तदा किं भारतेन वार्तालापमेच्छति पकिस्तानम्, राजनयिकस्य कथनेन लब्धम् संकेतम् ! तो क्या भारत से बातचीत चाहता है पाकिस्तान, राजनयिक के बयान से मिले संकेत !

0
398

भारत-पकिस्तान संबंधे गृहित्वा पाक उच्चायोगस्य वरिष्ठ राजनयिक आफताब हसन खान: भौमवासरम् वृहद कथनं दत्त: ! खान: कथितः तत द्वयो देशयो स्वदेशस्य निर्धनता अशिक्षा च् मार्जनाय कार्यम् करणीय: !

भारत-पाकिस्तान रिश्ते को लेकर पाक उच्चायोग के वरिष्ठ राजनयिक आफताब हसन खान ने मंगलवार को बड़ा बयान दिया ! खान ने कहा कि दोनों देशों को अपने देश की गरीबी और अशिक्षा मिटाने के लिए काम करना चाहिए !

कश्मीर प्रकरणस्य हलम् परस्परं वार्तालापेण कृते बलम् दत्तमानः पकिस्तानी अधिकारी: कथितः तत इदृशं तथापि भवितुम् शक्नोति यदा द्वयो देशयो मध्य शान्तिमसि !

कश्मीर मुद्दे का समाधान आपसी बातचीत से करने पर जोर देते हुए पाकिस्तानी अधिकारी ने कहा कि ऐसा तभी हो सकता है जब दोनों देशों के बीच शांति हो !

पूर्व केचन दिवसेषु पकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान: सेना प्रमुखः कमर जावेद बाजवा: च् भारतेन सह साधु संबंध निर्माणस्य संकेतम् दत्तौ ! अधुना राजनयिकस्यास्य कथनं तमेव क्रमे दृश्यतुम् शक्नोति !

पिछले कुछ दिनों में पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान और सेना प्रमुख कमर जावेद बाजवा ने भारत के साथ अच्छे संबंध बनाने के संकेत दिए हैं ! अब राजनयिक के इस बयान को उसी क्रम में देखा जा सकता है !

आफताब हसन खान: कथितः पकिस्तान स्व सहवासिन् देशै: सह साधु संबंध इच्छति ! सः कथितः, इदम् शांतिम् भवैव संभवमस्ति यस्मै च् जम्मू-कश्मीरेण सह सर्वाणि प्रकरणानां हलम् वार्तालापेण भवनीय: !

आफताब हसन खान ने कहा पाकिस्तान अपने पड़ोसी देशों के साथ अच्छे संबंध चाहता है ! उन्होंने कहा, यह शांति होने पर ही संभव है और इसके लिए जम्मू-कश्मीर सहित सभी मुद्दों का समाधान बातचीत के जरिए होना चाहिए !

कश्मीरस्य प्रकरण पूर्व ७० वर्ष तः चरति ! राजनयिकरग्रम् कथितः ततेदमावश्यकमस्ति तत द्वे देशे युद्धम् प्रत्ये विचारणस्य स्थानम् स्व देशे निर्धनताशिक्षा च् द्रुतस्य दिशायाम् कार्यम् कुर्वन्तु ! इदम् तथापि संभवमस्ति यदा द्वयो देशयो मध्य शान्तिमसि !

कश्मीर का मसला पिछले 70 सालों से चल रहा है ! राजनयिक ने आगे कहा कि यह जरूरी है कि दोनों देश युद्ध के बारे में सोचने की जगह अपने देश में गरीबी और अशिक्षा दूर करने की दिशा में काम करें ! यह तभी संभव है जब दोनों देशों के बीच शांति हो !

पूर्व केचन दिवसेषु भारत पकिस्तान द्वयो देशयो दृष्टयो नम्रतां पश्ये लब्धे ! इदम् नम्रता कश्चित वृहद परिवर्तनस्य संकेतस्य रूपे दृश्यते !

पिछले कुछ दिनों में भारत और पाकिस्तान दोनों देशों के तेवर में नरमी देखने को मिली है ! ये नरमी किसी बड़े बदलाव के संकेत के रूप में देखा जा रहा है !

पूर्व मासम् भारत पाकिस्तान च् द्वयो देशयो शीर्ष सैन्य प्रमुखौ २००३ तमस्य संघर्षविराम सहमत्या: अनावृतस्य घोषणा कृते सर्वान् च् चकिते !

पिछले महीने भारत और पाकिस्तान दोनों देशों के शीर्ष सैन्य प्रमुखों ने 2003 के संघर्षविराम समझोते की बहाली की घोषणा कर सभी को चौंका दिया !

अस्यातिरिक्त इमरान खानस्य श्रीलंका भ्रमणाय भारत स्व वायू क्षेत्रम् अनावृत: ! खानस्य कोरोनाया संक्रमित भवे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी: तस्य शीघ्र स्वास्थ्यलाभस्य प्रार्थनाम् कृतरस्ति !

इसके अलावा इमरान खान के श्रीलंका दौरे के लिए भारत ने अपना वायु क्षेत्र खोला ! खान के कोरोना से संक्रमित होने पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उनके जल्द ठीक होने की कामना की है !

ब्लूमबर्गस्य एकम् सूचनायाम् अधिकारिभिः सोमवासरं दृढ़कथनमक्रियन् तत भारत पकिस्तानच्मध्य एतानि दिवसानि जवनिकायाः अभ्यांतरं बहु केचन चरति !

ब्लूमबर्ग की एक रिपोर्ट में अधिकारियों के हवाले से सोमवार को दावा किया गया कि भारत और पाकिस्तान के बीच इन दिनों पर्दे के भीतर बहुत कुछ चल रहा है !

आगतेषु दिवसेषु इमे द्वे देशे केचन वृहद पगयो घोषणाम् कर्तुम् शक्नुत: ! सूचनायाम् अकथ्यते तत द्वयो देशयो संबंधे मार्गे आनाय संयुक्तारब अमीरात मध्यस्थतायाः भूमिकाम् निर्वहति !

आने वाले दिनों में ये दोनों देश कुछ बड़े कदमों की घोषणा कर सकते हैं ! रिपोर्ट में कहा गया है कि दोनों देशों के संबंधों को पटरी पर लाने के लिए संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) मध्यस्थता की भूमिका निभा रहा है !

द्वयो देशयो मध्य व्यापारम् पूर्वस्य भांति आरंभ भवितुम् शक्नुतः ! फरवरी मासे विदेशमंत्री एस जयशंकर संयुक्तारबामिरातस्य यात्रायाम् गतः स्म !

दोनों देशों के बीच कारोबार पहले की तरह शुरू हो सकता है ! फरवरी माह में विदेश मंत्री एस जयशंकर यूएई की यात्रा पर गए थे !

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here