भारतेन सह मित्रतासंशोधनस्य वार्तागतैवैमरान खानम् लब्ध: ऋणम् ! भारत के साथ मित्रता सुधार की खबर आते ही इमरान खान को मिला कर्ज !

0
259

आर्थिकस्तरेदु:ष्ठु आवृतम् पकिस्तानमंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोषम् वृहदोपकार: दत्तम् ! आईएमएफ इति इमरान खानस्य सरकारं ५० कोटि अमेरिकी डॉलर इत्यस्य ऋणस्य ऋणच्छेदस्य सहमतिम् दत्तम् !

आर्थिक मोर्चे पर बुरी तरह घिरे पाकिस्तान को अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष (IMF) ने बड़ी राहत दी है ! आईएमएफ ने इमरान खान की सरकार को 50 करोड़ अमेरिकी डॉलर के कर्ज के भुगतान की मंजूरी दे दी है !

कोरोना महामार्या आर्थिक संकटेन रणितम् पकिस्तानम् अस्य ऋणेन जनान् जीवनम् साधु निर्माणे सहाय्य लब्धिष्यति ! विशेषवार्ता इदम् अस्ति तत आईएमएफ इत्येन पकिस्तानम् उपकारः इदृशं संबंधयो संशोधनस्य वार्तारंभितं !

कोरोना महामारी और आर्थिक संकट से जूझ रहे पाकिस्तान को इस कर्ज से लोगों का जीवन बेहतर बनाने में मदद मिलेगी ! खास बात यह है कि आईएमएफ से पाकिस्तान को राहत ऐसे समय मिली है जब भारत के साथ उसके अच्छे संबंधों में सुधार की वार्ता शुरू हुई है !

आईएमएफ इत्यस्यायोगम् दत्तम् ऋणच्छेदं सहमतिम् आईएमएफ इत्यस्य कार्यकारैयोगम् यम्प्रत्ये बुधवासरम् गोष्ठ्या: कृतम् एक्सटेंडेड ऐरेजमेंट अंडर द एक्सटेंडेंट फंड फेसिलिटी (ईएफएफ) इत्यस्य पंचदा समीक्षा कृतमानः अस्य ऋणम् सहमतिम् दत्तम् !

आईएमएफ के बोर्ड ने दी भुगतान को मंजूरी
आईएमएफ के कार्यकारी बोर्ड ने इस बारे में बुधवार को बैठक की और एक्सटेंडेड ऐरेजमेंट अंडर द एक्सटेंडेंट फंड फेसिलिटी (ईएफएफ) की पांचवीं बार समीक्षा करते हुए इस कर्ज को मंजूरी दी !

आयोगस्य सहमतिम् लब्धस्यानंतरम् पकिस्तानम् तत्क्षण ५० कोटि अमेरिकी डॉलर इत्यस्य ऋणच्छेदं भविष्यति ! आईएमएफ स्व एके कथने कथितम् तत पकिस्तानमागत काले लगभगम् द्वय अर्बुद अमेरिकी डॉलर इत्यस्य ऋणम् प्राप्यिष्यति !

बोर्ड की मंजूरी मिलने के बाद पाकिस्तान को तत्काल 50 करोड़ अमेरिकी डॉलर का भुगतान होगा ! आईएमएफ ने अपने एक बयान में कहा कि पाकिस्तान को आने वाले समय में करीब दो अरब अमेरिकी डॉलर का कर्ज मिलेगा !

आईएमएफ इत्यस्य कथनमस्ति, कोरोना संकटेन रणितम् पकिस्तानम् अस्य ऋणेन स्व जनानामाजीविकायाम् संशोधनमानीयम् अर्थव्यवस्थाय नीत्य: निर्माणे सहाय्य प्राप्यिष्यति !

आईएमएफ का कहना है, कोरोना संकट से जूझ रहे पाकिस्तान को इस कर्ज से अपने लोगों की आजीविका में सुधार लाने और अर्थव्यवस्था के लिए नीतियां बनाने में मदद मिलेगी !

इदमेपकारमार्थिकं गतिविध्य: गतिदत्तेन सह- सह ऋणे स्थिरतानिष्यति ! यस्मात् देशे भवक: विकासेन पाकिस्तानी जनान् लाभम् प्राप्यिष्यति !

