25.7 C
New Delhi

पीएम मोदिनि बीबीसी इत्या: अधिप्रचार वृत्तचित्रम् ! पीएम मोदी पर बीबीसी की प्रोपेगंडा डॉक्यूमेंट्री !

Date:

Share post:

बीबीसी इत्या: अधिप्रचार वृत्तचित्रम् केंद्र सर्वकार: प्रतिबंधितं कृतवान् ! अस्य प्रतिबंधनस्यानंतरम् यत्र एकम्प्रति हैदराबाद विश्वविद्यालये इस्लामी छात्र संगठनानि यस्य स्क्रीनिंग कृतमस्ति, तत्रैव द्वयं प्रति केरले कांग्रेस वामपंथिन् दलानि अपि स्क्रीनिंग कृतस्य उद्घोषम् कृतवान् !

बीबीसी की प्रोपेगेंडा डॉक्यूमेंट्री को केंद्र सरकार ने बैन कर दिया है ! इस बैन के बाद जहाँ एक ओर हैदराबाद यूनिवर्सिटी में इस्लामी छात्र संगठनों ने इसकी स्क्रीनिंग की है, वहीं दूसरी ओर केरल में कांग्रेस और वामपंथी दलों ने भी स्क्रीनिंग करने का ऐलान किया है !

इति मध्य, जेएनयू इत्यां अस्य वृत्तचित्रस्य स्क्रीनिंग इतम् गृहीत्वा जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय छात्र संघस्य विरुद्धम् प्राथमिकी पंजीकृतं अभवत् ! मीडिया सूचनापत्राणां अनुसारम्, केरल प्रदेश कांग्रेस समूहस्य अल्प संख्यक प्रकोष्ठम् अकथयत् तत गणतंत्र दिवसे राज्यस्य सर्वेषु जनपद मुख्यालयेषु बीबीसी इत्या: वृत्तचित्रम् द्रक्ष्यते !

इस बीच, जेएनयू में इस डॉक्यूमेंट्री की स्क्रीनिंग को लेकर जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय छात्र संघ के खिलाफ एफआईआर दर्ज हुई है ! मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, केरल प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अल्पसंख्यक प्रकोष्ठ ने कहा है कि गणतंत्र दिवस पर राज्य के सभी जिला मुख्यालयों में बीबीसी की डॉक्यूमेंट्री दिखाई जाएगी !

यान् गृहीत्वा केपीसीसी इत्या: प्रवक्ता शिहाबुद्दीन: अकथयत्, वृत्तचित्रे प्रतिबंध कर्तुं संविधानस्य विरुद्धमस्ति ! मोदी सर्वकार: यस्मिन् कीदृशं प्रतिबंधम् कर्तुं शक्नोति ? इदम् केंद्रस्य विरुद्धमस्माकं विरोधमस्ति ! तत्रैव केरले सत्तारूढ़ भारतीय कम्युनिस्ट दलस्य छात्र इकाई डेमोक्रेटिक यूथ फेडरेशन ऑफ इंडिया अपि वृत्तचित्रस्य स्क्रीनिंग कृतस्य उद्घोषम् कृतवान् !

इसको लेकर केपीसीसी के प्रवक्ता शिहाबुद्दीन ने कहा है, डॉक्यूमेंट्री पर प्रतिबंध लगाना संविधान के खिलाफ है ! मोदी सरकार इस पर कैसे प्रतिबंध लगा सकती है ? यह केंद्र के खिलाफ हमारा विरोध है ! वहीं, केरल में सत्तारूढ़ भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी की छात्र इकाई डेमोक्रेटिक यूथ फेडरेशन ऑफ इंडिया ने भी डॉक्यूमेंट्री की स्क्रीनिंग करने का ऐलान किया है !

डीवाईएफआई भौमवासरम् (२४ जनवरी २०२३) सायं ६ वादनम् बीबीसी इत्या: वृत्तचित्रस्य स्क्रीनिंग करिष्यति ! यस्यातिरिक्तं, बीबीसी इत्या: अधिप्रचार वृत्तचित्रस्य स्क्रीनिंग इतम् गृहीत्वा जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय छात्र संगठनस्य विरुद्धम् प्राथमिकी पंजीकृतम् अस्ति !

डीवाईएफआई मंगलवार (24 जनवरी 2023) को शाम 6 बजे बीबीसी की डॉक्यूमेंट्री की स्क्रीनिंग करेगा ! इसके अलावा, बीबीसी की प्रोपेगेंडा डॉक्यूमेंट्री की स्क्रीनिंग को लेकर जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय छात्र संगठन के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई गई है !

यस्मात् पूर्वम्, छात्र संगठनम् जेएनयू इत्यां भौमवासरम् (२४ जनवरी २०२३) वृत्तचित्रस्य स्क्रीनिंग इत्या: योजनाम् कृतमस्ति ! अत्रैव तत यस्य पम्पलेट इत्यापि वितरितमासीत् ! यस्य अनंतरम्, जेएनयू प्रशासनमाज्ञाम् निर्गतं स्क्रीनिंग इत्यां अवरोधम् कृतवान् स्म !

