाः राष्ट्रपति जो बिडेनस्य मध्य दूरभाषेन वार्तालापम् अभवत्, सूत्राणां अनुरूपम् ज्ञापयन्ति तत अमेरिका भारतं सहाय्यस्य पूर्णम् विश्वासम् दत्तवान !

देश में जारी कोरोना संकट के बीच भारत के पीएम मोदी ने अमेरिका के राष्ट्रपति जो बिडेन के बीच टेलीफोनिक बातचीत हुई है, सूत्रों के मुताबिक बताते हैं कि अमेरिका ने भारत को मदद का पूरा भरोसा दिया है !

पीएम मोदी: इति वार्तालापस्यानंतरम् कथितः तत वार्ता बहु साधु रमित: ! ज्ञापयन्ति तत पीएम मोदी: बिडेन: च् सुरक्षौषधि असंतृप्त वस्तो: सुचारू आपूर्ति श्रृंखलाषु चर्चाम् कृतौ, सहैव औषध्या: वितरणं गृहित्वापि वार्ताअभवत् अस्यातिरिक्तं स्वास्थ्यरक्षकं रणनीतिक अंशदारिम् प्रत्ये अहम् विमर्शम् भवितौ !

पीएम मोदी ने इस बातचीत के बाद कहा कि वार्ता काफी अच्छी रही है ! बताते हैं कि पीएम मोदी और बिडेन ने वैक्सीन कच्चे माल की सुचारू आपूर्ति श्रृंखलाओं पर चर्चा की, साथ ही दवाओं की सप्लाई को लेकर भी बात हुई है इसके अलावा हेल्थकेयर रणनीतिक साझेदारी के बारे में भी अहम विमर्श हुआ है !

कोविड-१९ स्थित्यां चर्चाम् कृतौ, यस्मिन् भारतस्य चरितं टीकाकरण प्रयासानां माध्यमेन कोविड-१९ इत्यस्य द्वितीय प्रहारेण निर्वाहनाय चरितं प्रयासं महत्वपूर्ण औषधि: च् चिकित्सीय स्वास्थ्य च् संबंधी उपकरणानामापूर्ति सुनिश्चितं सम्मिलित: सन्ति !

COVID-19 स्थिति पर चर्चा की, जिसमें भारत के चल रहे टीकाकरण प्रयासों के माध्यम से COVID-19 की दूसरी लहर से निपटने के लिए चल रहे प्रयास और महत्वपूर्ण दवाओं, चिकित्सीय और स्वास्थ्य संबंधी उपकरणों की आपूर्ति सुनिश्चित करना शामिल है !

राष्ट्रपति बिडेन: भारतेन सह एकजुटता व्यक्त: पुष्टितः च् तत संयुक्त राज्यामेरिका चिकित्सीय, बेंटिलेटर यथा संसाधनान् शीघ्रताया प्रस्तुतम् टीकायाः निर्माणाय च् उपलब्ध कारक: असंतृप्त पदार्थम् गृहित्वा तीव्रताया सह पगम् उत्थायति !

राष्ट्रपति बिडेन ने भारत के साथ एकजुटता व्यक्त की और पुष्टि की कि संयुक्त राज्य अमेरिका चिकित्सीय, वेंटिलेटर जैसे संसाधनों को शीघ्रता से लागू करने और टीके के निर्माण के लिए उपलब्ध कराए जाने वाले कच्चे माल को लेकर तेजी से साथ कदम उठा रहा है !

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी: संयुक्त राज्यामेरिकायाः सर्वकारेण सहाय्यस्य समर्थनस्य च् प्रस्तुत करणाय हार्दा: प्रशंसित: !

प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने संयुक्त राज्य अमेरिका की सरकार से सहायता और समर्थन की पेशकश के लिए हार्दिक सराहना की !

तौ सुरक्षौषधि मैत्रियाः माध्यमेन कोविड-१९ महामारिम् विश्व स्तरे सम्मेलनस्य भारतस्य प्रतिबद्धतायाम् कोवैक्स च् क्वाड सुरक्षौषधि पहले च् अस्य भागीदार्या: उल्लेखितौ !

उन्होंने वैक्सीन मैत्री के माध्यम से COVID-19 महामारी को विश्व स्तर पर शामिल करने की भारत की प्रतिबद्धता और COVAX और क्वाड वैक्सीन पहल में इसकी भागीदारी का उल्लेख किया !

प्रधानमंत्री कोविड-१९ इत्येन संबंधित टीकानां औषधिनां चिकित्सीयस्य च् निर्माणायावश्यकम् असंतृप्त पदार्थ इनपुट इत्यस्य च् सरलं स्वच्छंदं चापूर्ति श्रृंखला सुनिश्चितस्यावश्यकतां रेखांकितौ !

