25.7 C
New Delhi

मुख्य न्यायाधीश एनवी रमना: कथित: संसदे गुणवत्तापूर्ण वार्तालापस्य न्यूनता, विधेयकानां पश्चस्याभिप्राय ज्ञातम् न भवितं ! मुख्य न्यायाधीश एनवी रमना ने कहा संसद में गुणवत्तापूर्ण बहस की कमी, कानूनों के पीछे की मंशा पता नहीं चलती !

Date:

Share post:

भारतस्य मुख्य न्यायाधीश एनवी रमना: संसदे गुणवत्तापूर्ण वार्तालापस्य न्यूनतायां निराशा व्यक्तमस्ति ! सः वर्तमान स्थितिम् एकम् खेदपूर्ण स्थितिम् कथित: !

भारत के मुख्य न्यायाधीश एनवी रमना ने संसद में गुणवत्तापूर्ण बहस की कमी पर निराशा व्यक्त की है ! उन्होंने वर्तमान स्थिति को एक खेदजनक स्थिति कहा है !

सर्वोच्च न्यायालये स्वतंत्रता दिवसस्य एके कार्यक्रमे बदमानः सीजेआई रमना: कथित: इदृशमनुभवति तत विधि निर्माणस्य काळम् संसदे गुणवत्तापूर्ण वार्तालापस्य न्यूनतास्ति !

सुप्रीम कोर्ट में स्वतंत्रता दिवस के एक कार्यक्रम में बोलते हुए सीजेआई रमना ने कहा ऐसा लगता है कि कानून बनाने के दौरान संसद में गुणवत्तापूर्ण बहस की कमी है !

यस्मात् बहवः अभियोगानि भवति न्यायालया: च् गुणवत्तापूर्ण वार्तालापस्याभावे नव विधेयकस्य पश्चस्याभिप्रायस्योद्देश्यस्य च् ज्ञाने असमर्थ: सन्ति !

इससे बहुत सारी मुकदमेबाजी होती है और अदालतें गुणवत्तापूर्ण बहस के अभाव में नए कानून के पीछे की मंशा और उद्देश्य की थाह लेने में असमर्थ हैं !

सीजेआई रमना: कथित: तत विधेयकेषु बहु अस्पष्टतासीत् यस्मात् अभियोगान् बर्धनम् ळब्धम् यस्मात् नागरिकेभ्यः न्यायालेभ्यः अन्य च् हितधारकेभ्यः असुविधामोत्पन्नानि !

CJI रमना ने कहा कि कानूनों में बहुत अस्पष्टता थी जिससे मुकदमेबाजी को बढ़ावा मिला और इससे नागरिकों, अदालतों और अन्य हितधारकों के लिए असुविधा पैदा हुई !

सम्प्रति इदमेकम् दुःखपूर्ण स्थितिमस्ति ! विधेयकेषु बहु अस्पष्टतास्ति न्यायालयाः च् विधेयक निर्माणस्य पश्चस्योद्देश्यमभिप्रायं न ज्ञायन्ति !

अब यह एक खेदजनक स्थिति है ! कानूनों में बहुत अस्पष्टता है और अदालतें कानून बनाने के पीछे के उद्देश्य और मंशा को नहीं जानती हैं !

मुख्य न्यायाधीश एनवी रमना: अयमपि कथित: तत स्वतंत्रतायाः अनंतरमधिवक्ता वृहद संख्यायां संसदे उपस्थितरासीत्, यस्मात् संभवत: गुणवत्तापूर्ण वार्तालापमभवत् !

चीफ जस्टिस एनवी रमना ने यह भी कहा कि स्वतंत्रता के बाद वकील बड़ी संख्या में संसद में मौजूद थे, जिससे शायद गुणवत्तापूर्ण बहस हुई !

अधिवक्ता समुदायम् स्वयमम् सार्वजनिक जीवने समर्पितम् करणीय: संसदीय वार्तालापेषु च् परिवर्तनमानीय: !

वकील समुदाय को खुद को सार्वजनिक जीवन में समर्पित करना चाहिए और संसदीय बहसों में बदलाव लाना चाहिए !

यदि भवन्तः तानि दिवसानि सदनेषु भवक: वार्तालापान् पश्यन्तु, तर्हि ते बहु बुद्धिमत्तापूर्ण, रचनात्मकम् भवितुम् करोति स्म !

यदि आप उन दिनों सदनों में होने वाली बहसों को देखें, तो वे बहुत बुद्धिमान, रचनात्मक हुआ करती थीं !

सम्प्रति खेदस्य स्थितिमस्ति, विधेयकेषु कश्चित स्पष्टता नास्ति ! इदम् बहवः अभियोगान् सर्वकारान् क्षतिभिः सह-सह जनान् असुविधा उत्पादयन्ति !

