न रमिता स्वरकोकिला लता मंगेशकर, सदैवाय त्रोटितं जीवनस्य गाथा ! नहीं रहीं स्वर कोकिला लता मंगेशकर, हमेशा के लिए टूट गई जिंदगी की लड़ी !

0
105

ट्रूनिकल परिवार की ओर से स्वर सम्राज्ञी को अश्रुपूरित श्रद्धांजलि !

भारत रत्नेण पद्म विभूषणेन च् सम्मानिते, स्वर कोकिलायाः नाम्ना परिचयकाद्भुत गायिका मंगेशकर जीवनस्य रणम् पराजिता ! ९२ वर्षस्य लता मंगेशकराधुना इति विश्वे न रमिता ! 8 जनवरिं लता मंगेशकरम् कोरोना विषाणु धनात्मक ळब्धं स्म !

भारत रत्न और पद्म विभूषण से सम्मानित, स्वर कोकिला के नाम से पहचानी जाने वाले दिग्गज गायिका लता मंगेशकर जिंदगी की जंग हार गईं ! 92 साल की लता मंगेशकर अब इस दुनिया में नहीं रहीं ! 8 जनवरी को लता मंगेशकर को कोरोना वायरस पॉजिटिव पाया गया था !

यस्यानंतरम् तया मुम्बय्या: ब्रीच कैंडी चिकित्सालये सुश्रुषाहेतु नीतं स्म ! ब्रीच कैंडी चिकित्सालये रविवासरं प्रातः सा अंतिम स्वांसं नीता ! संपूर्ण विश्वे उपस्थिता: तस्या: प्रशंसकाः लताग्रजायाः शीघ्र स्वस्थात प्रार्थना: कुर्वन्ति स्म !

जिसके बाद उन्हें मुंबई के ब्रीच कैंडी अस्पताल में भर्ती कराया गया था ! ब्रीच कैंडी अस्पताल में रविवार सुबह उन्होंने आखिरी सांस ली ! दुनियाभर में मौजूद उनके प्रशंसक लता दीदी के जल्द स्वस्थ होने के लिए प्रार्थना कर रहे थे !

सा आईसीयू इत्ये आसीत् तया पुनः वेंटिलेटर इत्ये प्रेषितं स्म ! लगभगम् एकं मासमेव चिकित्सालये जीवनेण रणं रणस्यानंतरं लता मंगेशकर पराजिता ! इति दुःखद वार्तागतमेव बॉलीवुड इतस्य कलाकारा: इव न !

वह आईसीयू में थीं और उन्हें दोबारा वेंटिलेटर पर शिफ्ट किया गया था ! तकरीबन एक महीने तक अस्पताल में जिंदगी से जंग लड़ने के बाद लता मंगेशकर हार गईं ! इस मनहूस खबर के आते ही बॉलीवुड के सितारे ही नहीं !

अपितु प्रत्येका: स्तब्धिता: ! सोशल मीडिया इत्ये तया श्रद्धांजलि दत्तस्य क्रमारंभितं ! बहु स्थानात् चित्राणि अपि संमुखमागच्छन्ति यत्र प्रशंसका: इति वार्ताम् शृणुनस्यानंतरं स्ववाष्प नावरोधितुं प्राप्यन्ति !

बल्कि हर कोई स्तब्ध रहा गया ! सोशल मीडिया पर उन्हें श्रद्धांजलि देने का सिलसिला शुरू हो चुका है ! कई जगह से तस्वीरें भी सामने आ रही हैं जहां फैंस इस खबर को सुनने के बाद अपने आंसू नहीं रोक पा रहे हैं !

लता मंगेशकर्या: पार्थिवगातं अद्य तस्या: पेडारमार्गं स्थितं आवास प्रभु कुंजे मध्यान्ह १२ वादनात् ३ वादनैव धारिष्यति ! यस्यानंतरम् तया ४.३० वादनम् शिवाजी उद्यानमानिष्यते ! शिवाजी उद्याने अद्य सायं तस्या: अंतिम संस्कार पूर्ण राजकीय सम्मानेण सह करिष्यते !

लता मंगेशकर का पार्थिव शरीर आज उनके पेडार रोड स्थित आवास प्रभु कुंज में दोपहर 12 बजे से 3 बजे तक रखा जाएगा ! इसके बाद उन्हें 4.30 बजे शिवाजी पार्क लाया जाएगा ! शिवाजी पार्क में आज शाम उनका अंतिम संस्कार पूरे राजकीय सम्मान के साथ किया जाएगा !

केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरिनलिखत् देशस्य गर्व: संगीत जगतस्य च् सर्वोत्कृष्ट स्वर कोकिला भारत रत्न लता मंगेशक महोदयायाः निधनम् बहु दुःखद: ! पुण्यात्माम् मम भावभीनी श्रद्धांजलिम् ! तस्या: गमनम् देशायापूर्णीय क्षतिमस्ति !

केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने लिखा देश की शान और संगीत जगत की शिरमोर स्वर कोकिला भारत रत्न लता मंगेशकर जी का निधन बहुत ही दुखद है ! पुण्यात्मा को मेरी भावभीनी श्रद्धांजलि ! उनका जाना देश के लिए अपूरणीय क्षति है !

सा सर्वेभ्यः संगीत साधकेभ्यः सदैव प्रेरणामासीत् ! ३० सहस्रतः अधिकं गीतं गीत्वा तस्या: स्वरम् संगीतस्य विश्वम् स्वरै: सुसज्जिता ! लताग्रजा बहु इव शांतस्वभावस्य प्रतिभायाः धनिकासीत् ! सर्वानां देशवासिनां भांति अस्मै अपि तस्या: संगीत बहु प्रियं रमति !

