25.7 C
New Delhi

कांग्रेसस्य सर्वकारः भवितं तर्हि वैक्सीन इत्याय हस्तौ प्रसार्यतुम् भवितं, राहुल गांधियि सुशील: बदित: ! कांग्रेस की सरकार होती तो वैक्सीन के लिए हाथ फैलाने पड़ते, राहुल गांधी पर सुशील मोदी बोले !

Date:

Share post:

कोरोन: विरुद्धम् रणे वैक्सिनेशन इति वृहद अस्त्रम् अस्ति ! तु वैक्सिनेशन इतस्य प्रकरणे कांग्रेसम्, केंद्र सर्वकारे प्रहारकरस्ति ! इति विषये राहुल गांधी: केचन चलचित्रान् ट्वीट कृत्वापृच्छत् तताधुना तर्हि जुलै अपि विगतम्, वैक्सीन कुत्र गतम् !

कोरोना के खिलाफ लड़ाई में वैक्सीनेशन बड़ा हथियार है ! लेकिन वैक्सीनेशन के मुद्दे पर कांग्रेस, केंद्र सरकार पर हमलावर है ! इस विषय पर राहुल गांधी ने कुछ वीडियो को ट्वीट कर पूछा कि अब तो जुलाई भी बीत गई, वैक्सीन कहां गई !

तस्य इति ट्वीते स्वास्थ्यमंत्री मनसुथ मांडविया: त्वरितं प्रतिउत्तरम् कृतः ! राज्यसभा सांसद: सुशील कुमार मोदी: अपि पश्च न रमित: ! सः कथित: तत कांग्रेसमेदम् न विस्मृतं तत तस्य राजे विदेशी टीकाभि: पोलियो उन्मूलने २६ वर्षम् गतानि स्म !

उनके इस ट्वीट पर स्वास्थ्य मंत्री मनसुथ मांडविया ने तुरंत पलटवार किया ! राज्य सभा सांसद सुशील कुमार मोदी भी पीछे नहीं रहे ! उन्होंने कहा कि कांग्रेस यह न भूले कि उसके राज में विदेशी टीके से पोलियो उन्मूलन करने में 26 साल लगे थे !

सुशील मोदी: कथित: तत भारतस्य वैक्सीने विश्वे च् सर्वात् तीव्रम् टीकाकरणे कोरोना योद्धानां मनोबलम् बर्धनायापेक्षा राहुल गांधी: सततं नकारात्मक टिप्पणिका कर्तुम् रमित:, तु यदि इति काळम् तस्य सर्वकारः भवित:, तर्हि भारतम् वैक्सीन इत्याय विश्वस्याग्रम् हस्तौ प्रसार्यतुम् भवितं !

सुशील मोदी ने कहा कि भारत की वैक्सीन और दुनिया में सबसे तेज टीकाकरण पर कोरोना योद्धाओं का मनोबल बढाने के बजाय राहुल गांधी लगातार नकारात्मक टिप्पणी करते रहे, लेकिन यदि इस समय उनकी सरकार होती, तो भारत को वैक्सीन के लिए दुनिया के आगे हाथ फैलाना पड़ता !

वस्तुतः जुलै मासस्यारंभे राहुल गांधी: कथित: स्म तताधुना तर्हि जुलै अपि आगतं, वैक्सीन कुत्र गतं ! तस्यानंतरम् एकं अगस्त इतम् ट्वीट कृत्वा पुनः अपृच्छत् तताधुनाजुलै विगतम् वैक्सीन कुत्र गतम् !

दरअसल जुलाई महीने की शुरुआत में राहुल गांधी ने कहा था कि अब तो जुलाई भी आ गई, वैक्सीन कहां आई ! उसके बाद एक अगस्त को ट्वीट कर फिर पूछा कि अब जुलाई बीत गई वैक्सीन कहां गई !

राहुल गांधिण: ट्वीते स्वास्थ्यमंत्री मनसुख मांडविया: प्रश्नम् कृतः तत जुलै इतस्य मासे १३ कोटि जनान् वैक्सीन प्रदत्तिष्यन्ति तेषु तः च् एकः जनाः राहुल गांधीरासीत् !

राहुल गांधी के ट्वीट पर स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मांडविया ने सवाल किया कि जुलाई के महीने में 13 करोड़ लोगों को वैक्सीन लगी और उनमें से एक शख्स राहुल गांधी थे !

वस्तुतः राहुल गांधीम् निकृष्ट राजनीति कृतस्य चर्या रमति ! जुलै इतस्य मासे सर्वकारः निश्चितलक्ष्यं निकषा रमति ! तु यै: जनान् राजनीति कृतस्य चर्या भविता: तस्मात् भवन्तः इति प्रकारस्य कथनस्यैव आशाम् कर्तुम् शक्नोन्ति !

दरअसल राहुल गांधी को ओछी राजनीति करने की आदत रही है ! जुलाई के महीने में सरकार तय टारगेट के करीब रही है। लेकिन जिन लोगों को राजनीति करने की आदत पड़ चुकी हो उससे आप इस तरह के बयान की ही उम्मीद कर सकते हैं !

