21.1 C
New Delhi

नव संसदस्य अभवत् भूमिपूजनम् ! नई संसद का हुआ भूमिपूजन !

Date:

Share post:

संसदस्य नव भवनस्य निर्माणाय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी: गुरूवासरम् भूमिपूजनम् कृतवान आधारशिलाम् अधर्यत् ! इति अवसरे सर्वानां धर्माणां धर्माचार्य: उपस्थितम् सन्ति सर्वधर्म च् प्रार्थनामभवत् !

संसद के नए भवन के निर्माण के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरुवार को भूमिपूजन किया और आधारशिला रखी ! इस मौके पर सभी धर्मों के धर्माचार्य मौजूद हैं और सर्वधर्म प्रार्थना हुई !

समारोहे गृहमंत्री अमित शाह:,कैबिनेट इत्यस्य मंत्री:,राजनीतिक दलानां नेतृ बहु देशानां राजदूत: सन्ति ! १२ वादनत्वा ५५ पले वैदिक मंत्रोच्चारस्य मध्य संसदस्य नव भवनाय भूमिपूजनस्य कार्यक्रम आरम्भयते !

समारोह में गृह मंत्री अमित शाह, कैबिनेट के मंत्री, राजनीतिक दलों के नेता और कई देशों के राजदूत हैं ! 12 बजकर 55 मिनट पर वैदिक मंत्रोच्चार के बीच संसद के नए भवन के लिए भूमि पूजन का कार्यक्रम शुरू हुआ !

भूमिपूजन भवस्य उपरांत सर्वाणि धर्माणि धर्माचार्या: प्रार्थनाम् कृतवान ! इति नव भवने संसदस्य संयुक्त सत्रस्य कालम् १२२४ सदस्य: तिष्ठशक्नोति ! संसदस्य इति नव भवनस्य निर्माणे ९७१ कोटि रूप्य व्यय भवस्य अनुमानमस्ति अस्य च् निर्माण २०२४ तमेव पूर्ण कृतस्य लक्ष्यमस्ति !

भूमि पूजन होने के बाद सभी प्रमुख धर्मों ने धर्माचार्यों ने प्रार्थना की ! इस नए भवन में संसद के संयुक्त सत्र के दौरान 1224 सदस्य बैठ सकेंगे ! संसद की इस नई इमारत के निर्माण में 971 करोड़ रुपये खर्च होने का अनुमान है और इसका निर्माण 2024 तक पूरा करने का लक्ष्य है !

प्रधानमंत्री: अकथयत् तत लोकतंत्र भारते एक संस्कृतिमस्ति ! अत्र लोकतन्त्र एक मूल्य जीवनम् निर्वहनस्य स्थितिमस्ति ! भारतस्य लोकतंत्र सदीनां अनुभवेण विकसितं अभवत् !

पीएम ने कहा कि लोकतंत्र भारत में एक संस्कृति है ! यहां लोकतंत्र एक मूल्य और जीवन जीने का तरीका है ! भारत का लोकतंत्र सदियों के अनुभव से विकसित हुआ है !

पुरातन संसदे देशस्य अवश्यक्तानि पूर्णमभवत् तु इति नव संसद भवने आधुनिक भारतस्य आकांक्षानि पूर्णम् भविष्यन्ति ! भारतस्य लोकतंत्र प्रथमात् कुत्र अधिकम् तीक्ष्ण भवित्वा उत्पद्यते !

पुरानी संसद में देश की जरूरतें पूरी हुईं लेकिन इस नए संसद भवन में आधुनिक भारत की आकांक्षाएं पूरी होंगी ! भारत का लोकतंत्र पहले से कहीं ज्यादा मजबूत होकर उभरा है !

नव संसदाय भूमिपूजन कार्यक्रम सम्पन्नम् अभव्यते ! इति मांगलिक अवसरम् टाटा संस्थायाः प्रमुखः रतन टाटा:,केंद्रीय मंत्री एच एस पुरी:, राज्यसभायाः उपसभापति हरिवंश: भिन्नम्भिन्न धर्माणां धर्माचार्य: उपस्थितः आसन् !

