हिंदू वेषे मजार त्रोटका: मुस्लिम युवकै: एटीएस गोप्य संस्था च् करिष्यत: पृच्छनम् ! हिंदू भेष में मजार तोड़ने वाले मुस्लिम युवकों से एटीएस और खुफिया एजेंसी करेगी पूछताछ !

0
957

बिजनौर जनपदे शेरकोट क्षेत्रस्य पार्श्व कांवड़ यात्रायाः काळम् द्वय मुस्लिम युवकाभ्यां हिंदू वेषम् धृत्वा मजारे ध्वंसनस्य प्रकरणम् यूपी एटीएस स्व हस्ते गृहीत्वान्वेषणमारंभितमस्ति ! आरक्षकेण बंधनं कृतवान युवकान् रिमांड इत्यां नीते !

बिजनौर जिले में शेरकोट कस्बे के पास कांवड़ यात्रा के दौरान दो मुस्लिम युवकों द्वारा हिंदू भेष धारण कर मजार में तोड़फोड़ करने के मामले को यूपी एटीएस ने अपने हाथ में लेकर जांच पड़ताल शुरू कर दी है ! पुलिस द्वारा गिरफ्तार किए गए युवकों को रिमांड पर लिया जा रहा है !

त्रीणि दिवसानि पूर्वम् धामपुर शेरकोटयो: मध्य एकं मजारम् भगवाधारिणौ द्वौ युवकौ त्रोटितौ अस्ताम् ! इति वार्तायाः अभिज्ञानम् ळब्धमेवारक्षकः यदा तत्र प्राप्त: तर्हि ज्ञातमभवत् तत द्वौ युवकौ मुस्लिमौ स्त: ययो नाम कमाल: आदिल: च् स्त: ! द्वौ इव पार्श्वस्य ग्रामस्य वासिनौ स्त: ! ययो उद्देश्यं कांवड़ यात्रायाः काळम् कलहम् प्रसारनौ आस्ताम् !

तीन दिन पहले धामपुर शेरकोट के बीच एक मजार को भगवा धारी दो युवकों ने तोड़ डाला था ! इस बात की जानकारी मिलते ही पुलिस जब वहां पहुंची तो मालूम हुआ कि दोनों युवक मुस्लिम हैं और इनका नाम कमाल और आदिल है ! दोनों ही पास के गांव के रहने वाले हैं ! इनका मकसद कांवड़ यात्रा के दौरान तनाव फैलाना था !

उल्लेखनियमस्ति ततेति मार्गेण सहस्राणि कांवड़ धारका: गच्छन्ति आर्श्वपार्श्व च् मुस्लिम जनसंख्याम् सन्ति, आरक्षकः बंदी युवकौ कारागारं प्रेषित: स्म ! सम्प्रति इदमभियोगम् यूपी एटीएस इतम् प्रदत्तं ! एटीएस इत्या: अधिकारिण: बिजनौरम् प्राप्ता: !

उल्लेखनीय है कि इस मार्ग से हजारों कांवड़िए गुजरते हैं और आसपास मुस्लिम आबादी है, पुलिस ने गिरफ्तार युवकों को जेल भेज दिया था ! अब यह केस यूपी एटीएस को सौंप दिया गया है ! एटीएस के अधिकारी बिजनौर पहुंच गए हैं !

सहैव गोप्य विभागस्योच्चाधिकारिण: अपि इति प्रकरणम् गृहीत्वा गम्भीर्यं अभवन्, ते अपि यस्य अभ्यांतरमेव गन्तुं इच्छन्ति ! आरक्षक सूत्राणां अनुरूपम् न्यायालयेण रिमांड गृहीत्वा एटीएस कमालेणादिलेण च् पृच्छनम् कर्तुं इच्छति ! कारागारे अपि न्यायिक बंधने आरक्षकः अर्धाधिकं द्वय घटकमेवारोपिभिः पृच्छनम् कृतमासीत् !

साथ ही खुफिया विभाग के उच्च अधिकारी भी इस मामले को लेकर गंभीर हुए हैं, वे भी इसकी तह तक जाना चाहते हैं ! पुलिस सूत्रों के मुताबिक कोर्ट से रिमांड लेकर एटीएस कमाल और आदिल से पूछताछ करना चाहती है ! जेल में भी न्यायिक हिरासत में पुलिस ने ढाई घंटे तक आरोपियों से पूछताछ की थी !

आरक्षकाधिकारीणां मान्यतिमस्ति ततादिलस्य कमालस्य च् पश्च कश्चित मास्टर माइंड कार्यम् करोति स्म यत् क्षेत्रे कलहमुत्पादितुं इच्छति स्म ! वस्तुतः आरक्षकः स्व संस्थाभिः प्रकरणस्य मूलमेव प्राप्तस्य प्रयत्नम् करोति !

पुलिस अधिकारियों का मानना है कि आदिल और कमाल के पीछे कोई मास्टर माइंड काम कर रहा था जो क्षेत्र में दंगा भड़काना चाह रहा था ! बहरहाल पुलिस अपनी एजेंसियों के जरिए मामले की तह तक पहुंचने की कोशिश कर रही है !

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here