35.1 C
New Delhi

बंगस्य राजनित्याम् गोलिकां बचनम् अपशब्दं च् रणम् १४८ इत्यस्य च् ! बंगाल की सियासत में गोली बोली और गाली और लड़ाई 148 की !

Date:

Share post:

बंगस्य राजनित्याम् सदैव रणम् १४८ इत्यस्य भवन्ते ! भवान् आश्चर्ये भवितुम् शक्नोन्ति तत अंतम् रणम् १४८ इत्यस्यैव किं तर्हि महानुभाव इति प्रश्नस्य उत्तरम् स्वच्छमस्ति !

बंगाल की सियासत में हमेशा लड़ाई 148 की होती रही है ! आप आश्चर्य में हो सकते हैं कि आखिर लड़ाई 148 की ही क्यों तो जनाब इस सवाल का जवाब साफ है !

वस्तुतः पश्चिमबंगस्य विधानसभायाम् सम्पूर्ण २९४ सदस्या: चिनोन्ति सरकारः च् निर्माय यत् जादुई आकंड़ा इति भवति तः १४८ इत्यस्य भवति ! कारणम् सम्पूर्ण रणम् १४८ आसनानां अस्ति !

दरअसल पश्चिम बंगाल की विधानसभा में कुल 294 सदस्य चुने जाते हैं और सरकार बनाने के लिए जो मैजिक फिगर होता है वो 148 का होता है ! लिहाजा पूरी लड़ाई 148 सीटों की है !

यदि वार्ता बंगस्य राजनीतिम् कृतः तर्हि लगभगम् एक दशक: पूर्व यदा ममता बनर्जी वामदलस्य किलाम् अपातयत् तर्हि तः घटना इतिहासस्य पत्राषु पंजीकृतये ! सम्प्रति प्रश्नम् अयमस्ति तत किं २०२१ एकदा पुनः इतिहास लेखनाय तत्परास्ति,येन पश्यन् महत्वपूर्णम् भविष्यति !

अगर बात बंगाल की सियासत करें तो करीब एक दशक पहले जब ममता बनर्जी ने लेफ्ट का किला ढहा दिया तो वो घटना इतिहास के पन्नों में दर्ज हो गई ! अब सवाल यह है कि क्या 2021 एक बार फिर इतिहास लिखने के लिए तैयार है,इसे देखना अहम होगा !

येन प्रकारेण वृक्षेभ्यः पत्राणि पतन्ति,तादृशेन टीएमसी इत्ये पलायनम् अभवत् ! एकम् एकित्वा बहु प्रसिद्ध दलम् त्यक्तये ! यस्मिन् द्वय नाम महत्वपूर्णम् सन्ति यत् ममता मंत्रिपरिषदे मंत्री अपि आसीत् !

जिस तरह से पेड़ों से पत्ते झड़ते हैं ठीक उसी तरह से टीएमसी में भगदड़ मची है ! एक एक कर कई दिग्गज पार्टी को छोड़ चुके हैं जिसमें दो नाम अहम हैं जो ममता कैबिनेट में मंत्री भी थे !

नंदीग्रामे दलस्य वृहद मुखानि रम्यते शुभेंदु अधिकारी सम्प्रति भाजपायाम् सन्ति,येन सहैव वनमंत्री रम्यते राजीन बनर्जी अपि सम्प्रति ममतायाः सहाय्य त्यक्त:,येन सहैव हावड़ाया विधायक वैशाली डालमियाम् टीएमसी इति बाह्यस्य मार्गम् अदृश्यते !

नंदीग्राम में पार्टी के बड़े चेहरे रहे शुभेंदु अधिकारी अब बीजेपी में हैं,इसके साथ ही वन मंत्री रहे राजीन बनर्जी भी अब ममता का साथ छोड़ चुके हैं,इसके साथ ही हावड़ा से विधायक वैशाली डालमिया को टीएमसी बाहर का रास्ता दिखा चुकी है !

सम्प्रति प्रश्नम् अयमस्ति तत निर्वाचनेन तत्क्षण प्रथम येन प्रकारेण टीएमसी इत्यक: नावम् यात्राया संचलयन्ति तादृशैव स्थिते ममता बनर्जी नबन्नायाम् स्व ध्वजम् प्रचालयष्यते !

अब सवाल यह है कि चुनाव से ऐन पहले जिस तरह से टीएमसी वाली नाव पर सवारी करने से कतरा रहे हैं वैसे हालात में ममता बनर्जी नबन्ना पर अपना पताका फहरा पाएंगी !