नई संसद के लिए भूमि पूजन कार्यक्रम संपन्न हो गया है ! इस मांगलिक अवसर टाटा ट्रस्ट के चेयरमैन रतन टाटा, केंद्रीय मंत्री एचएस पुरी, राज्यसभा के उप सभापति हरिवंश और अलग-अलग धर्मों के धर्माचार्य उपस्थित थे !

भूमिपूजनं कृतस्य उपरांत पीएम मोदी: स्मृति पट्टिकायाः अनावरणम् कृतवान ! इति अवसरे लोकसभायाः वक्ता ओम बिड़ला: अपि तेन सहासीत् !

भूमि पूजन करने के बाद पीएम मोदी ने स्मृति पट्टिका का अनावरण किया ! इस मौके पर लोकसभा के स्पीकर ओम बिड़ला भी उनके साथ थे !

लोकसभा सचिवालय प्रत्येन प्रसृतः एकम् विज्ञप्तियां अकथ्यते तत नव संसद भवनस्य मानचित्र अहमदबादस्य मैसर्स एचसीपी डिजाइन मैनेजमेंट प्राइवेट लिमिटेड इत्येन च् निर्मितं अक्रियते अस्य च् निर्माण टाटा प्रोजेक्ट्स लिमिटेड इत्येन करिष्यते !

लोकसभा सचिवालय की ओर से जारी एक विज्ञप्ति में कहा गया कि नए संसद भवन का डिजाइन अहमदाबाद के मैसर्स एचसीपी डिजाइन और मैनेजमेंट प्राइवेट लिमिटेड द्वारा तैयार किया गया है और इसका निर्माण टाटा प्रोजेक्ट्स लिमिटेड द्वारा किया जाएगा !

नव भवनम् सर्वाणि आधुनिक दृश्य-श्रव्य संचार इति सुविधानि डाटा नेटवर्क इति च् प्रणालीभिः सुसज्जितम् करिष्यते ! अयम् सुनिश्चितं कृताय विशेषं ध्यानम् ददाते तत निर्माण कार्यस्य कालम् संसदस्य सत्रानां आयोजने न्यूनात्न्यूनम् व्यवधानमसि पर्यावरण संबंधी च् सर्वाणि सुरक्षा उपायनां पालनम् अक्रियते !

नए भवन को सभी आधुनिक दृश्य-श्रव्य संचार सुविधाओं और डाटा नेटवर्क प्रणालियों से सुसज्जित किया जाएगा ! यह सुनिश्चित करने के लिए विशेष ध्यान दिया जा रहा है कि निर्माण कार्य के दौरान संसद के सत्रों के आयोजन में कम से कम व्यवधान हो और पर्यावरण संबंधी सभी सुरक्षा उपायों का पालन किया जाए !

लोकसभा सचिवालयस्य अनुरूपम् नव संसद भवनस्य लोकसभा कक्षे ८८८ सदस्यानां तिष्ठस्य व्यवस्थाम् भविष्यति,यस्मिन् संयुक्त सत्रस्य कालम् १२२४ सदस्यानां तिष्ठस्य व्यवस्थामपि भविष्यति ! इति प्रकारम् राज्य सभा कक्षे ३८४ सदस्यानां तिष्ठस्य व्यवस्थाम् भविष्यति !

लोकसभा सचिवालय के मुताबिक नए संसद भवन के लोकसभा कक्ष में 888 सदस्यों के बैठने की व्यवस्था होगी, जिसमें संयुक्त सत्र के दौरान 1224 सदस्यों के बैठने की व्यवस्था भी होगी ! इसी प्रकार राज्य सभा कक्ष में 384 सदस्यों के बैठने की व्यवस्था होगी !