इससे पहले, छात्र संगठन ने जेएनयू में मंगलवार (24 जनवरी 2023) को डॉक्यूमेंट्री की स्क्रीनिंग की प्लानिंग की थी ! यहाँ तक कि इसके पम्पलेट भी बाँटे गए थे ! इसके बाद, जेएनयू प्रशासन ने एडवाइजरी जारी कर स्क्रीनिंग पर रोक लगा दी थी !

आज्ञायां अकथयत् स्म तत अस्य प्रकारस्य गतिविध्या विश्वविद्यालये शांति सद्भावम् च् भंगं भवितुं शक्नोति ! तु, यस्यानंतरमपि स्क्रीनिंग इतम् गृहीत्वा तत्परता: क्रियन्ते स्म ! अतएव वक्कील: सामाजिक कार्यकर्ता च् विनीत जिंदल: इदम् प्राथमिकी कारितवान् !

एडवाइजरी में कहा गया था कि इस तरह की गतिविधि से विश्वविद्यालय में शांति और सद्भाव भंग हो सकती है ! लेकिन, इसके बाद भी स्क्रीनिंग को लेकर तैयारियाँ की जा रहीं थीं ! इसलिए वकील और सामाजिक कार्यकर्ता विनीत जिंदल ने यह एफआईआर कराई है !

विनीत जिंदल: अकथयत् तत अस्य वृत्तचित्रस्य मुख्योद्देश्यं देशे अशांति प्रसारणम् प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदिम् च् दुर्नाम कृतमस्ति ! केंद्र सर्वकारेण वृत्तचित्रे बैन कृतस्यानंतरमपि यस्य स्क्रीनिंग कृत्वा धार्मिक पृथकतां द्वेषम् च् बर्धनस्य प्रयत्नम् क्रियते !

विनीत जिंदल ने कहा है कि इस डॉक्यूमेंट्री का मुख्य उद्देश्य देश में अशांति फैलाना और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को बदनाम करना है ! केंद्र सरकार द्वारा डॉक्यूमेंट्री पर बैन लगाने के बाद भी इसकी स्क्रीनिंग करके धार्मिक अलगाव और नफरत को बढ़ाने की कोशिश की जा रही है !

यस्मात् पूर्वम्, सोमवासरम् (२३ जनवरी २०२३) हैदराबाद विश्वविद्यालये स्टूडेंट इस्लामिक ऑर्गनाइजेशन मुस्लिम स्टूडेंट फेडरेशन च् यस्य स्क्रीनिंग कृतौ स्त: ! अस्मिन् स्क्रीनिंग इत्यां द्वयो इस्लामिक छात्र संगठनयो ५० तः अधिकं छात्रा: उपस्थिता: रमेत् ! यान् गृहीत्वा छात्र संगठनम् एबीवीपी विरोधम् व्यक्तन् विश्वविद्यालये अपवादम् कृतमस्ति !

इससे पहले, सोमवार (23 जनवरी, 2023) को हैदराबाद विश्वविद्यालय में स्टूडेंट इस्लामिक ऑर्गनाइजेशन और मुस्लिम स्टूडेंट फेडरेशन ने इसकी स्क्रीनिंग की है ! इस स्क्रीनिंग में दोनों इस्लामिक छात्र संगठनों के 50 से अधिक छात्र मौजूद रहे ! इसको लेकर छात्र संगठन एबीवीपी ने विरोध दर्ज कराते हुए यूनिवर्सिटी में शिकायत की है !

तत्रैव, केंद्र सर्वकारस्य प्रतिबंधस्यानंतरमपि वृत्तचित्रस्य स्क्रीनिंग इतम् भाजपा देशविरोधिन् गतिविधि कथवान् ! भाजपा प्रवक्ता टॉम वडक्कन: अकथयत्, इदम् भारतस्य खण्डस्य कार्यकर्ता: देशद्रोहिनां तंत्रस्य कृत्यमस्ति ! इदम् सर्वम् सर्वोच्चन्यायालयस्य निर्णयस्य विरुद्धम् क्रियते !

वहीं, केंद्र सरकार के बैन के बाद भी डॉक्यूमेंट्री की स्क्रीनिंग को भाजपा ने देश विरोधी गतिविधि करार दिया है ! भाजपा प्रवक्ता टॉम वडक्कन ने कहा है, यह भारत को बाँटने का काम करने वाले देशद्रोहियों के तंत्र की करतूत है ! यह सब सुप्रीम के फैसले के खिलाफ किया जा रहा है !

