जावेद अख्तरस्य विवादपूर्ण कथनं, आरएसएस इतस्य समर्थने आगतं शिवसेनाम्, कथितं, तालिबानिभि: तुलनाम् सम्यक् न ! जावेद अख्तर का विवादित बयान, RSS के समर्थन में आई शिवसेना, कहा, तालिबानियों से तुलना ठीक नहीं !

0
374

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघस्य तुलनाम् तालिबानतः कृते शिवसेनाम् गीतकार: जावेद अख्तरमुत्तरम् दत्तं ! स्व मुखपत्रम् सामनायाः संपादकीये शिवसेनाम् आरएसएस इत्येन सह तालिबानस्य मानसिकतायाः तुलनाम् कृतं निरस्तं कृतं !

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की तुलना तालिबान से करने पर शिवसेना ने गीतकार जावेद अख्तर को जवाब दिया है ! अपने मुखपत्र सामना के संपादकीय में शिवसेना ने आरएसएस के साथ तालिबान की मानसिकता की तुलना किए जाने को खारिज किया है !

समनालिखत् तत यत् जनाः इदृशं विचार्यन्ति तै: आत्ममंथनस्यावश्यकतामस्ति, शिवसेनायाः कथनं अस्ति तत चरमपंथस्य विरुद्धम् अख्तर: काले-काले स्वरमुत्थायति !

सामना ने लिखा है कि जो लोग ऐसा सोचते हैं उन्हें आत्ममंथन करने की जरूरत है,शिवसेना का कहना है कि चरमपंथ के खिलाफ अख्तर समय-समय पर आवाज उठाते रहे हैं !

संघेण सह मतभेदम् भवितुम् शक्नोति, पुनश्चापि शीर्षकेण लिखितं संपादकीये शिवसेनाम् कथितं, देशस्य बहवः जनसंख्या धर्मनिरपेक्षमस्ति ! अत्र जनाः परस्परेण सम्मानेण सह व्यवहरन्ति ! तालिबानस्य विचारधारात्र न प्रस्फुटितुम् शक्नुतं !

संघ के साथ मतभेद हो सकते हैं, फिर भी शीर्षक से लिखे गए संपादकीय में शिवसेना ने कहा है, देश की ज्यादातर जनसंख्या धर्मनिरपेक्ष है ! यहां लोग एक दूसरे से सम्मान के साथ बर्ताव करते हैं ! तालिबान की विचारधारा यहां नहीं पनप सकती !

यदि संघस्य विचारधारा तालिबानी भवितं तर्हि त्र्य तलाक इति विधेयकं न निर्मितैति नैव च् लक्षान् मुस्लिम महिलान् स्वतंत्रतायाः रश्मि परिलक्षितं ! सामना हिंदूराष्ट्रस्य वार्ता कृतमानः कथितं तत बहुसंख्यक हिंदून् सततं भारम् न भारयन्तु !

अगर संघ की विचारधारा तालिबानी होती तो तीन तलाक कानून नहीं बनाए जाते और न ही लाखों मुस्लिम महिलाओं को आजादी की किरण दिखती ! सामना ने हिंदू राष्ट्र की वकालत करते हुए कहा है कि बहुसंख्यक हिंदुओं को लगातार दबाया न जाए !

संपादकीये अलिखत्, अफगानिस्तानस्य तालिबानी शासनम् न केवलं समाजमपितु मानव जातिभिः सर्वात् वृहद संकटमस्ति !

संपादकीय में लिखा है, अफगानिस्तान का तालिबानी शासन न सिर्फ समाज बल्कि मानव जाति के लिए सबसे बड़ा खतरा है !

पकिस्तानं, चिनं यथा बहु अन्य देशानि समर्थनम् कृतानि कुत्रचितैतेषु देशेषु मानवाधिकारस्य, लोकतंत्रस्य, व्यक्तिगत स्वतंत्रतायाः कश्चित मानः न सन्ति ! हिंदुस्तान प्रत्येक प्रकारेण सहिष्णु देशमस्ति !