नव संसद भवने भारतस्य गौरवयुक्तम् धरोहरं अपि प्रदर्शष्यते ! देशस्य क्रोणे-क्रोणे आगतवान दस्तकार: शिल्पकारः च् स्व कलाम् योगदनस्य च् माध्यमेण इति भवने सांस्कृतिक विविधतायाः समावेशम् करिष्यन्ति ! नव संसद भवनम् अत्याधुनिकै:,तकनीकी सुबिधाभिः युक्तम् ऊर्जाकुशलं च् भविष्यति !

नए संसद भवन में भारत की गौरवशाली विरासत को भी दर्शाया जाएगा ! देश के कोने-कोने से आए दस्तकार और शिल्पकार अपनी कला और योगदान के माध्यम से इस भवन में सांस्कृतिक विविधता का समावेश करेंगे ! नया संसद भवन अत्याधुनिक,तकनीकी सुविधाओं से युक्‍त और ऊर्जा कुशल होगा !

उपस्थितः संसद भवनेण संलग्नम् त्रिकोणीय आकृतिया: नव भवनम् सुरक्षा सुविधाभिः युक्तं भविष्यति ! नव लोकसभा उपस्थितः आकृतिया त्रयगुणितं वृहद भविष्यति राज्यसभायाः च् आकृतियामपि वृद्धिमक्रियते !

मौजूदा संसद भवन से सटी त्रिकोणीय आकार की नई इमारत सुरक्षा सुविधाओं से लैस होगी ! नई लोकसभा मौजूदा आकार से तीन गुना बड़ी होगी और राज्‍यसभा के आकार में भी वृद्धि की गई है !

नव भवनस्य सज्जायाम् भारतीय संस्कृति, क्षेत्रीय कलाम्,शिल्प वास्तुकलायाः च् विविधतायाः समृद्धम् सम्मिलितं स्वरूपम् भविष्यति ! आकृति योजनायाम् केंद्रीय संवैधानिक चित्रसज्जायाः स्थानम् अददाते ! सार्वजनिक जनाः येन पश्यशक्क्ष्यते !

नए भवन की सज्‍जा में भारतीय संस्‍कृति, क्षेत्रीय कला, शिल्‍प और वास्‍तुकला की विविधता का समृद्ध मिला जुला स्‍वरूप होगा ! डिजाइन योजना में केन्‍द्रीय संवैधानिक गैलरी को स्‍थान दिया गया है ! आम लोग इसे देख सकेंगे !

