यूएन सुरक्षा परिषदस्याध्यक्षता निर्वहनम् पूर्ण रूपेण तत्परास्ति भारत, १ अगस्ततः निर्वहिष्यति दायित्वं ! यूएन सुरक्षा परिषद की अध्यक्षता संभालने को पूरी तरह से तैयार है भारत, 1 अगस्त से संभालेगा कार्यभार !

0
342

भारत एकम् अगस्तेतम् संयुक्त राष्ट्रसुरक्षा परिषदस्य अध्यक्षता निर्वहिष्यति इति काळम् च् तत त्रयाणि प्रमुख क्षेत्राणि समुद्री सुरक्षाम्, शांति रक्षणमातंकम् च् अवरोधन् संबंधी विशेष कार्यक्रमाणां आतिथ्याय
तत्परास्ति !

भारत एक अगस्त को संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद की अध्यक्षता संभालेगा और इस दौरान वह तीन प्रमुख क्षेत्रों समुद्री सुरक्षा, शांतिरक्षण और आतंकवाद को रोकने संबंधी विशेष कार्यक्रमों की मेजबानी करने के लिए तैयार है !

संयुक्त राष्ट्रे भारतस्य स्थायी प्रतिनिधि राजदूत: टी एस तिरुमूर्ति: १५ राष्ट्राणां शक्तिसंपन्नानि संयुक्तराष्ट्र निकायस्य भारतेणाध्यक्षता निर्वहस्य पूर्व संध्यायां एके चलचित्र सन्देशे कथित: अस्माभिः तमेव मासे सुरक्षा परिषदस्याध्यक्षता निर्वहनम् विशेष सम्मानस्य वार्तास्ति येन मासम् वयं स्व पंचसप्ततिनि स्वतंत्रता दिवसम् मान्यन्ति !

संयुक्त राष्ट्र में भारत के स्थायी प्रतिनिधि राजदूत टी एस तिरुमूर्ति ने 15 राष्ट्रों के शक्तिशाली संयुक्त राष्ट्र निकाय की भारत द्वारा अध्यक्षता संभाले जाने की पूर्व संध्या पर एक वीडियो संदेश में कहा हमारे लिए उसी माह में सुरक्षा परिषद की अध्यक्षता संभालना विशेष सम्मान की बात है जिस माह हम अपना 75वां स्वतंत्रता दिवस मना रहे हैं !

भारतस्याध्यक्षत: प्रथम कार्यकारी दिवस सोमवासरं द्वय अगस्तेतम् भविष्यति यदा तिरुमूर्ति: संपूर्ण मासाय परिषदस्य कार्यक्रमेषु संयुक्त राष्ट्र मुख्यालये मिश्रित संवाददाता सम्मेलनम् करिष्यन्ति अर्थतः केचन जनाः तत्रोपस्थित भविष्यन्ति यद्यपि अन्य वीडियो कांफ्रेंसिंग इत्येन संयुक्तुम् शक्नोन्ति !

भारत की अध्यक्षता का पहला कार्यकारी दिवस सोमवार दो अगस्त को होगा जब तिरुमूर्ति महीने भर के लिए परिषद के कार्यक्रमों पर संयुक्त राष्ट्र मुख्यालय में मिश्रित संवाददाता सम्मेलन करेंगे यानी कुछ लोग वहां मौजूद होंगे जबकि अन्य वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिए जुड़ सकते हैं !

संयुक्त राष्ट्रेण प्रस्तुत कार्यक्रमस्यानुरूपम् तिरुमूर्ति: संयुक्तराष्ट्रस्य तानि सदस्याणि देशानपि कार्य विवरणोपलब्धं कारिष्यति यत् परिषदस्य सदस्यम् न सन्ति !

संयुक्त राष्ट्र द्वारा जारी कार्यक्रम के मुताबिक तिरुमूर्ति संयुक्त राष्ट्र के उन सदस्यों देशों को भी कार्य विवरण उपलब्ध कराएंगे जो परिषद के सदस्य नहीं हैं !

सुरक्षा परिषदस्यास्थायी सदस्य रूपे भारतस्य द्वय वर्षस्य कार्यकाळम् एक जनवरी २०१२१ तमम् आरंभितं स्म ! अगस्तेतस्याध्यक्षता सुरक्षा परिषदस्य अस्थायी सदस्य रूपे २०२१-२२ कार्यकलाय भारतस्य प्रथमाध्यक्षता भविष्यति !

सुरक्षा परिषद के अस्थायी सदस्य के तौर पर भारत का दो साल का कार्यकाल एक जनवरी 2021 को शुरू हुआ था ! अगस्त की अध्यक्षता सुरक्षा परिषद के गैर स्थायी सदस्य के तौर पर 2021-22 कार्यकाल के लिए भारत की पहली अध्यक्षता होगी !