प्रधानमंत्री ने COVID-19 से संबंधित टीकों, दवाओं और चिकित्सीय के निर्माण के लिए आवश्यक कच्चे माल और इनपुट की स्मूद और खुली आपूर्ति श्रृंखला सुनिश्चित करने की आवश्यकता को रेखांकित किया !

द्वयो नेतारौ कोविड-१९ महामारिम् संबोधिताय सुरक्षौषधि विकासे आपूर्त्याम् च् भारत- अमेरिका अंशदार्या: क्षमताम् रेखांकितौ अस्य क्षेत्रे च् स्व प्रयासेषु निकषा समन्वय सहयोग च् निर्मितुम् धृताय स्व संबंधित आधिकारिन् निर्देशितौ !

दोनों नेताओं ने COVID-19 महामारी को संबोधित करने के लिए वैक्सीन विकास और आपूर्ति में भारत-अमेरिका साझेदारी की क्षमता को रेखांकित किया और इस क्षेत्र में अपने प्रयासों में निकट समन्वय और सहयोग बनाए रखने के लिए अपने संबंधित अधिकारियों को निर्देश दिया !

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी: विकासशील देशेभ्यः टीकानां औषधिनां च् त्वरितं न्यूनमूल्यं च् प्राप्तम् सुनिश्चिताय ट्रिप्स इत्ये सहमत्या: मानदंडेषु वरीयाय डब्ल्यूटीओ इत्ये भारतस्य पहलं प्रत्ये राष्ट्रपति बिडेनम् सूचितौ सहैव द्वयो नेतारौ नियमित संपर्के निर्मिताय सहमतम् भवितौ !

प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने विकासशील देशों के लिए टीकों और दवाओं की त्वरित और सस्ती पहुंच सुनिश्चित करने के लिए ट्रिप्स पर समझौते के मानदंडों में छूट के लिए डब्ल्यूटीओ में भारत की पहल के बारे में राष्ट्रपति बिडेन को सूचित किया साथ ही दोनों नेता नियमित संपर्क में बने रहने के लिए सहमत हुए !

दृष्टिगतासि तत भारते संचरितं इति भयावह स्थित्या: मध्य बहु देशानि कोरोनाया रणस्य बहु वस्तुनि, औषध्य:, स्वास्थ्य सेवा असंतृप्त पदार्थं बुनियादी संरचनान् चिकित्सा दलान् प्रेषणस्य प्रस्तुतम् कुर्वन्ति !

गौर हो कि भारत में जारी इस भयावह स्थिति के बीच कई देश कोरोना से लड़ने की तमाम सामग्रियां,दवाइयां, स्वास्थ्य सेवा कच्चे माल और बुनियादी ढाँचे और चिकित्सा टीमों को भेजने की पेशकश कर रहे हैं !

संयुक्त राष्ट्रे अमेरिकायाः राजदूत: सोमवासरं कथितः तत वाशिंगटन कोविड-१९ इत्यस्य प्रकरणेषु भयावह वृद्ध्या: समाघातम् कृतं भारतस्य सहायाय २४ घटकानि कार्यम् करिष्यति !

संयुक्त राष्ट्र में अमेरिका की राजदूत ने सोमवार को कहा कि वाशिंगटन कोविड-19 के मामलों में भयावह वृद्धि का सामना कर रहे भारत की मदद के लिए 24 घंटे काम करेगा !

तत् टीकेभ्यः असंतृप्त वस्तुनि, वेंटिलेटर, प्राणवायु उत्पादनमापूर्ति तथा टीकाकरण विस्ताराय वित्तीय सहाय्येन सह प्रत्येक सहाय्य उपलब्धं कृताये कार्यम् करोति !

वह टीकों के लिए कच्ची सामग्री, वेंटिलेटर, ऑक्सीजन उत्पादन आपूर्ति तथा टीकाकरण विस्तार के लिए वित्तीय सहायता सहित हर मदद उपलब्ध कराने पर काम कर रहा है !

राजदूत लिंडा थॉमस ग्रीनफील्ड एके वर्चुअल संवादे कथिता, अहम् भारते भयावह स्थितिम् प्रत्ये बदनाय एकम् पलम् नीतुम् इच्छामि, तत्र कोविड-१९ इत्यस्य प्रकरणेषु वर्तमाने अभवत् वृद्धिम् बहु भयावहमस्ति ! अमेरिका भारतस्य जनै: सह स्थितम् !

राजदूत लिंडा थॉमस ग्रीनफील्ड ने एक वर्चुअल संवाद में कहा, मैं भारत में भयावह स्थिति के बारे में बताने के लिए एक मिनट लेना चाहती हूँ, वहां कोविड-19 के मामलों में हाल में हुई वृद्धि काफी भयानक है ! अमेरिका भारत के लोगों के साथ खड़ा है !

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here