अब, खेद की स्थिति है, कानूनों में कोई स्पष्टता नहीं है ! यह बहुत सारे मुकदमेबाजी और सरकार को नुकसान के साथ-साथ जनता को असुविधा पैदा कर रहा है !

सः कथित: यदि वयं स्व स्वतंत्रता सेनानीन् पश्याम, तर्हि तेषुतः बहु विधिवेत्ता जनेषु अप्यासन् ! प्रथम लोकसभ: राज्यसभ: च् बहुसदस्या: अधिवक्तासन् ! दुर्भाग्यपूर्णमस्ति तत सम्प्रति भवन्तः सदनेषु यत् दृष्यन्ति !

उन्होंने कहा अगर हम अपने स्वतंत्रता सेनानियों को देखें, तो उनमें से कई कानूनी बिरादरी में भी थे ! पहले लोकसभा और राज्यसभा के कई सदस्य वकील थे ! दुर्भाग्यपूर्ण है कि अब आप सदनों में जो देख रहे हैं !

तंकाळम् सदनेषु वाद-विवाद बहुरचनात्मकमासीत् ! अहम् वित्तीय विधेयकेषु वार्तालापम् पश्यानि बहु च् रचनात्मक बिंदु निर्मितानि ! विधेयकेषु चर्चामभवत् विचार्य-विमर्शम् च् कृतानि !

उस समय सदनों में वाद-विवाद बहुत रचनात्मक थे ! मैंने वित्तीय बिलों पर बहस देखी और बहुत रचनात्मक बिंदु बनाए ! कानूनों पर चर्चा की गई और विचार-विमर्श किया गया !

वर्तमानैव संपादितमानः मानसून सत्रे पेगासस स्पाइवेयर गोलमालम् गृहीत्वा बहु कलहमभवत्, यस्य कारणम् सदनस्य कार्यवाहिम् सम्यकरूपेण न चरितं !

हाल ही में खत्म हुए मानसून सत्र में पेगासस स्पाइवेयर घोटाले को लेकर खूब हंगामा हुआ, जिसके चलते सदन की कार्यवाही अच्छे से नहीं चल पाई !

तत्रैव सर्वकारः व्यवधानानामोपरांत बहु विधेयकान् संस्तुत्या: निर्णयम् कृतः ! विपक्ष: प्रतिस्पशस्यारोपेषु चर्चायाः याचनां करोति समझ तत्रैव बहु विधेयकानि विनाकश्चित चर्चायाः पारितम् कृतवान !

वहीं सरकार ने व्यवधानों के बावजूद कई विधेयकों को पास कराने का फैसला किया ! विपक्ष जासूसी के आरोपों पर चर्चा की मांग कर रहा था वहीं कई बिल बिना किसी चर्चा के पारित किए गए !

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

spot_img

Related articles

कन्हैया लाल तेली इत्यस्य किं ?:-सर्वोच्च न्यायालयम् ! कन्हैया लाल तेली का क्या ?:-सर्वोच्च न्यायालय !

भवतम् जून २०२२ तमस्य घटना स्मरणम् भविष्यति, यदा राजस्थानस्योदयपुरे इस्लामी कट्टरपंथिनः सौचिक: कन्हैया लाल तेली इत्यस्य शिरोच्छेदमकुर्वन् !...

१५ वर्षीया दलित अवयस्काया सह त्रीणि दिवसानि एवाकरोत् सामूहिक दुष्कर्म, पुनः इस्लामे धर्मांतरणम् बलात् च् पाणिग्रहण ! 15 साल की दलित नाबालिग के साथ...

उत्तर प्रदेशस्य ब्रह्मऋषि नगरे मुस्लिम समुदायस्य केचन युवका: एकायाः अवयस्का बालिकाया: अपहरणम् कृत्वा तया बंधने अकरोत् त्रीणि दिवसानि...

यै: मया मातु: अंतिम संस्कारे गन्तुं न अददु:, तै: अस्माभिः निरंकुश: कथयन्ति-राजनाथ सिंह: ! जिन्होंने मुझे माँ के अंतिम संस्कार में जाने नहीं दिया,...

रक्षामंत्री राजनाथ सिंहस्य मातु: निधन ब्रेन हेमरेजतः अभवत् स्म, तु तेन अंतिम संस्कारे गमनस्याज्ञा नाददात् स्म ! यस्योल्लेख...

धर्मनगरी अयोध्यायां मादकपदार्थस्य वाणिज्यस्य कुचक्रम् ! धर्मनगरी अयोध्या में नशे के कारोबार की साजिश !

उत्तरप्रदेशस्यायोध्यायां आरक्षकः मद्यपदार्थस्य वाणिज्यकृतस्यारोपे एकाम् मुस्लिम महिलाम् बंधनमकरोत् ! आरोप्या: महिलायाः नाम परवीन बानो या बुर्का धारित्वा स्मैक...