धूमयानपत्तने अवरुद्धम् सन्ति भारतीय छात्रा, दूतावासेण न भविते संपर्कम् ! रेलवे स्टेशन पर फंसे हैं भारतीय छात्र, दूतावास से नहीं हो रहा है संपर्क !

0
193

साभार टाइम्स नाउ

यूक्रेने रूसस्य घातस्यानंतरम् तत्र स्थित्य: बहु भयकर: भवितं ! यूक्रेनस्य सैन्य प्रतिष्ठानेषु रूसस्य क्षेपणास्त्राणि पतन्ति योद्धकविमानतः रणगोल: अभिवर्षयन्ते ! जनाः भीते सन्ति ! परितः उपतापस्य संनिवेश: अस्ति !

यूक्रेन पर रूस के हमले के बाद वहां स्थितियां काफी भयावह हो गई हैं ! यूक्रेन के सैन्य प्रतिष्ठानों पर रूस की मिसाइलें गिर रही हैं और फाइटर जेट्स से बम बरसाए जा रहे हैं ! लोग दहशत में हैं ! चारो तरफ अफरा-तफरी का माहौल है !

यूक्रेनस्य नगरेषु भारतीय छात्रा: अपि अवरुद्धन् सन्ति ! घातस्यानंतरम् इमे छात्रा: भयभीताः ! केचन छात्रा: टाइम्स नाउ नवभारततः वार्तालापम् कृतमस्ति ! याः छात्रा: ज्ञापिता: तत ते केन स्थित्यां सन्ति धरायां च् का चरति !

यूक्रेन के शहरों में भारतीय छात्र भी फंसे हुए हैं ! हमला होने के बाद ये छात्र भी डरे हुए हैं ! कुछ छात्रों ने टाइम्स नाउ नवभारत से बातचीत की है ! इन छात्रों ने बताया है कि वे किस हालात में हैं और जमीन पर क्या चल रहा है !

कीव धूमयानपत्तने अवरुद्धम् भारतीय छात्र: स्नेहिल सागर: ज्ञापित: तत सः धूमयानपत्तने उपस्थिता: सन्ति सहाय्यस्य च् प्रतीक्षाम् कुर्वन्ति ! सः कथित: अस्माभिः वेस्टर्न पार्टम् प्रति गन्तुं कथिता:, मया सह बहु छात्रा: अत्रावरुद्धम् सन्ति !

कीव रेलवे स्टेशन पर फंसे भारतीय छात्र स्नेहिल सागर ने बताया कि वह रेलवे स्टेशन पर मौजूद हैं और मदद की प्रतीक्षा कर रहे हैं ! उन्होंने कहा हमें वेस्‍टर्न पार्ट की ओर जाने के ल‍िए कहा गया है, मेरे साथ कई छात्र यहां फंसे हुए हैं !

वयं अधिकारिभिः संपर्कस्य प्रयत्नम् कुर्याम: तु कश्चित प्रकारस्य संपर्कम् न भवति ! देशस्य पश्चिमी अंशेषु पोलैंड स्लोवाकिया च् स्त:, ज्ञाप्यते तत तं प्रति रूसस्य सैन्य नास्ति, पश्चिमी सीमा बहु सुरक्षितं अस्ति !

हम लोग अधिकारियों से संपर्क करने की कोशिश कर रहे हैं लेकिन किसी तरह का संपर्क नहीं हो रहा है ! देश के पश्चिमी हिस्से में पोलैंड और स्लोवाकिया हैं, बताया जा रहा है कि उस तरफ रूस की सेना नहीं है, पश्चिमी बॉर्डर ज्यादा सुरक्षित है !

वयं स्व दूतावासेण संपर्कस्य प्रयत्नम् कुर्याम: तु अधुनैव संपर्कम् न भवितं ! धूमयानपत्तने बहु विश्व विद्यालये पाठका: भारतीयछात्रा: उपस्थिता: सन्ति ! वयं इति भवनस्य बाह्य गन्तुं न शक्नुता: ! यदि वयं गतवान तर्हि पुनः अभ्यांतरमागतुं न दाष्याम: !

हम अपने दूतावास से संपर्क करने की कोशिश कर रहे हैं लेकिन अब तक संपर्क नहीं हो पाया है ! रेलवे स्टेशन पर कई विवि में पढ़ने वाले भारतीय छात्र मौजूद हैं ! हम इस बिल्डिंग के बाहर नहीं जा सकते ! अगर हम गए तो दोबारा अंदर नहीं आने दिया जाएगा !

इति मध्य यूक्रेने घातस्यानंतरम् भारतसर्वकारं प्रत्येन प्रथम आधिकारिक कथनम् प्रस्तुतं ! विदेशमंत्रालयं कथितमस्ति तत स्थित्यां तस्य पूर्णदृष्टिमस्ति, तत्र अवरुद्धा: भारतीयानां सुरक्षितं निस्सरणं तस्य प्राथमिकतामस्ति !

इस बीच यूक्रेन पर हमला होने के बाद भारत सरकार की ओर से पहला आधिकारिक बयान जारी हुआ है ! व‍िदेश मंत्रालय ने कहा है कि स्‍थ‍ित‍ि पर उसकी पूरी नजर है, वहां फंसे भारतीयों की सुरक्षित निकालना उसकी प्राथ‍म‍िकता है !

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here