21.1 C
New Delhi
Tuesday, November 30, 2021

कोरोनायां कीर्तिमान, इतिहास रचये डब्ल्यूएचओ इति भारतम् प्रशंसाम् ! कोरोना पर कीर्तिमान, इतिहास रचने पर डब्ल्यूएचओ ने भारत को सराहा !

Must read

कोरोना टीकायाः १०० कोटि डोज इति प्रयोगस्य कीर्तिमान रचये विश्व स्वास्थ्य संगठनम् भारतस्य प्रशंसाम् कृतमस्ति !

कोरोना टीके का 100 करोड़ डोज लगाने का कीर्तिमान बनाने पर विश्व स्वास्थ्य संगठन ने भारत की प्रशंसा की है !

डब्ल्यूएचओ इतस्य दक्षिण-पूर्व एशियायाः क्षेत्रीय निदेशक डॉ पूनम खेत्रपाल सिंह गुरूवासरम् कथिता तत जीवनरक्षक: एतान् सुरक्षौषधिन् निर्माणस्य एवं येनोपलब्धम् कारयस्य प्रतिबद्धतायाः एवं प्रयासानां संदर्भे भारतस्य प्रगतिमवश्यं दर्शनीयं !

डब्ल्यूएचओ की दक्षिण-पूर्व एशिया की क्षेत्रीय निदेशक डॉक्टर पूनम खेत्रपाल सिंह ने गुरुवार को कहा कि जीवन बचाने वाली इन वैक्सीन को बनाने एवं इसे उपलब्ध कराने की प्रतिबद्धता एवं प्रयासों के संदर्भ में भारत के प्रगति को जरूर देखा जाना चाहिए !

भारत गुरूवासरम् कोरोना महामार्या: १०० कोटि डोज इति प्रदत्तक: विश्वस्य द्वितीय राष्ट्रमभवत् ! डब्ल्यूएचओ इतस्याधिकारी कथिता तत दृढ़ राजनीतिक नेतृत्वम्, विभिन्न विभागानां तारतम्य एवं स्वास्थ्य एवं प्रथमनेतृत्वक: कर्मिनां प्रयासानां कारणमेवेदम् कीर्तिमान संभवम् भवितुम् शक्नुतं !

भारत गुरुवार को कोरोना महामारी की 100 करोड़ डोज लगाने वाला दुनिया का दूसरा देश बन गया ! डब्ल्यूएचओ की अधिकारी ने कहा कि मजबूत राजनीतिक नेतृत्व, विभिन्न विभागों के तालमेल एवं स्वास्थ्य एवं फ्रंटलाइन वर्करों के प्रयासों के चलते ही यह कीर्तिमान संभव हो सका है !

सिंह: कथिता एकान्य नव १०० कोटि टीकानां डोज इति प्रदत्तस्य कीर्तिमान रचितुमहम् भारतं साधुवाद ज्ञापयामि ! भारते पूर्व २४ घटकेषु कोरोना संक्रमणस्य १८४५४ रुग्णा: ळब्धं ! देशे स्वास्थ्य स्थिति ९८.१५ प्रतिशते प्राप्तं यत् तत मार्च २०२० तमेण सर्वातधिकमस्ति !

सिंह ने कहा एक और नया 100 करोड़ टीके का डोज लगाने का कीर्तिमान बनाने के लिए मैं भारत को धन्यवाद देती हूँ ! भारत में पिछले 24 घंटे में कोरोना संक्रमण के 18,454 नए केस मिले ! देश में रिकवरी रेट 98.15 प्रतिशत पर पहुंच गई है जो कि मार्च 2020 से सबसे अधिक है !