१४८ इत्यस्य पश्चिम बंगस्य विधानसभायाः कार्यकाल: ३० मई इतम् समाप्यति ! १४८ आसनानां रणे कः भविष्यति सबलम् यदि वर्तमान विधानसभायाः वार्ताम् कुर्येत् तर्हि टीएमसी इत्यस्य पार्श्व लगभगम् २०० आसनानि सन्ति तर्हि किं ममता २०१६ तमस्य प्रदर्शनम् पुनः करिष्यते ?

148 की पश्चिम बंगाल की विधानसभा का कार्यकाल 30 मई को समाप्त हो रहा है ! 148 सीटों की लड़ाई में कौन पड़ेगा भारी अगर मौजूदा विधानसभा की बात करें तो टीएमसी के पास करीब 200 सीटें है तो क्या ममता 2016 के प्रदर्शन को दोहरा पाएंगी ?

२०११ तमे येन प्रकारेण सा वाम दलानां किलानि पातयत: स्म सरलं यथैव भाजपा इतिहास लेखनस्य तत्परैस्ति ! येन प्रकारेण टीएमसी इत्यस्य प्रसिद्धानि त्यक्त: किं ताः धरास्तरे स्व समर्थकानां मतानि भाजपाया: पक्षे परिवर्तितः कर्तुम् शक्ष्यते !

2011 में जिस तरह से उन्होंने वाम दलों के किले को ढहा दिया था ठीक वैसे ही बीजेपी इतिहास लिखने की तैयारी में है ! जिस तरह से टीएमसी के दिग्गजों ने पार्टी छोड़ी है क्या वो जमीनी स्तर पर अपने समर्थकों के मतों को बीजेपी के पक्ष में ट्रांसफर करवा सकेंगे !

अयम् सर्वम् इदृशं प्रश्नमस्ति यस्य उत्तरं तस्मात् महत्वपूर्णमस्ति कुत्रचित १४८ इत्यस्य आंकड़ा एव इति वार्तायाः निर्णयम् करिष्यति तत २०२१ तमे बंगस्य सत्तायाम् आसीनम् भविष्यति !

यह सब ऐसे सवाल है जिसका जवाब इसलिए अहम है क्योंकि 148 का आंकड़ा ही इस बात का फैसला करेगा कि 2021 में बंगाल की सत्ता पर काबिज होगा !

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

spot_img

Related articles

फैजान:, जिशानः, फिरोज: च् एकः वृद्ध आरएसएस कार्यकर्तारं अघ्नन् ! फैजान, जीशान और फिरोज ने बुजुर्ग RSS कार्यकर्ता को मार डाला !

राजस्थानस्य देवालयं प्रति गच्छन् एकः 65 वर्षीयः वृद्धस्य वध: अकरोत् । पूर्वं मृत्युः रोगेण अभवत् इति मन्यन्ते स्म,...

हिंदू बालिका मुस्लिम बालकः च् विवाहः अवैधः मध्यप्रदेशस्य उच्चन्यायालयः ! हिंदू लड़की और मुस्लिम लड़का शादी वैध नहीं-मध्यप्रदेश हाईकोर्ट !

मध्यप्रदेशस्य उच्चन्यायालयेन उक्तम् अस्ति यत् मुस्लिम्-बालकस्य हिन्दु-बालिकायाः च विवाहः मुस्लिम्-विधिना वैधविवाहः नास्ति इति। न्यायालयेन विशेषविवाह-अधिनियमेन अन्तर्धार्मिकविवाहेभ्यः आरक्षकाणां संरक्षणस्य...

भारतं अस्माकं भ्राता अस्ति, पाकिस्तानः अस्माकं शत्रुः अस्ति-अफगानी वृद्ध: ! भारत हमारा भाई, पाकिस्तान दुश्मन-अफगानी बुजुर्ग !

सहवासिन् पाकिस्तान-देशः न केवलं भारतस्य, अपितु अफ्गानिस्तान्-देशस्य च प्रतिवेशिनी अस्ति। अफ़्घानिस्तानस्य जनाः पाकिस्तानं न रोचन्ते। अफ्गानिस्तान्-देशे भयोत्पादनस्य प्रसारकानां...

बृजभूषण शरण सिंहस्य पुत्रस्य यात्रावाहनस्य फार्च्यूनर् इत्यनेन 2 बालकाः मृताः। बृजभूषण शरण सिंह के बेटे के काफिले में शामिल फॉर्च्यूनर से कुचल कर 2...

उत्तरप्रदेशस्य कैसरगञ्ज्-नगरे भाजप-अभ्यर्थी करणभूषणसिङ्घस्य यात्रावाहनस्य फार्च्यूनर् इत्यनेन 3 बालकाः धाविताः। अस्मिन् दुर्घटनायां 2 जनाः तत्स्थाने एव मृताः, अन्ये...