भारत स्व द्वय वर्षस्य कार्यकालस्य अंतिम मासम् अर्थतः अग्र वर्षम् दिसंबरे पुनः परिषदस्याध्यक्षत: काळम्, भारत त्रयाणि वृहदानि क्षेत्राणि समुद्री सुरक्षा, शांतिरक्षणं आतंकम् चवरोधस्य संबंधे त्रय उच्च स्तरीय प्रमुख कार्यक्रमाणां आयोजनम् करिष्यति !

भारत अपने दो साल के कार्यकाल के अंतिम माह यानी अगले साल दिसंबर में फिर से परिषद की अध्यक्षता करेगा ! अपनी अध्यक्षता के दौरान, भारत तीन बड़े क्षेत्रों समुद्री सुरक्षा, शांतिरक्षण और आतंकवाद रोकथाम के संबंध में तीन उच्च स्तरीय प्रमुख कार्यक्रमों का आयोजन करेगा !

चलचित्र संदेशे तिरुमूर्ति: कथित: तत समुद्री सुरक्षा परिषदाय इति प्रकरणे समग्र रूपेण स्व ककुभ स्वीकरणम् आवश्यकी अस्ति ! सः कथित: तत शांतिरक्षणस्य विषय शांतिरक्षायामस्माकं दीर्घाग्रणी च् भागिदरिम् दर्शमानः हृदयेन निकषास्ति !

वीडियो संदेश में तिरुमूर्ति ने कहा कि समुद्री सुरक्षा भारत की उच्च प्राथमिकता है और सुरक्षा परिषद के लिए इस मुद्दे पर समग्र रूप से रुख अपनाना जरूरी है ! उन्होंने कहा कि शांतिरक्षण का विषय शांतिरक्षा में हमारी अपनी लंबी और अग्रणी भागीदारी को देखते हुए दिल के करीब है !

सहैव कथित: तत भारत शांतिरक्षकानां सुरक्षा सुनिश्चितस्य विषये ध्यान केंद्रित करिष्यति विशेषतः उत्तमम् प्रौद्योगिक्या: प्रयोगेण तस्य च् ध्यान इति वार्तयि अपि रमिष्यति तत शांतिरक्षकाणां विरुद्धम् अघम् कर्तानि पातकिन् विधानस्य बंधनम् कर्तुम् अभवत् !

साथ ही कहा कि भारत शांतिरक्षकों की सुरक्षा सुनिश्चित करने के विषय पर ध्यान केंद्रित करेगा विशेषकर बेहतर प्रौद्योगिकी के इस्तेमाल से और उसका ध्यान इस बात पर भी रहेगा कि शांतिरक्षकों के खिलाफ अपराध करने वाले दोषियों को कानून के हवाले किया जाए !

सः कथित: तत आतंकस्य विरुद्धम् रणे सर्वात् अग्र रमका: देशस्य रूपे, भारत आतंकम् अवरोधस्य प्रयाशेषु सततं बलम् दत्तुम् रमिष्यति !

उन्होंने कहा कि आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई में सबसे आगे रहने वाले देश के रूप में, भारत आतंकवाद को रोकने के प्रयासों पर लगातार बल देता रहेगा !

तिरुमूर्ति: कथित: तत परिषदे भारतस्य पूर्व सप्त मासानां कार्यकाले वयं विभिन्न प्रकरणेषु एकम् सैद्धांतिक दूरंदेशी च् ककुभ: स्वीकृतम् ! वयं जिम्मेवारिन् निर्वहेण न भीता: ! वयं सक्रिय रमाम: ! वयं स्व प्राथमिकता युक्त प्रकरणेषु ध्यानम् केंद्रिता: !

तिरुमूर्ति ने कहा कि परिषद में भारत के पिछले सात महीनों के कार्यकाल में हमने विभिन्न मुद्दों पर एक सैद्धांतिक और दूरंदेशी रुख अपनाया है ! हम जिम्मेदारियों को निभाने से नहीं डरते ! हम सक्रिय रहे हैं ! हमने अपनी प्राथमिकता वाले मुद्दों पर ध्यान केंद्रित किया है !

राजदूत: कथित: वयं परिषदस्य अभ्यांतरम् विभिन्न विचाराणां मध्य अंतरम् द्रुतस्य प्रयासम् कृता: यद्यपि सुनिश्चितं भवितुम् शक्नुतं तत परिषदमद्यस्य बहु महत्वपूर्ण विषयेण सह रमितं एके स्वरे च् वार्ताम् कुर्वन्तु ! अस्माकमध्यक्षति वयं इदमेव कृतस्य प्रयत्नम् करिष्याम: !

राजदूत ने कहा हमने परिषद के भीतर विभिन्न विचारों के बीच अंतर को पाटने के प्रयास किए हैं ताकि सुनिश्चित हो सके कि परिषद आज के कई महत्त्वपूर्ण विषयों पर साथ रहे और एक सुर में बात करे ! हमारी अध्यक्षता में हम यही करने की कोशिश करेंगे !

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here