यह राहत आर्थिक गतिविधियों को गति देने के साथ-साथ ऋण में स्थिरता लाएगी ! इससे देश में होने वाले विकास से पाकिस्तानी लोगों को लाभ पहुंचेगा !

आईएमएफ इत्यस्य उपमहाप्रबंधक एक्टिंग चेयर वा एंटोयनेट सायेह: कथितः तत प्रारूप युक्तावरोधम् द्रुतम् कृतस्योपक्रमै: आर्थिक उत्पादने, स्वयत्ता क्षेत्रे निवेशम् विश्वासम् च् बर्धिष्यति !

आईएमएफ के डेप्युटी मैनेजिंग डाइरेक्टर एवं एक्टिंग चेयर एंटोयनेट सायेह ने कहा कि ढांचागत रुकावटों को दूर करने के प्रयासों से आर्थिक उत्पादन, निजी क्षेत्र में निवेश और भरोसा बढ़ेगा !

इमरान खानस्य सरकारः अस्य कालम् कोरोनाया, अधिमूल्यताया भ्रष्टाचारेण सहार्थिकं स्थानम् यथाभ्यांतरं संकटेनाच्छादितं, इमरानस्य सत्तायामागमनस्यनंतरमर्थव्यवस्थां अति क्षतिग्रस्तं भवितं !

इमरान खान की सरकार इस समय कोरोना, महंगाई, भ्रष्टाचार सहित आर्थिक मोर्चे जैसे आंतरिक समस्याओं से घिरी हुई है ! इमरान के सत्ता में आने के बाद अर्थव्यवस्था और डंवाडोल हो गई !

फाइनेंशियल एक्शन टॉस्क फोर्स (एफएटीएफ) इत्ये प्रकरणम् चरस्य कारणेन तेनांतरराष्ट्रीय संस्थाभिः ऋणम् लब्धम् लगभगम्-लगभगम् अवरुद्धम् भवितं ! इदृशेषु आईएमएफ तेन एकं वृहदमोपकारः दत्तम् !

फाइनेंशियल एक्शन टॉस्क फोर्स (एफएटीएफ) में मामला चलने की वजह से उसे अंतरराष्ट्रीय संस्थाओं से कर्ज मिलना करीब-करीब बंद हो गया है ! ऐसे में आईएमएफ ने उसे एक बड़ी राहत दी है !

इमरान खान: केचन दिवसानि पूर्वाकथ्यते तत धनस्य न्यूनता भवस्य कारणम् तस्य सरकारः स्वास्थ्ये शिक्षायाम् च् बहु व्ययम् न कर्तुम् प्राप्नोति ! खाड़ी इत्यस्य देशै: पकिस्तानमार्थिकं सहाय्य लब्धति !

इमरान खान कुछ दिनों पहले कह चुके हैं कि फंड की कमी होने के चलते उनकी सरकार स्वास्थ्य और शिक्षा पर ज्यादा खर्च नहीं कर पा रही है ! खाड़ी के देशों से पाकिस्तान को आर्थिक मदद मिलती रही है !

सऊदी अरब काले काले पकिस्तानम् सहाय्य रूपे आर्थिकं सहाय्य ददाति तु पूर्व केचन कालेन पकिस्तानस्य संबंध सऊदी संयुक्तारब अमीरात (यूएई) द्वयाभ्यां असाधु अभवन् !

सऊदी अरब समय समय पर पाकिस्तान को सहायता के रूप में आर्थिक मदद देता रहा है लेकिन पिछले कुछ समय से पाकिस्तान के संबंध सऊदी और संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) दोनों से खराब हुए हैं !

एते द्वे देशे पकिस्तानेन स्व ऋणम् पुनः याचितं ! यस्मातार्थिकं क्षीणतायाः समाघातम् कारितं अस्य देशम् अति संकटम् भवितं स्म ! एतानां देशानां अतिरिक्तं पकिस्ताने चिन अंतरराष्ट्रीय वित्तीय संस्थानां बहु ऋणमस्ति !

इन दोनों देशों ने पाकिस्तान से अपना कर्ज वापस मांग लिया ! इससे आर्थिक बदहाली का सामना कर रहे इस देश को और मुश्किल होने लगी थी ! इन देशों के अलावा पाकिस्तान पर चीन और अंतरराष्ट्रीय वित्तीय संस्थाओं का भारी कर्ज है !

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here