पाकिस्तान, चीन जैसे कई अन्य देशों ने समर्थन किया है क्योंकि इन देशों में मानवाधिकार, लोकतंत्र, व्यक्तिगत स्वतंत्रता का कोई मान नहीं है ! हिंदुस्तान हर तरह से सहिष्णु देश है !

एकम् दूरदर्शनम् कार्यक्रमेण सहवार्तालापे गीतकार: कथित: येन प्रकारम् तालिबानमेकम् इस्लामी देशम् निर्मीतुमिच्छति !

एक टेलिविजन कार्यक्रम के साथ बातचीत में गीतकार ने कहा जिस तरह तालिबान एक इस्लामी देश बनाना चाहता है तो ऐसे लोग भी हैं जो हिंदू राष्ट्र चाहते हैं !

इमे सर्वा: जनाः एकं यथैव विचारधारायाः इव सन्ति इमे मुस्लिमा: स्थ, ईसाईन् स्थ, यहूदिन् स्थ: हिंदवः स्थ ! यत् जनाः बजरंग दळम्, आरएसएस वीएचपी च् यथा संगठनानां समर्थनम् कुर्वन्ति, ताः एकस्य प्रकारस्य इव सन्ति !

ये सभी लोग एक जैसी विचारधारा के ही हैं भले ही ये मुसलमान हों, ईसाई हों, यहूदी हों या हिंदू हों ! जो लोग बजरंग दल, आरएसएस और वीएचपी जैसे संगठनों का समर्थन करते हैं, वो सब एक तरह के ही हैं !

अख्तरस्यैति कथने भारतीय जनता दळम् खिन्न: जात: ! महाराष्ट्र भाजपायाः अध्यक्ष: रामकदम: कथित: ततैति कथनाय जावेद अख्तर: यदैव करबध्वा देशतः क्षमा न याचित: !

अख्तर के इस बयान पर भारतीय जनता पार्टी भड़क गई ! महाराष्ट्र भाजपा के अध्यक्ष राम कदम ने कहा कि इस बयान के लिए जावेद अख्तर जब तक हाथ जोड़कर देश से माफी नहीं मांगते !

तदैव तस्य तस्य च् कुटुंबेण संलग्नानि कश्चितापि चलचित्रम् चरितुम् न दाष्यते ! भाजपा नेता शिवसेनाया पृच्छत: तत तः इति कथनाय जावेद अख्तरम् बंधनम् किं न कारितं !

तब तक उनके और उनके परिवार से जुड़ी कोई भी फिल्म चलने नहीं दी जाएगी ! भाजपा नेता ने शिवसेना से पूछा कि वह इस बयान के लिए जावेद अख्तर को गिरफ्तार क्यों नहीं करती !

तालिबान यथैव प्रवृत्ति अत्र बर्धितुम् न शक्नुतं, शिवसेना नेता संजय राउत: कथित: अस्माकं देशस्य कश्चितापि संगठनस्य संस्थायाः वा तुलना तालिबानिभि: कृतं सम्यक् नास्ति !

तालिबान जैसी प्रवृत्ति यहां नहीं बढ़ सकती,
शिवसेना नेता संजय राउत ने कहा हमारे देश के किसी भी संगठन या संस्था की तुलना तालिबानियों से करना ठीक नहीं है !

भारतमेकम् कठोर लोकतांत्रिक देशमस्ति ! तालिबान यथैव प्रवृत्ति अत्र बर्धितुम् शक्नुतं ! अत्रस्य जनाः योद्धकाः संघर्षकर्ता: च् जनाः सन्ति !

भारत एक मजबूत लोकतांत्रिक देश है ! तालिबान जैसी प्रवृत्ति यहां नहीं बढ़ सकती ! यहां की जनता लड़ने वाली और संघर्ष करने वाली जनता है !

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here