24 C
New Delhi

खेलरत्नस्य नाम परिवर्तितं, अधुना राजीव गांधी न मेजर ध्यानचंदस्य नामेण अनुविदिष्यति इदम् पारितोषिकं ! खेल रत्न का नाम बदला, अब राजीव गांधी नहीं मेजर ध्यान चंद के नाम से जाना जाएगा यह पुरस्कार !

Date:

Share post:

सर्वकारः खेलरत्न पारितोषिकस्य नाम परिवर्तित: ! अधुना येन राजीव गांधी खेलरत्न नापितु येन मेजर ध्यानचंद पारितोषिकस्य नामेणानुविदिष्यति ! पीएम नरेंद्र मोदी: ट्वीत्वा यं प्रति अभिज्ञानम् दत्त: !

सरकार ने खेल रत्न पुरस्कार का नाम बदल दिया है ! अब इसे राजीव गांधी खेल रत्न नहीं बल्कि इसे मेजर ध्यान चंद पुरस्कार के नाम से जाना जाएगा ! प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्वीट कर इस बारे में जानकारी दी है !

पीएम शुक्रवासरम् स्व एके ट्वीते कथित: तत बहु दीर्घ काळात् खेलरत्नस्य नाम परिवर्तनस्य याचनां करोतीति स्म ! जनानां भावनानां सम्मान कृतमानः नाम परिवर्तनस्य निर्णीत: !

पीएम ने शुक्रवार को अपने एक ट्वीट में कहा है कि बहुत लंबे समय से खेल रत्न का नाम बदलने की मांग की जा रही थी ! लोगों की भावनाओं का सम्मान करते हुए नाम बदलने का फैसला किया गया है !

पीएम मोदी: स्व ट्वीतस्य अंते जयहिंदालिखत् ! राजीव गांधिण: नाम परिवर्तने कांग्रेस दळम् सर्वकारस्य इति पगे प्रश्नम् उत्थितुम् शक्नोति !

पीएम मोदी ने अपने ट्वीट के अंत में जयहिंद लिखा है ! राजीव गांधी का नाम बदले जाने पर कांग्रेस पार्टी सरकार के इस कदम पर सवाल उठा सकती है !

खेलरत्नस्य नाम परिवर्तनस्य घोषण: अनंतरम् राजनीतिक प्रतिक्रिया: आगमिष्यति ! भाजपा सांसद: गौतम गंभीर: कथित: तत यस्मिन् कश्चित राजनीति न भवनीयः !

खेल रत्न का नाम बदले जाने की घोषणा के बाद राजनीतिक प्रतिक्रियाएं आने लगी हैं ! भाजपा सांसद गौतम गंभीर ने कहा कि इसमें कोई राजनीति नहीं होनी चाहिए !

खेल पारितोषिकस्य नाम क्रीडकस्य नामे भवनीयः ! इदम् निर्णयम् बहु पूर्वम् नयनीय: ! टोक्यो ओलंपिक इत्ये भारतीय हॉकी दळम् कांस्य पदकम् जयति ! हॉकी दळम् ४१ वर्षाणि अनंतरम् ओलंपिक इत्ये पदकम् ळब्धम् !

खेल पुरस्कार का नाम खिलाड़ी के नाम पर होना चाहिए ! यह फैसला बहुत पहले लिया जाना चाहिए ! टोक्यो ओलंपिक में भारतीय हॉकी टीम ने कांस्य पदक जीता है ! हॉकी टीम को 41 साल बाद ओलंपिक में पदक मिला है !

कांग्रेस दलस्य नेता सुबोध कांत सहाय: कथित: तत प्रधानमंत्रिण: इदं निर्णयम् देशाय दुर्भाग्यपूर्णमस्ति ! राजीव गांधी: देशे प्रथम एशियाड कारित: ! तस्य क्रीड़ायां योगदानम् बहु अधिकमस्ति !

कांग्रेस पार्टी के नेता सुबोध कांत सहाय ने कहा कि पीएम का यह फैसला देश के लिए दुर्भाग्यपूर्ण है। राजीव गांधी ने देश में पहला एशियाड कराया ! उनका खेल में योगदान बहुत ज्यादा है !

राजीव गांधिण: नाम परिवर्तनम् समीचीनम् नास्ति ! कांग्रेस नेता कथित: तत राजीव गांधिण: नाम क्रीड़ायाः कारणेन नापितु राजनित्या: कारणम् परिवर्तितम् !

राजीव गांधी का नाम बदला जाना ठीक नहीं है ! कांग्रेस नेता ने कहा कि राजीव गांधी का नाम खेल की वजह से नहीं बल्कि राजनीति के चलते बदला गया है !