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

[tds_leads input_placeholder="Email address" btn_horiz_align="content-horiz-center" pp_checkbox="yes" pp_msg="SSd2ZSUyMHJlYWQlMjBhbmQlMjBhY2NlcHQlMjB0aGUlMjAlM0NhJTIwaHJlZiUzRCUyMiUyMyUyMiUzRVByaXZhY3klMjBQb2xpY3klM0MlMkZhJTNFLg==" msg_composer="success" display="column" gap="10" input_padd="eyJhbGwiOiIxNXB4IDEwcHgiLCJsYW5kc2NhcGUiOiIxMnB4IDhweCIsInBvcnRyYWl0IjoiMTBweCA2cHgifQ==" input_border="1" btn_text="I want in" btn_tdicon="tdc-font-tdmp tdc-font-tdmp-arrow-right" btn_icon_size="eyJhbGwiOiIxOSIsImxhbmRzY2FwZSI6IjE3IiwicG9ydHJhaXQiOiIxNSJ9" btn_icon_space="eyJhbGwiOiI1IiwicG9ydHJhaXQiOiIzIn0=" btn_radius="0" input_radius="0" f_msg_font_family="521" f_msg_font_size="eyJhbGwiOiIxMyIsInBvcnRyYWl0IjoiMTIifQ==" f_msg_font_weight="400" f_msg_font_line_height="1.4" f_input_font_family="521" f_input_font_size="eyJhbGwiOiIxMyIsImxhbmRzY2FwZSI6IjEzIiwicG9ydHJhaXQiOiIxMiJ9" f_input_font_line_height="1.2" f_btn_font_family="521" f_input_font_weight="500" f_btn_font_size="eyJhbGwiOiIxMyIsImxhbmRzY2FwZSI6IjEyIiwicG9ydHJhaXQiOiIxMSJ9" f_btn_font_line_height="1.2" f_btn_font_weight="600" f_pp_font_family="521" f_pp_font_size="eyJhbGwiOiIxMiIsImxhbmRzY2FwZSI6IjEyIiwicG9ydHJhaXQiOiIxMSJ9" f_pp_font_line_height="1.2" pp_check_color="#000000" pp_check_color_a="#309b65" pp_check_color_a_h="#4cb577" f_btn_font_transform="uppercase" tdc_css="eyJhbGwiOnsibWFyZ2luLWJvdHRvbSI6IjQwIiwiZGlzcGxheSI6IiJ9LCJsYW5kc2NhcGUiOnsibWFyZ2luLWJvdHRvbSI6IjMwIiwiZGlzcGxheSI6IiJ9LCJsYW5kc2NhcGVfbWF4X3dpZHRoIjoxMTQwLCJsYW5kc2NhcGVfbWluX3dpZHRoIjoxMDE5LCJwb3J0cmFpdCI6eyJtYXJnaW4tYm90dG9tIjoiMjUiLCJkaXNwbGF5IjoiIn0sInBvcnRyYWl0X21heF93aWR0aCI6MTAxOCwicG9ydHJhaXRfbWluX3dpZHRoIjo3Njh9" msg_succ_radius="0" btn_bg="#309b65" btn_bg_h="#4cb577" title_space="eyJwb3J0cmFpdCI6IjEyIiwibGFuZHNjYXBlIjoiMTQiLCJhbGwiOiIwIn0=" msg_space="eyJsYW5kc2NhcGUiOiIwIDAgMTJweCJ9" btn_padd="eyJsYW5kc2NhcGUiOiIxMiIsInBvcnRyYWl0IjoiMTBweCJ9" msg_padd="eyJwb3J0cmFpdCI6IjZweCAxMHB4In0=" msg_err_radius="0" f_btn_font_spacing="1"]
spot_img

Related articles

अंकुरस्य प्रीतौ सबाभवत् सोनी ! अंकुर के प्यार में सबा बन गई सोनी !

उत्तर प्रदेशस्य बरेल्यां सबा बी नामक बालिका हिंदू बालक: अंकुर देवलतः पाणिग्रहण कर्तुं पुनः गृहमागतवती ! सम्प्रति सा...

रामचरितमानसस्यानादर:, रिक्तं रमवान् सपायाः हस्तम् ! रामचरितमानस का अपमान, खाली रह गए सपा के हाथ ?

उत्तर प्रदेशे वर्तमानेव भवत् विधान परिषद निर्वाचनस्य परिणाम: आगतवान् ! पूर्ण ५ आसनेभ्यः निर्वाचनमभवन् स्म् ! यत्र ४...

चीन एक ‘अलग-थलग’ और ‘मित्रविहीन’ भारत चाहता है

एक अमेरिकी रिपोर्ट के अनुसार, "पाकिस्तान के बजाय अब चीन, भारतीय परमाणु रणनीति के केंद्र में है।" चीन भी समझता है कि परमाणु संपन्न भारत 1962 की पराजित मानसिकता से मीलों बाहर निकल चुका है।

हमारी न्याय व्यवस्था पर बीबीसी का प्रहार

बीबीसी ने अपनी प्रस्तुति में भारत के तथाकथित सेकुलरवादियों, जिहादियों और इंजीलवादियों के उन्हीं मिथ्या प्रचारों को दोहराया है, जिसे भारतीय सर्वोच्च न्यायालय द्वारा गठित विशेष जांच दल (एसआईटी) ने न केवल वर्ष 2012 में सिरे से निरस्त कर दिया