पीएम मोदी: तमिलनाडौ कृतः २५ मार्च १९८९ तमस्य उल्लेखम्, जयललिताया संलग्नमस्ति इदम् दिनांक ! PM मोदी ने तमिलनाडु में किया 25 मार्च 1989 का जिक्र, जयललिता से जुड़ी है ये तारीख !

0
287

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी: अद्य निर्वाचनी राज्य तमिलनाडो: धारपुरमे एकम् जनसभाम् संबोधित: ! अत्र सः डीएमके कांग्रेसे च् बहु लक्ष्यम् लक्षित: !

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज चुनावी राज्य तमिलनाडु के धारापुरम में एक जनसभा को संबोधित किया ! यहां उन्होंने DMK और कांग्रेस पर जमकर निशाना साधा !

पीएम मोदी: कथितः तत अद्य कांग्रेसम् डीएमके च् तमिलनाडो: मुख्यमंत्रिण: सम्मानित मातु: अपमानिते ! भगवतः न करोतु, यदि तौ सत्तायामागच्छत:, तदा तौ तमिलनाडो: बहु अन्यतमः महिलानां अपमानम् करिष्यत: !

पीएम मोदी ने कहा कि आज कांग्रेस और डीएमके ने तमिलनाडु की मुख्यमंत्री की सम्मानित मां का अपमान किया है ! भगवान न करे, अगर वे सत्ता में आते हैं, तो वे तमिलनाडु की कई अन्य महिलाओं का अपमान करेंगे !

पश्चातापस्य वार्तामस्ति तत महिलानां अपमानं कृते कांग्रेसम्-द्रमुकम् संस्कृत्या: अंशमस्ति ! केचन दिवसानि पूर्व द्रमुकस्य एक: प्रत्याशी: महिलाषु बीभत्स टिप्पणिका कृतः स्म ! द्रमुकम् तेनावरोधाय केचन न कृतम् !

अफसोस की बात है कि महिलाओं का अपमान करना कांग्रेस-द्रमुक संस्कृति का हिस्सा है ! कुछ दिन पहले डीएमके के एक उम्मीदवार ने महिलाओं पर भयानक टिप्पणी की थी ! DMK ने उसे रोकने के लिए कुछ नहीं किया है !

सः अग्रम् एकस्य दिनांकस्य उल्लेखित: इमानि दिनांकमस्ति २५ मार्च १९८९ ! पीएम मोदी: कथितः २५ मार्च १९८९ तमम् कदापि न विस्मरन्तु ! तमिलनाडो: विधानसभायां द्रमुक नेतारः अम्मा जयललिता महोदयाया सह कीदृशं व्यवहारम् कृतानि स्म ?

उन्होंने आगे एक तारीख का जिक्र किया ये तारीख है 25 मार्च 1989 ! पीएम मोदी ने कहा 25 मार्च 1989 को कभी न भूलें ! तमिलनाडु की विधानसभा में डीएमके नेताओं ने अम्मा जयललिता जी के साथ कैसा व्यवहार किया था ?

द्रमुकम् कांग्रेसम् च् महिला सशक्तिकरणस्य आह्वेयता न दाष्यत: ! तयो शासने महिलानां विरुद्धमघम् बर्धिते ! अस्य दिनांकस्य तमिलनाडो: राजनीत्यां बहु महत्वमस्ति ! ३२ वर्षाणि पूर्वम् अस्य दिवसम् तमिलनाडु विधानसभा हिंसक दृश्यम् दर्शितानि !

DMK और कांग्रेस महिला सशक्तिकरण की गारंटी नहीं देंगे ! उनके शासन में महिलाओं के खिलाफ अपराध बढ़े हैं ! इस तारीख का तमिलनाडु की राजनीति में काफी महत्व है ! 32 साल पहले इस दिन तमिलनाडु विधानसभा ने हिंसक दृश्य देखे गए !

तदा मुख्यमंत्री करुणानिधिम् प्रनुदित: स्म ! विपक्षे जयललितायाम् घातम् कृता स्म, सत्तारूढ़ दलस्य विधायकेन तस्या: शाटिका निर्वर्णयता ! अस्य दिवसम् विधानसभायाम् बहु उत्पातम् अभवत् !

तब मुख्यमंत्री करुणानिधि को धक्का दिया गया था ! विपक्ष में जयललिता पर हमला किया गया था, सत्तारूढ़ पार्टी के विधायक द्वारा उनकी साड़ी खींची गई ! इस दिन विधानसभा में जमकर हंगामा हुआ !

तत्कालीन मुख्यमंत्री एम करुणानिधिम् विपक्षी अन्नाद्रमुक विधायकाः भूम्याम् प्रलुठित: स्म ! करुणानिधौ अभवत् घातस्य प्रतिशोधाय विपक्षी नेता जयललितायाः शाटिका निर्वर्णयता तया च् सत्तारूढ़ द्रमुक नेतृभिः प्रनुदिता !

तत्कालीन मुख्यमंत्री एम करुणानिधि को विपक्षी अन्नाद्रमुक विधायकों ने जमीन पर धकेल दिया था ! करुणानिधि पर हुए हमले का बदला लेने के लिए विपक्षी नेता जयललिता की साड़ी खींच दी गई और उन्हें सत्तारूढ़ द्रमुक नेताओं द्वारा धक्का दिया गया !

जयललिता कथितः स्म मम सिरे घातम् कृता ! मयावर्तनम् यथानुभूता लगभगम् चचेत भविता ! यदा दलस्य विधायकाः मह्यं बाह्य निःसृतस्य प्रयत्नम् कृताः, तदा द्रमुकस्य एक: मंत्री मम शाटिका ग्रहीत्वा निर्वर्णयता !

जयललिता ने कहा था मेरे सिर पर वार किया ! मुझे चक्कर जैसा महसूस हुआ और लगभग बेहोश हो गई ! जब पार्टी के विधायकों ने मुझे बाहर निकालने की कोशिश की, तो डीएमके के एक मंत्री ने मेरी साड़ी पकड़ कर खींच ली !

अस्य कारणम् स्कंधे संयुक्ता शाटिकानियंत्रण यंत्रमनावृता घातम् च् आगता, रक्तस्राव भविष्यति ! शाटिका विभंजिता ! कथ्यते तत तदापि जयललिता प्रतिज्ञा ग्रहिता तत यदैव तत सदन महिलेभ्यः सुरक्षितं न भवितं ता अत्र पुनः नागमिष्यति !

इसके कारण कंधे पर लगी सेफ्टी पिन खुल गई और चोट आई, खून बहने लगा ! साड़ी फट गई ! कहा जाता है कि तभी जयललिता ने शपथ ली कि जब तक कि सदन महिलाओं के लिए सुरक्षित नहीं होता वो यहां वापस नहीं आएंगी !

द्वय वर्षमनंतरम् १९९१ तमे जयललिता विधानसभा निर्वाचनेषु करुणानिधि सर्वकारम् उन्मूलिता तमिलनाडो: च् मुख्यमंत्रिण: रूपे प्रतिज्ञा ग्रहिता !

दो साल बाद 1991 में जयललिता ने विधानसभा चुनावों में करुणानिधि सरकार को उखाड़ फेंका और तमिलनाडु के मुख्यमंत्री के रूप में शपथ ली !

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here