कश्मीर फाइल्स चलचित्रे केजरीवालस्य कथनस्य अनंतरम् सोशल मीडियातः मार्गाणि एव कलहम् ! कश्मीर फाइल्स मूवी पर केजरीवाल के बयान के बाद सोशल मीडिया से सड़क तक बवाल !

0
286

कश्मीरे हिन्दुषु उत्पीडनम्, कश्मीरी पंडितानां बर्बर हननानां तेषां पलायनस्य च् सत्यकथानक कथितं चलचित्रम् कश्मीर फाइल्स हिंदुस्तानम् उद्धातानि ! यै: उत्पीडनमभवत्, तै: विगत ३२ वर्षभिः अंतहीन पीड़ाम् तर्हि अनुभवं कर्तुमिव रमति स्म तु यै: कश्मीरी पंडितानां पीड़ा: केवलं कथानकेषु अशृणुन् स्म !

कश्मीर में हिंदुओं पर जुल्म, कश्मीरी पंडितों की बर्बर हत्याएं और उनके पलायन की सच्ची कहानी बयां करती फिल्म कश्मीर फाइल्स ने हिंदुस्तान को झकझोर कर रख दिया है ! जिनसे ज्यादती हुई, वो बीते 32 साल से अंतहीन टीस तो महसूस कर ही रहे थे लेकिन जिन्होंने कश्मीरी पंडितों की सिसकियां सिर्फ कहानियों में सुनी थी !

तै: अपि अधुना चलचित्रेण तत पीड़ायाः अनुभवम् अभवन् ! तु हाय इदम् तत चलचित्र कश्मीर फाइल्स इत्यां राजनित्यापि बहु भवति ! देहल्या: मुख्यमंत्रिन् अरविंद केजरीवाल: विधानसभायाः अभ्यांतरमिति चलचित्रम् गृहीत्वा यत् कथित: तेन सोशल मीडिया तः मार्गाणि एवोद्धातानि !

उन्हें भी अब सिल्वर स्क्रीन के जरिए उस तड़प का अहसास हो चला है ! लेकिन अफसोस ये कि फिल्म कश्मीर फाइल्स पर पॉलिटिक्स भी जमकर हो रही है ! दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने विधानसभा के अंदर इस फिल्म को लेकर जो कहा उसने सोशल मीडिया से सड़क तक उबाल ला दिया है !

तेन भवानत्र चलचित्रे शृणुतुं शक्नोति ! केजरीवाल: कथित: इदम् प्ररोचनमपि न स्थापष्यति अनृतैव चलचित्राणां यतपि च् अन्य कृतमसि न्यूनातन्यूनम् प्रियेदम् चलचित्रस्य वर्णनम् कर्तुं तर्हि अवरोधयतु असाधु परिलक्ष्यसि, शोभाम् न ददान्ति भवतः !

उसे आप यहां वीडियो में सुन सकते हैं ! केजरीवाल ने कहा ये पोस्टर भी नहीं लगवाएंगे झूठी फिल्मों के और जो भी करना हो कम से कम यार ये पिक्चर का प्रमोशन करना तो बंद कर दो गंदे लगते हो, शोभा नहीं देता है आप लोगों को !

प्रिय भवान् साधु जन: असि केचन कर्तुं आगतः स्म राजनित्यां कुत्र चलचित्रस्य प्ररोचनम् वर्णनम् च् कृते संलग्न: ! कथ्यन्ति कश्मीर फाइल्स करमुक्तम् करोतु, अरे यूट्यूब इत्यां प्रेषयतु निःशुल्क-निःशुल्क भविष्यते करमुक्त किं कारयसि ? इयतेव त्वाम् रुचिमस्ति विवेक अग्निहोत्रिम् बदतु यूट्यूब इत्यां प्रेक्ष्यते !