वस्तुतः, अस्मिन् वृत्तचित्रे बीबीसी कलहानां दोष: वर्तमान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदिनि भारस्य प्रयत्नम् कृतमस्ति ! इदमेव न, तस्य चित्रम् इस्लाम विरोधिनपि प्रदर्शस्य प्रयत्नम् कृतमस्ति ! द्वयो अंशयो निर्मिते बीबीसी इत्या: अस्मिन् सीरीज इत्यां प्रधानमंत्री मोदिण: भारतस्य मुस्लिमानां च् मध्य कलहस्य वार्ता अकथयत् !

दरअसल, इस डॉक्यूमेंट्री में BBC ने दंगों का दोष वर्तमान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर डालने की कोशिश की है ! यही नहीं, उनकी छवि इस्लाम विरोधी भी दिखाने की कोशिश की है ! दो पार्ट में बनाई गई BBC की इस सीरीज में प्रधानमंत्री मोदी और भारत के मुस्लिमों के बीच तनाव की बात कही गई है !

बीबीसी मोदी सर्वकारस्य देशस्य मुस्लिमान् प्रति दृष्टिकोण, कथित विवादितं नीत्य:, कश्मीरस्य विशेषस्थानम् संपादितं नागरिकता विधेयकं च् गृहीत्वापि प्रश्नम् उत्थीतं सन्ति ! बीबीसी इत्या: वृत्तचित्रे सर्वकार: दृढ़ स्थितिम् स्वीकृतवान् !

बीबीसी ने मोदी सरकार के देश के मुस्लिमों के प्रति रवैये, कथित विवादित नीतियाँ, कश्मीर के विशेष दर्जे को खत्म करने और नागरिकता कानून को लेकर भी सवाल उठाए गए हैं ! BBC की डॉक्यूमेंट्री पर सरकार ने सख्त रुख अपनाया है !

सर्वकारस्याज्ञाया: अनंतरम् ट्विटर इत्या यूट्यूब इत्या च् वृत्तचित्रतः संबंधितं लिंक निर्वर्तयन्ति ! एकस्य सूचनापत्रस्यानुरूपम्, यूट्यूब चलचित्रस्य लिंकयुक्त ५० तः अधिकं ट्वीट्स इतम् प्रतिबंधितं कृतवान् ! आईटी नियम, २०२१ तमस्यानुरूपम् इमरजेंसी शक्तिनां प्रयुज्यत् सर्वकार: इदम् कार्यवाहिम् कृतमस्ति !

सरकार के आदेश के बाद ट्विटर और यूट्यूब से डॉक्यूमेंट्री से संबंधित लिंक हटाए जा रहे हैं ! एक रिपोर्ट के मुताबिक, यूट्यूब वीडियो के लिंक वाले 50 से ज्यादा ट्वीट्स को ब्लॉक किया गया है ! आईटी नियम, 2021 के तहत इमरजेंसी शक्तियों का इस्तेमाल करते हुए सरकार ने यह कार्रवाई की है !

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

spot_img

Related articles

कन्हैया लाल तेली इत्यस्य किं ?:-सर्वोच्च न्यायालयम् ! कन्हैया लाल तेली का क्या ?:-सर्वोच्च न्यायालय !

भवतम् जून २०२२ तमस्य घटना स्मरणम् भविष्यति, यदा राजस्थानस्योदयपुरे इस्लामी कट्टरपंथिनः सौचिक: कन्हैया लाल तेली इत्यस्य शिरोच्छेदमकुर्वन् !...

१५ वर्षीया दलित अवयस्काया सह त्रीणि दिवसानि एवाकरोत् सामूहिक दुष्कर्म, पुनः इस्लामे धर्मांतरणम् बलात् च् पाणिग्रहण ! 15 साल की दलित नाबालिग के साथ...

उत्तर प्रदेशस्य ब्रह्मऋषि नगरे मुस्लिम समुदायस्य केचन युवका: एकायाः अवयस्का बालिकाया: अपहरणम् कृत्वा तया बंधने अकरोत् त्रीणि दिवसानि...

यै: मया मातु: अंतिम संस्कारे गन्तुं न अददु:, तै: अस्माभिः निरंकुश: कथयन्ति-राजनाथ सिंह: ! जिन्होंने मुझे माँ के अंतिम संस्कार में जाने नहीं दिया,...

रक्षामंत्री राजनाथ सिंहस्य मातु: निधन ब्रेन हेमरेजतः अभवत् स्म, तु तेन अंतिम संस्कारे गमनस्याज्ञा नाददात् स्म ! यस्योल्लेख...

धर्मनगरी अयोध्यायां मादकपदार्थस्य वाणिज्यस्य कुचक्रम् ! धर्मनगरी अयोध्या में नशे के कारोबार की साजिश !

उत्तरप्रदेशस्यायोध्यायां आरक्षकः मद्यपदार्थस्य वाणिज्यकृतस्यारोपे एकाम् मुस्लिम महिलाम् बंधनमकरोत् ! आरोप्या: महिलायाः नाम परवीन बानो या बुर्का धारित्वा स्मैक...