पूर्व २४ घटकेषु इति महामार्या १७५६१ जनाः स्वास्थ्य लाभम् ळब्धा: ! येन सहेति महामार्याधुनैव ३३४९५८०८ जनाः स्वास्थ्य लाभम् ळब्धा: ! वर्तमान रुग्णा: समस्त प्रकरणानां एकेन प्रतिशतेन न्यूनम् रमितानि ! देशे वर्तमान रुग्णानां संख्या इति काळम् १७८८३१ सन्ति ! अधुनैव केवलं ५९.५७ अनुसन्धान भवितानि !

पिछले 24 घंटे में इस महामारी से 17,561 लोग ठीक हुए ! इसके साथ इस महामारी से अब तक 3,34,95,808 लोग ठीक हो चुके हैं ! एक्टिव केस कुल मामलों के एक प्रतिशत से नीचे रह गए हैं ! देश में एक्टिव केस की संख्या इस समय 1,78,831 है ! अब तक कुल 59.57 टेस्ट हो चुके हैं !

इदम् कीर्तिमान ळब्धे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी देशस्य वैज्ञानिकानां उद्यमिनां प्रयासानां प्रशंसाम् कृतरस्ति ! सः स्व एके ट्वीते कथित: वयं १३० कोटि भारतीयानां सामूहिक भावनायाः, भारतीय उद्यमस्य एवं विज्ञानस्य जयस्य साक्षीम् निर्माम: ! १०० कोटि डोज इतस्य आंकड़ा ळब्धे अहम् देशम् बधाई ददामि !

यह कीर्तिमान हासिल करने पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश के वैज्ञानिकों एवं उद्यमियों के प्रयासों की सरहाना की है ! उन्होंने अपने एक ट्वीट में कहा हम 130 करोड़ भारतीयों की सामूहिक भावना, भारतीय उद्यम एवं विज्ञान की जीत का साक्षी बन रहे हैं ! 100 करोड़ डोज का आकंड़ा पार करने पर मैं देश को बधाई देता हूँ !

अहं चिकित्सकान् चिकित्सीय सेविकान् तान् सर्वान् साधुवाद ददामि यै: इदम् कीर्तिमान निर्माणे स्व योगदानम् दत्त: ! केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह: १०० कोटि डोज इति प्रदत्तस्य कीर्तिमानम् देशाय गौरवयुक्त क्षणम् ज्ञापित: ! सः यस्मै प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदिण: प्रशंसाम् कृतरस्ति !

मैं डॉक्टर, नर्स सहित उन सभी लोगों को धन्यवाद देता हूँ जिन्होंने यह कीर्तिमान बनाने में अपना योगदान दिया ! केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने 100 करोड़ डोज लगाने के कीर्तिमान को देश के लिए गौरवमयी क्षण बताया है ! उन्होंने इसके लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की प्रशंसा की है !

सः स्व एके ट्वीते कथित: अद्य भारतं १०० कोटितः अधिकम् कोरोना वैक्सीन प्रदत्तस्य लक्ष्यम् लब्ध्वा श्री नरेंद्र मोदी महोदयस्य दूरदर्शी नेतृत्वेण सतत प्रोत्साहनेण वैकमिदृशं कीर्तिमान रचितं यत् संपूर्ण विश्वम् नव भारतस्यापार क्षमताभि: पुनः परिचितं कारितं !

उन्होंने अपने एक ट्वीट में कहा आज भारत ने 100 करोड़ से अधिक कोरोना वैक्सीन लगाने के लक्ष्य को प्राप्त कर श्री नरेंद्र मोदी जी के दूरदर्शी नेतृत्व व निरंतर प्रोत्साहन से एक ऐसा कीर्तिमान बनाया है जिसने पूरे विश्व को नए भारत की अपार क्षमताओं से पुनः परिचित कराया है !

Disclaimer The author is solely responsible for the views expressed in this article. The author carry the responsibility for citing and/or licensing of images utilized within the text. The opinions, facts and any media content in them are presented solely by the authors, and neither Trunicle.com nor its partners assume any responsibility for them. Please contact us in case of abuse at Trunicle[At]gmail.com

- Advertisement -

More articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -

Latest article