यार आप अच्छे आदमी हो कुछ करने आए थे राजनीति में कहां पिक्चर के पोस्टर और प्रमोशन करने में लगा दिया ! कह रहे हैं कश्मीर फाइल्स टैक्स फ्री करो, अरे यूट्यूब पर डाल दो फ्री-फ्री हो जाएगी टैक्स फ्री क्यों करा रहे हो ? इतना ही तुमको शौक है विवेक अग्निहोत्री को बोलो यूट्यूब पर डाल देगा !

पूर्णचलचित्रं निःशुल्कमस्ति, संपूर्ण जनाः द्रक्ष्यंते, एकमेव दिवसस्य अभ्यांतर करमुक्तस्य कावश्यकतां अस्ति ? केजरीवालस्य कथने चलचित्रस्य नायक: कश्मीरी पंडित: च् अनुपम खेर: उत्तरम् दत्त: ! टाइम्स नाउ नवभारतस्य मुख्यसंपादक नाविका कुमार स्व प्रमुख शो फ्रैंकली स्पीकिंग इत्यां अनुपम खेरेण प्रश्नम् कृता तर्हि तस्य पीड़ा क्रोध: च् उद्घाटित: !

सारी पिक्चर फ्री है, सारे जने देख लेंगे, एक ही दिन के अंदर टैक्स फ्री की क्या जरूरत है ? केजरीवाल के बयान पर फिल्म के एक्टर और कश्मीरी पंडित अनुपम खेर ने जवाब दिया है ! टाइम्स नाउ नवभारत की एडिटर इन चीफ नाविका कुमार ने अपने स्पेशल शो फ्रैंकली स्पीकिंग में अनुपम खेर से सवाल किया तो उनका दर्द और गुस्सा छलक उठा !

इदृशं नास्ति तत केजरीवाल सर्वकारः देहल्यां कश्चित एकम् चलचित्रं करमुक्त कृतमसि, सः स्वयं चलचित्राणां बहु गृत्समस्ति, बहु चलचित्रान् देहल्यां करमुक्त कृतः ! इदृशेषु सोशल मीडिया प्रयोगकर्ता: केजरीवालस्य पुरातन ट्वीतेन तस्य विरुद्धम् खिन्नतायाः प्रदर्शनम् कुर्वन्ति !

ऐसा नहीं है कि केजरीवाल सरकार ने दिल्ली में किसी एक फिल्म को टैक्स फ्री किया हो, वो खुद फिल्मों के बड़े शौकीन हैं, कई फिल्मों को दिल्ली में टैक्स फ्री कर चुके हैं ! ऐसे में सोशल मीडिया यूजर्स केजरीवाल के पुराने ट्वीट के जरिए उनके खिलाफ नाराजगी का इजहार कर रहे हैं !

ट्विटर प्रयोगकर्ता: #KejriwalExposed #KejriwalHatesKPs लेखै: स्वखिन्नता प्रदर्शिताः तर्हि भाजपा कार्यकर्ता: मार्गेषु आगत्वा उद्घोषम् कृताः, पुतला इति दग्धा:, राजनित्यां सरलतायाः प्रकरणस्य समर्थनम् विरोधम् च् कश्चित नववार्ता नास्ति !

ट्विटर यूजर्स ने #KejriwalExposed और #KejriwalHatesKPs ट्रेंड के जरिए अपनी भड़ास निकाली तो बीजेपी कार्यकर्ताओं ने सड़क पर उतरकर नारेबाजी की, पुतला जलाया, सियासत में सहूलियत के मुद्दे का समर्थन और विरोध कोई नई बात नहीं है !

तु स्वैव मृत्तिकातः पलायनस्य पीड़ाम् सह्यन्ति कश्मीरी पंडितेषु निर्मितं चलचित्रं अनृतं कथित: सः अपि अरविंद केजरीवाल यथा नेतारम् प्रत्येन अवगम्येण पृथकमस्ति !

लेकिन अपनी ही मिट्टी से पलायन की पीड़ा झेल रहे कश्मीरी पंडितों पर बनी फिल्म को झूठा करार देना, वो भी अरविंद केजरीवाल जैसे नेता की तरफ से समझ से परे है !

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here