स्वतंत्रत: अनंतरेणेदम् प्रथमावसरमस्ति यदा भारतम् कश्चित महामर्या: समाघाताय स्वयं टीका विकसितम् ततापि च् संक्रमणस्य ज्ञानस्य केवलं एकस्य वर्षस्य अभ्यांतरम् !

आजादी के बाद से यह पहला मौका है, जब भारत ने किसी महामारी का सामना करने के लिए स्वयं टीका विकसित किया और वह भी संक्रमण का पता चलने के मात्र साल भर के भीतर !

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी; कोरोना वैक्सीन निर्माणाय अप्रैल २०२० तमे उच्चस्तरीय कार्यसमिति गठित: वैक्सीन च् निर्माणस्य क्षमताधारका: विशेष संस्थानां सहाय्य कृत्वा तस्योत्साहबर्धित:, यस्मात् कोवैक्सिन विकसिते अस्माकं चिकित्सा वैज्ञानिकान् साफल्यं लब्धिता: !

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कोरोना वैक्सीन बनाने के लिए अप्रैल 2020 में उच्चस्तरीय टास्क गठित किया और वैक्सीन बनाने की क्षमता रखने वाली चुनिंदा कंपनियों की मदद कर उनका हौसला बढाया, जिससे कोवैक्सीन विकसित करने में हमारे चिकित्सा वैज्ञानिकों को सफलता मिली !

भारत विश्वस्य तानि १२ देशेषु प्रमुखमस्ति, यै: वैक्सीन विकसित्वा कोटि जनेषु जीवन रक्षणस्य विश्वासम् जागृतं ! कांग्रेस, राजद, सपा टीएमसी यथा च् विपक्षी दलानि इति उपलब्धिसु अपि निकृष्ट राजनीति कृतानि !

भारत दुनिया के उन 12 देशों में प्रमुख है, जिन्होंने वैक्सीन विकसित कर करोड़ों लोगों में जीवन बचाने का विश्वास जगाया ! कांग्रेस, राजद, सपा और टीएमसी जैसे विपक्षी दलों ने इस उपलब्धि पर भी ओछी राजनीति की !

भारते अधुनैव सर्वातधिकम् ४६ कोटि टीकानि प्रदत्तानि, यद्यपि अमेरिकायां ३३ कोटि जर्मनी, ब्रिटेन, फ्रांस यथा च् ६ तः ८ कोटि टीकानि इव प्रदत्तुम् शक्नुतानि !

भारत में अब तक सबसे ज्यादा 46 करोड़ टीके लगाये गए, जबकि अमेरिका में 33 करोड़ और जर्मनी, ब्रिटेन, फ्रांस जैसे अमीर देशों में 6 से 8 करोड़ टीके ही लगवाये जा सके !

जुलै मासे यत् १३ कोटि टीकानि प्रदत्तानि, तेषु लालू प्रसाद: अपि सन्ति, यै: टीका निर्माता: वैज्ञानिकान् न शुभाषया: दत्ता:, न निर्धनै: टीका नीतस्य प्रार्थना कृता: !

जुलाई महीने में जो 13 करोड़ टीके लगे, उनमें लालू प्रसाद भी हैं, जिन्होंने न टीका बनाने वाले वैज्ञानिकों को बधाई दी, न गरीबों से टीका लेने की अपील की !

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

spot_img

Related articles

कन्हैया लाल तेली इत्यस्य किं ?:-सर्वोच्च न्यायालयम् ! कन्हैया लाल तेली का क्या ?:-सर्वोच्च न्यायालय !

भवतम् जून २०२२ तमस्य घटना स्मरणम् भविष्यति, यदा राजस्थानस्योदयपुरे इस्लामी कट्टरपंथिनः सौचिक: कन्हैया लाल तेली इत्यस्य शिरोच्छेदमकुर्वन् !...

१५ वर्षीया दलित अवयस्काया सह त्रीणि दिवसानि एवाकरोत् सामूहिक दुष्कर्म, पुनः इस्लामे धर्मांतरणम् बलात् च् पाणिग्रहण ! 15 साल की दलित नाबालिग के साथ...

उत्तर प्रदेशस्य ब्रह्मऋषि नगरे मुस्लिम समुदायस्य केचन युवका: एकायाः अवयस्का बालिकाया: अपहरणम् कृत्वा तया बंधने अकरोत् त्रीणि दिवसानि...

यै: मया मातु: अंतिम संस्कारे गन्तुं न अददु:, तै: अस्माभिः निरंकुश: कथयन्ति-राजनाथ सिंह: ! जिन्होंने मुझे माँ के अंतिम संस्कार में जाने नहीं दिया,...

रक्षामंत्री राजनाथ सिंहस्य मातु: निधन ब्रेन हेमरेजतः अभवत् स्म, तु तेन अंतिम संस्कारे गमनस्याज्ञा नाददात् स्म ! यस्योल्लेख...

धर्मनगरी अयोध्यायां मादकपदार्थस्य वाणिज्यस्य कुचक्रम् ! धर्मनगरी अयोध्या में नशे के कारोबार की साजिश !

उत्तरप्रदेशस्यायोध्यायां आरक्षकः मद्यपदार्थस्य वाणिज्यकृतस्यारोपे एकाम् मुस्लिम महिलाम् बंधनमकरोत् ! आरोप्या: महिलायाः नाम परवीन बानो या बुर्का धारित्वा स्मैक...