असुरक्षायाः प्रातः-प्रातः इन्द्रप्रस्थस्य रकाबगंज गुरुद्वारा प्राप्तम् पीएम मोदी ! बिना सुरक्षा के सुबह-सुबह दिल्ली के रकाबगंज गुरुद्वारा पहुंचे पीएम मोदी !

0
379

इन्द्रप्रस्थस्य सीमाषु संचरित कृषक आन्दोलनस्य मध्य प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी: रविवासरम् प्रातः-प्रातः अकश्चित सुरक्षायाः इन्द्रप्रस्थस्य रकाबगंज स्थित गुरुद्वारे प्राप्तम् ! इति गुरुद्वारे सिख समागम संचरति अत्र च् प्राप्त्वा सः गुरु तेगबहादुर सिंहम् श्रद्धाजंलिम् अर्पित कृतं !

दिल्ली की सीमाओं पर चल रहे किसान आंदोलन के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी रविवार सुबह-सुबह बिना किसी सुरक्षा के दिल्ली के रकाबगंज स्थित गुरुद्वारे में पहुंचे ! इस गुरुद्वारे में सिख समागम चल रहा है और यहां पहुंचकर उन्होंने गुरु तेगबहादुर सिंह को श्रद्धांजलि अर्पित की !

इति कालम् सः तत्र जनैः वार्ताम् कृतं पुनश्च प्रार्थनाम् कृत गुप्तरुपम् तत्रात् अनिस्सरयते ! प्रधानमंत्री मोदियाः गुरुद्वारा रकाबगंज प्राप्तस्य कालम् न तर्हि कश्चित आरक्षकः संचयमक्रियते नैव च् साधारण जनेभ्यः यातायात अवरी अवरोधकम् आरोप्यते स्म !

इस दौरान उन्होंने वहां लोगों से बातचीत की और फिर अरदास कर चुपचाप वहां से निकल गए ! प्रधानमंत्री मोदी के गुरुद्वारा रकाबगंज पहुंचने के दौरान ना तो कोई पुलिस बंदोबस्त किया गया और ना ही आमजन के लिए यातायात अवरोधक लगाए गए थे !

इति कालम् प्रधानमंत्री मोदी: गुरुद्वारे मस्तकम् नवयति साधारण जनेभ्यः च् कश्चित प्रकारस्य यातयात अवरोधकम् न आरोप्यते स्म ! गुरु तेग बहादुरस्य पार्थिव शरीरस्य गुरुद्वारा रकाबगंजे अंतिम संस्कारमक्रियते स्म !

इस दौरान प्रधानमंत्री मोदी ने गुरुद्वारे में मत्था टेका और आमजन के लिए किसी तरह के यातायात अवरोधक नहीं लगाए गए थे ! गुरु तेग बहादुर की पार्थिव देह का गुरुद्वारा रकाबगंज में अंतिम संस्कार किया गया था !

प्रधानमंत्री मोदियाः इंद्रप्रस्थे स्थित सिखानां इति महत्वपूर्ण तीर्थस्थले मस्तकम् नवेत् इदृशं काले महत्वपूर्णमस्ति,यदा विशेषतः पंजाबस्य कृषक केंद्रसर्कारस्य नव कृषि विधेयकानां विरुद्धम् प्रदर्शनम् कुर्वन्ति !

प्रधानमंत्री मोदी का दिल्ली में स्थित सिखों के इस अहम तीर्थस्थल पर मत्था टेकना ऐसे समय में महत्वपूर्ण है, जब खासकर पंजाब के किसान केंद्र सरकार के नए कृषि कानूनों के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे हैं !

अस्य उपरांत पीएम मोदी: ट्वीत कृतमानः अलिखत्, अयम् गुरु साहिबस्य विशेषं कृपां अस्ति तत अहम् स्व सर्कारस्य कार्यकालस्य कालम् श्री गुरु तेग बहादुर महोदयस्य चतुर्शतानि प्रकाश पर्वम् मान्यन्ति ! आगतः अहम् इति अवसरम् ऐतिहासिक प्रकाराणि मान्येत् !

इसके बाद पीएम मोदी ने ट्वीट करते हुए लिखा यह गुरु साहिब की विशेष कृपा है कि हम अपनी सरकार के कार्यकाल के दौरान श्री गुरु तेग बहादुर जी के 400 वें प्रकाश पर्व को मना रहे हैं ! आइए हम इस पुण्य अवसर को ऐतिहासिक तरीके मनाएं !

श्री गुरु तेग बहादुर महोदयस्य आदर्शानि मान्येत् ! अहम् स्वयमम् सौभाग्यवान मान्यामि तत मह्यं गुरुणां चरणयो आनंदयुक्त कालम् व्यतीतस्य अवसरम्प्राप्तम् ! गुरु नानक देव महोदयस्य ५५० जयन्तीम् मान्यतम् ममाय गर्वस्य वार्तास्ति !

श्री गुरु तेग बहादुर जी के आदर्शों को मनाएं ! मैं खुद को सौभाग्यशाली मानता हूँ कि मुझे गुरु के चरणों में आनंदमय समय बिताने का अवसर मिला ! गुरु नानक देव जी की 550 वीं जयंती मनाना मेरे लिए गर्व की बात है !

अत्र प्राप्त्वा पीएम मोदी: कृषक आन्दोलने सम्मिलितं पंजाबस्य हरियाणायाः च् कृषकानि वृहद सन्देशम् दास्य प्रयत्नं कृतं ! वस्तुतः पूर्व २५ दिवसात् इन्द्रप्रस्थस्य सीमाषु नव कृषि विधेयकानि गृहित्वा कृषकानां वृहद आन्दोलनम् चरति !

यहां पहुंचकर पीएम मोदी ने किसान आंदोलन में शामिल पंजाब और हरियाणा के किसानों को बड़ा संदेश देने की कोशिश की ! दरअसल पिछले 25 दिनों से दिल्ली की सीमाओं पर नए कृषि कानूनों को लेकर किसानों का बड़ा आंदोलन चल रहा है !

इदृशेषु सर्कारस्य सततं कृषकानि मान्येषु संलग्नम् अभवत् तु अद्यैव कश्चित विशेषं सफलताम् न प्राप्तमशक्नुते ! सम्प्रति पीएम इत्येन सिख समागमे सम्मिलित्वा कृषकानि एकम् सन्देशम् दास्य प्रयत्नं कृतमस्ति !

ऐसे में सरकार की लगातार किसानों को मनाने में जुटी हुई है लेकिन अभी तक कोई खास सफलता नहीं मिल सकी ! अब पीएम द्वारा सिख समागम में शामिल होकर किसानों को एक संदेश देने की कोशिश की है !

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here