खेलरत्न पारितोषिकस्यारंभ १९९१.१९९२ तमे अभवत् ! क्रीड़ायाः क्षेत्रस्येदम् सर्वात् वृहद पारितोषिकमस्ति ! शतरंज क्रीडक: विश्वनाथन आनंदम् प्रथमदा इदम् पारितोषिकम् ळब्ध: !

खेल रत्न पुरस्कार की शुरुआत 1991-1992 में हुई ! खेल के क्षेत्र का यह सबसे बड़ा पुरस्कार है ! शतरंज खिलाड़ी विश्वनाथन आनंद को पहली बार यह पुरस्कार मिला !

अधुनैव लिएंडर पेसम्, सचिन तेंदुलकरम्, धनराज पिल्लईम्, फुलेला गोपीचंदम्, अभिनव बिंद्राम्, अंजू बॉबीम्, जॉर्ज मैरी कॉमम् रानी रामपालम् च् इति प्रतिष्ठितम् पारितोषिकेण प्रदत्तानि ! मेजर ध्यानचंदं हॉकी इतस्य मायिन: कथ्यति !

अब तक लिएंडर पेस, सचिन तेंदुलकर, धनराज पिल्लई, फुलेला गोपीचंद, अभिनव बिंद्रा, अंजू बॉबी, जॉर्ज मैरी कॉम और रानी रामपाल को इस प्रतिष्ठित पुरस्कार से नवाजा जा चुका है ! मेजर ध्यानचंद को हॉकी का जादूगर कहा जाता है !

येन १९२६ तः १९४९ तमैव हॉकी इतस्य अंतरराष्ट्रीय प्रतिस्पर्धा क्रीडतः ४०० तः अधिकम् च् गोल इति कृतवान ! ध्यानचंदस्य जन्म प्रयागराजे अभवत् स्म ! ओलंपिक इत्ये तस्य दळम् १९२८, १९३२, १९३६ तमेषु स्वर्णपदकम् ळब्धा: !

इन्होंने 1926 से 1949 तक हॉकी के अंतरराष्ट्रीय मुकाबले खेले और 400 से ज्यादा गोल किए ! ध्यान चंद का जन्म इलाहाबाद में हुआ था ! ओलंपिक में उनकी टीम ने 1928, 1932 और 1936 में गोल्ड मेडल जीता !

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

spot_img

Related articles

जोधपुरस्य सर्वकारी विद्यालये हिजाब धारणे संलग्ना: छात्रा: ! जोधपुर के सरकारी स्कूल में हिजाब पहनने पर अड़ी छात्राएँ !

राजस्थानस्य जोधपुरे हिजाब इतम् गृहीत्वा प्रश्नं अभवत् ! सर्वकारी विद्यालये छात्रा: हिजाब धारणे गृहीत्वा संलग्नवत्य:, तु तेषां परिजना:...

मेलकम् दर्शनमगच्छन् हिंदू महिला: शमीम: सदरुद्दीन: चताडताम्, उदरे अकुर्वताम् पादघातम् ! मेला देखने गईं हिन्दू महिलाओं को शमीम और सदरुद्दीन ने पीटा, पेट पर...

उत्तरप्रदेशस्य फर्रुखाबाद जनपदे एकः हिंदू युवके, तस्य मातरि भगिन्यां च् घातस्य वार्ता अस्ति ! घातस्यारोपम् शमीमेण सदरुद्दीनेण च्...

हल्द्वानी हिंसायां आहूय-आहूय हिंदू वार्ताहरेषु अभवन् घातम् ! ऑपइंडिया इत्यस्य ग्राउंड सूचनायां रहस्योद्घाटनम् ! हल्द्वानी हिंसा में चुन-चुन कर हिंदू पत्रकारों पर हुआ हमला...

उत्तराखंडस्य हल्द्वानी हिंसायां उत्पातकाः आरक्षक प्रशासनस्यातिरिक्तं घटनायाः रिपोर्टिंग कुर्वन्ति हिंदू वार्ताहरानपि स्वलक्ष्यमकुर्वन् स्म ! ते आहूय-आहूय वार्ताहरेषु घातमकुर्वन्...

हल्द्वान्यां आहतानां सुश्रुषायै अग्रमागतवत् बजरंग दलम् ! हल्द्वानी में घायलों की सेवा के लिए आगे आया बजरंग दल !

हल्द्वान्यां अवैध मदरसा-मस्जिदम् न्यायालयस्य आज्ञायाः अनंतरम् प्रशासनम् धराभीम गृहीत्वा ध्वस्तकर्तुं प्राप्तवत् तु सम्मर्द: उग्राभवन् ! प्रस्तर घातमकुर्वन्, गुलिकाघातमकुर्वन्,...