वे सभी संगीत साधकों के लिए सदैव प्रेरणा थी। 30 हजार से अधिक गाने गाकर उनकी आवाज ने संगीत की दुनिया को सुरों से नवाजा है ! लता दीदी बेहद ही शांत स्वभाव और प्रतिभा की धनी थी। सब देशवासियों की तरह मेरे लिए भी उनका संगीत बहुत ही प्रिय रहा है !

मया यदापि काळम् लब्धामि अहं तया गीता गीतानि अवश्यं शृणोमि ! ईश: दिवगंतात्माम् शांतिम् प्रदानम् कुर्येत् परिजनान् चाधारम् दत्ते ! २८ सितंबर १९२९ तमं इंदौरे प्रसिद्ध संगीतकार: दीनानाथ मंगेशकरस्य अत्र जन्मिता !

मुझे जब भी समय मिलता है मैं उनके द्वारा गाए गए नगमें जरूर सुनता हूँ ! ईश्वर दिवंगत आत्मा को शांति प्रदान करे और परिजनों को संबल दे ! 28 सितंबर 1929 को इंदौर में मशहूर संगीतकार दीनानाथ मंगेशकर के यहां पैदा हुईं !

लता मंगेशकर ३६ भाषासु ५० सहस्रतः अधिकम् गीतानि स्व स्वरम् दत्ता ! लता स्वस्वरेण स्वस्वर साधनाया च् बहुलघु वये इव गायने प्रवीणता लब्धिता स्म ! एकं कालमासीत् यदा संभवत: कश्चित चलचित्रमसि येषु लता मंगेशकर्या: गीतं न सम्मिलितुं भवितमसि !

लता मंगेशकर ने 36 भाषाओं में 50 हजार से ज्यादा गीतों को अपनी आवाज दी ! लता ने अपनी आवाज और अपनी सुर साधना से बहुत छोटी उम्र में ही गायन में महारत हासिल कर ली थी ! एक समय था जब शायद ही कोई फिल्म हो जिसमें लता मंगेशकर का गाना न शामिल होता हो !

लता मंगेशकरम् तस्या: सुस्वर कंठस्य कारणेन नाईटेंगल ऑफ इंडिया अपि कथ्यते ! तस्या: इच्छा बाल्यकालतः इव गायिका भवस्यासीत् तु तस्या: प्रथमगीतं चलचित्रेण निःसृतं स्म कुत्रचित् तस्या: पिता नेच्छति स्म तत सा चलचित्रेभ्यः गीतं गायतु !

लता मंगेशकर को उनके सुरीले कंठ की वजह से नाईटेंगल ऑफ इंडिया भी कहा जाता है ! उनकी इच्‍छा बचपन से ही गाय‍िका बनने की थी लेक‍िन उनके पहले गाने को फ‍िल्‍म से न‍िकाल द‍िया गया था क्‍योंक‍ि उनके प‍िता नहीं चाहते थे क‍ि वह फ‍िल्‍मों के ल‍िए गाने गाएं !

तत्रैव नियत्या: क्रूरताम् यदा १३ वर्षस्य लतायाः सिरतः पितुः आश्रयं निर्वर्तितं तर्हि पणानां संकटम् संपादनाय लता महोदया केचन चलचित्रेषु कार्यमपि कृतवती स्म ! अभिनेत्र्या: रूपे तस्या: प्रथम चलचित्रं पाहिली मंगलागौर इत्यासीत् यत् १९४२ तमे प्रस्तुतं अभवत् स्म !

वहीं न‍ियत‍ि की क्रूरता ने जब 13 साल की लता के स‍िर से प‍िता का साया हटा द‍िया तो पैसों की क‍िल्‍लत दूर करने के ल‍िए लता जी ने कुछ फ‍िल्‍मों में काम भी क‍िया था ! अभिनेत्री के रूप में उनकी पहली फ‍िल्म पाहिली मंगलागौर थी जो 1942 में र‍िलीज हुई थी !

ज्ञापयतु तत लता मंगेशकर यदा १३ वर्षस्यासीत् तर्हि तस्या: पितु: निधनमभवत् स्म ! यस्यानंतरम् तस्या: उपरि कुटुंबस्य जिम्मेवारिमागतं स्म ! १३ वर्षस्य वये सा चलचित्रं पाहिली मंगलागौरतः डेब्यू इति कृतवती स्म ! लता मंगेशकर्या: प्रथमायं २५ रूप्यकानि आसीत् !

बता दें कि लता मंगेशकर जब 13 साल की थीं तो उनके पिता का निधन हो गया था ! इसके बाद उनके ऊपर परिवार की जिम्मेदारी आ गई थी ! 13 साल की उम्र में उन्होंने फिल्म पाहिली मंगलागौर से डेब्यू किया था ! लता मंगेशकर की पहली कमाई 25 रुपए थी !

सा १९४२ तमे मराठी चलचित्रं किती हसाल इत्याय गीतं गीता स्म ! १८ वर्षस्य वये मास्टर गुलाम हैदर: चलचित्र मजबूर इतस्य गीतं अंग्रेजी चला गया इत्ये मुकेशेण सह गीयस्यावसरम् दत्त: स्म !

उन्होंने 1942 में मराठी फिल्म किती हसाल के लिए गाना गाया था ! 18 साल की उम्र में मास्टर गुलाम हैदर ने फिल्म मजबूर के गीत अंग्रेजी छोरा चला गया में मुकेश के साथ गाने का मौका दिया था !

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here