25.7 C
New Delhi

ईदस्यावसरे प्रज्ज्वलितं जोधपुर, ध्वजम् गृहीत्वा इदृशं कार्यमसाधुमभवत् ! ईद के मौके पर जल उठा जोधपुर, झंडे को लेकर ऐसे बिगड़ गई बात !

Date:

Share post:

राजस्थानस्य जोधपुरे ईदस्यावसरे बहूग्र स्थितिम् सन्ति ! मुख्यमंत्री अशोक गहलोतस्य गृहनगर जोधपुरे कलहम् सोमवासरम् बहुरात्रि आरंभितं पुनः च् प्रकरणमियत् उद्दतं तताद्यापि एव (मध्यान्ह १ वादनमेव) स्थितिम् सामान्यं न भवितं ! आरंभे एकस्य समुदायस्य ध्वजम् निर्वर्तित्वा द्वितीयस्य ध्वजम् स्थापितेणाभवत् !

राजस्थान के जोधपुर में ईद के मौके पर बेहद तनावपूर्ण हालात हैं ! मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के गृहनगर जोधपुर में विवाद सोमवार देर रात शुरू हुआ और फिर मामला इतना भड़क गया कि अभी तक (दोपहर 1 बजे तक) हालात सामान्य नहीं हो पाए हैं ! शुरूआत एक समुदाय के झंडे को हटाकर दूसरे के झंडे लगाने से हुई !

तस्यानंतरम् स्थितिमियत् उग्रमभवत् तत द्वयो समुदाययो मध्य प्रस्तरप्रहारमारंभितौ ! इति प्रस्तर प्रहारे ५ आरक्षककर्मिण: आहताः अभवन् ! तु बहु रात्र्या आरंभितं सांप्रदायिककलहमद्यापि एव न संपादितं ! ळब्धाभिज्ञानमनुसारम् कलहस्यारंभम् सोमवासरम् रात्रि ११ तः १२ वादनस्य मध्याभवत् !

उसके बाद माहौल इतना तनावपूर्ण हो गया कि दोनों समुदाय के बीच पत्थरबाजी शुरू हो गई ! इस पत्थरबाजी में 5 पुलिसकर्मी घायल हो गए ! लेकिन देर रात से शुरू हुआ सांप्रदायिक तनाव अभी तक खत्म नहीं हो पाया है ! मिली जानकारी के अनुसार विवाद की शुरूआत सोमवार रात 11 से 12 बजे के बीच हुई !

यदाल्पसंख्यक समुदायस्य केचन जनाः ईदस्यावसरे जालोरी द्वारस्य पार्श्व एके चतुर्मार्गे धार्मिक ध्वजम् स्थाप्यति स्म ! तै: इदृशं कर्तुं दृष्ट द्वितीय समुदायस्य जनाः प्राप्ता: ! तेषां दृढ़कथनमासन् तत चतुर्मार्गे स्थापितं स्वतंत्रता सेनानी बालमुकुंद बिस्सायाः प्रतिमायां इस्लामिक ध्वजम् स्थाप्यते स्म !

जब अल्पसंख्यक समुदाय के कुछ लोग ईद के मौके पर जालोरी गेट के पास एक चौराहे पर धार्मिक झंडे लगा रहे थे ! उन्हें ऐसा करता देख दूसरे समुदाय के लोग पहुंच गए ! उनका दावा था कि चौराहे पर स्थापित स्वतंत्रता सेनानी बालमुकुंद बिस्सा की प्रतिमा पर इस्लामिक झंडा लगाया जा रहा था !

यस्य ते विरोधम् कुर्वन्ति स्म कुत्रचित परशुराम जयंत्या: अवसरे तत्र स्थापितं भगवा ध्वजं निर्वर्तित्वा इस्लामिक ध्वजम् स्थापितं स्म, यं गृहीत्वा द्वयो समुदाययो जनाः संमुखमागताः पुनः च् समाघातम् आरंभितं !

जिसका वे लोग विरोध कर रहे थे क्योंकि परशुराम जयंती के अवसर पर वहां लगे भगवा ध्वज को हटाकर इस्लामिक ध्वज लगा दिया गया था, इसको लेकर दोनों समुदाय के लोग आमने सामने आ गए और फिर झड़प शुरू हो गई !

आरक्षकः सम्मर्दमवरोधाय वाष्पगैस इत्या: गोलकं प्रहारित: दंडघातमपि च् कृतः ! स्थितिम् बहुरात्रि नियंत्रणे नीत:, तु प्रातः पुनः हिंसारंभितं ! जोधपुर आरक्षकरायुक्ता नवज्योति गोगोई ज्ञापिता तत अद्यतन: स्थितिम् नियंत्रणे अस्ति उत्पातकेषु च् विध्या: अनुरूपम् कार्यवाहिम् करिष्यते !

पुलिस ने भीड़ को रोकने के लिए आंसू गैस के गोले छोड़े और लाठी चार्ज भी किया ! हालात को देर रात काबू में लिया गया, लेकिन सुबह फिर हिंसा शुरू हो गई ! जोधपुर पुलिस आयुक्त नवज्योति गोगोई ने बताया कि फिलहाल स्थिति नियंत्रण में है और उपद्रवियों पर कानून के तहत कार्रवाई की जाएगी !

आरक्षककर्मिन् न्यून घातमागतवान ! किवदंती: प्रसरेणावरोधाय क्षेत्रे दूरभाष अंतर्जाल सेवा: अपि अवरुद्धम् ! तु यस्योपरांत यदा भौमवासरम् प्रातः जालोरी द्वारस्य पार्श्व ईदगाहे ईदस्य नमाज इति कृतवान तर्हि नमाजस्यानंतरम् पुनः उष्णता बर्धितं !

पुलिस कर्मियों को मामूली चोटें आई हैं ! अफवाहों को फैलने से रोकने के लिए इलाके में मोबाइल इंटरनेट सेवाएं भी बंद कर दी गई ! लेकिन इसके बावजूद जब मंगलवार को सुबह जालोरी गेट के पास ईदगाह पर ईद की नमाज अदा की गई तो नमाज के बाद फिर तनाव बढ़ गया !

क्षेत्रे प्रस्तरप्रहारमारंभितं यस्मिन् केचन वाहनम् क्षति ग्रस्तमपि अभवन् स्थितिम् च् उग्रमस्ति ! इति मध्य मुख्यमंत्री अशोक गहलोत: घटनाम् दुर्भाग्यपूर्णम् ज्ञाप्यन् जनै: शांतिधृतस्य याचना कृतमस्ति ! तत्रैव भाजपाध्यक्ष: सतीश पुनिया कथितमस्ति !

इलाके में पथराव शुरू हो गया जिसमें कुछ वाहन क्षतिग्रस्त भी हुए और स्थिति तनावपूर्ण बनी हुई है ! इस बीच मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने घटना को दुर्भाग्यपूर्ण बताते हुए लोगों से शांति बनाए रखने की अपील की है ! वहीं भाजपा प्रदेश अध्यक्ष सतीश पूनिया ने कहा है !

स्वतंत्रता सेनानी बालमुकुंद बिस्सा महोदयस्य प्रतिमायां अराजक तत्वभिः इस्लामिक ध्वजानि स्थापनम् एवं परशुराम जयंत्यां स्थापितं केसरिया ध्वजानि निर्वर्तनम् निंदनीयमस्ति ! सहैव पुनिया राज्य सर्वकारेण याचना कृतमस्ति तताराजकतत्वेषु तीक्ष्ण कार्यवाहिमसि, राज्ये विध्या: राज्यं स्थापितं असि !

स्वतंत्रता सेनानी बालमुकुंद बिस्सा जी की प्रतिमा पर अराजक तत्वों द्वारा इस्लामिक झंडे लगाना एवं परशुराम जयंती पर लगे केसरिया झंडे हटाना निंदनीय है ! साथ ही पूनिया ने राज्य सरकार से मांग की है कि अराजकतत्वों पर कड़ी कार्रवाई हो, राज्य में कानून का राज स्थापित हो !

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

spot_img

Related articles

कन्हैया लाल तेली इत्यस्य किं ?:-सर्वोच्च न्यायालयम् ! कन्हैया लाल तेली का क्या ?:-सर्वोच्च न्यायालय !

भवतम् जून २०२२ तमस्य घटना स्मरणम् भविष्यति, यदा राजस्थानस्योदयपुरे इस्लामी कट्टरपंथिनः सौचिक: कन्हैया लाल तेली इत्यस्य शिरोच्छेदमकुर्वन् !...

१५ वर्षीया दलित अवयस्काया सह त्रीणि दिवसानि एवाकरोत् सामूहिक दुष्कर्म, पुनः इस्लामे धर्मांतरणम् बलात् च् पाणिग्रहण ! 15 साल की दलित नाबालिग के साथ...

उत्तर प्रदेशस्य ब्रह्मऋषि नगरे मुस्लिम समुदायस्य केचन युवका: एकायाः अवयस्का बालिकाया: अपहरणम् कृत्वा तया बंधने अकरोत् त्रीणि दिवसानि...

यै: मया मातु: अंतिम संस्कारे गन्तुं न अददु:, तै: अस्माभिः निरंकुश: कथयन्ति-राजनाथ सिंह: ! जिन्होंने मुझे माँ के अंतिम संस्कार में जाने नहीं दिया,...

रक्षामंत्री राजनाथ सिंहस्य मातु: निधन ब्रेन हेमरेजतः अभवत् स्म, तु तेन अंतिम संस्कारे गमनस्याज्ञा नाददात् स्म ! यस्योल्लेख...

धर्मनगरी अयोध्यायां मादकपदार्थस्य वाणिज्यस्य कुचक्रम् ! धर्मनगरी अयोध्या में नशे के कारोबार की साजिश !

उत्तरप्रदेशस्यायोध्यायां आरक्षकः मद्यपदार्थस्य वाणिज्यकृतस्यारोपे एकाम् मुस्लिम महिलाम् बंधनमकरोत् ! आरोप्या: महिलायाः नाम परवीन बानो या बुर्का धारित्वा स्मैक...