योगीयाः मुंबई भ्रमणेन उद्धव ठाकरे इत्यस्य निद्राम् उड्डीते ! योगी के मुंबई दौरे से उद्धव ठाकरे की नींद उड़ी !

0
357

उत्तर प्रदेशस्य मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथस्य मुंबई भ्रमणं गृहित्वा शिवसेना भाजपायां च् वाक्युद्धम् अनवरति ! मुंबई भ्रमणस्य कालम् योगी आदित्यनाथ: चलचित्र संसारस्य हस्तिभि: अकथयत् तत अहम् नोयडायाम् केवलं उत्तर प्रदेशाय न,सम्पूर्ण विश्वाय चलचित्र नगरं निर्मनम् गच्छते !

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के मुंबई दौरे को लेकर शिवसेना और बीजेपी में जुबानी जंग जारी है ! मुंबई दौरे के दौरान योगी आदित्यनाथ ने फिल्म जगत की हस्तियों से कहा कि हम नोएडा में सिर्फ यूपी के लिए नहीं, पूरी दुनिया के लिए फिल्म सिटी बनाने जा रहे हैं !

अयम् चलचित्र नगरं भवतः भविष्यति ! भवतः आवश्यकतानां अनुरूपम् भविष्यति,भवान् सुझाव इति ददातु ! तमेवस्य अनुरूपम्,स्व वायदायाः अनुरूपम्,नोयडायाम् देशैव न, अपितु विश्वस्य सर्वात् सौंदर्ययुक्त चलचित्रनगरं निर्माय अहम् प्रतिबद्धमस्ति ! भवान् उत्तर प्रदेशे आगच्छतु,भवतः स्वागतमस्ति !

यह फिल्म सिटी आपकी होगी ! आपकी जरूरतों के अनुसार होगी,आप सुझाव दें ! उसी के अनुसार,अपने वादे के अनुरूप,नोएडा में देश ही नहीं,बल्कि दुनिया की सबसे खूबसूरत फिल्म सिटी बनाने के लिए हम प्रतिबद्ध हैं ! आप उत्तर प्रदेश में आइए,आपका स्वागत है !

सम्प्रति यूपी सर्कारस्य कैबिनेट इति मंत्री सिद्धार्थ नाथ सिंह: सामनायाम् लिखित संपादकीयम् गृहित्वा शिवसेनायाम् प्रहारम् कृतः अकथयत्,उत्तरप्रदेशस्य मुख्यमंत्रीयाः मुंबई भ्रमणस्य उपरांत उद्धव ठाकरेस्य निद्राम् उड्डीते !

अब यूपी सरकार के कैबिनेट मंत्री सिद्धार्थनाथ सिंह ने सामना में छपे संपादकीय को लेकर शिवसेना पर हमला करते हुए कहा,यूपी के सीएम के मुंबई दौरे के बाद उद्धव ठाकरे की नींद उड़ गई है !

सः सामना सम्पादकीये आपत्तिपूर्ण भाषायाः प्रयोगम् कृतवान,यस्य अहम् भर्त्सनां करोमि ! अयम् तस्य दलस्य संस्कृतिम् भवशक्नोति ! बॉलीवुड इत्यस्य जनैः स्वच्छ हृदयेन अस्माकं स्वागतम् अक्रियते ! शिवसेनाम् द्वितीयेषु उंगलिकाम् न उत्थानीय !

उन्होंने सामना संपादकीय में आपत्तिजनक भाषा का इस्तेमाल किया है,जिसकी हम निंदा करते है ! यह उनकी पार्टी की संस्कृति हो सकती है ! बॉलीवुड के लोगों द्वारा खुले दिल से हमारा स्वागत किया गया ! शिवसेना को दूसरों पर उंगली नहीं उठानी चाहिए !

तेन सर्वात् प्रथम बॉलीवुड इत्येन सह स्व संस्कृतिम् परिवर्धनीय ! यदि ते केचन (चलचित्र नगरं) धृतं इच्छन्ति,तर्हि तेन येन धारणीय, कश्चितापि येन द्रुतम् न कृतं इच्छति ! अयम् सर्वम् स्पर्धामस्ति !

उन्हें सबसे पहले बॉलीवुड के साथ अपनी संस्कृति को सुधारना चाहिए ! यदि वे कुछ (फिल्म सिटी) रखना चाहते हैं,तो उन्हें इसे रखना चाहिए, कोई भी इसे दूर नहीं करना चाहता है ! यह सब कंपटीशन है !

योगीयाः इति स्वप्नीय कार्यम् गृहित्वा महाराष्ट्र सरकारे अपि आन्दोलम् तीव्रम् भव्यते ! उद्धव ठाकरे: अनामाय अकथयत् तत कश्चित अत्रात् बलात् विपणन गृहित्वा न गच्छशक्नोति ! तत्रैव शिवसेना सांसद संजय राउत: लक्ष्यम् लक्ष्यत: अकथयत् स्म, मुंबईयाः चलचित्र नगरं द्वितीय स्थानम् स्थान्तरणं सरलं नास्ति !

योगी के इस ड्रीम प्रोजक्ट को लेकर महाराष्ट्र सरकार में भी हलचल तेज हो गई है ! उद्धव ठाकरे ने बिना नाम लिए कहा कि कोई यहां से जबरन बिजनेस लेकर नहीं जा सकता है ! वहीं शिवसेना सांसद संजय राउत ने निशाना साधते हुए कहा था,मुंबई के फिल्म सिटी को दूसरी जगह शिफ्ट करना आसान नहीं है !

दक्षिण भारतैपि चलचित्र उद्योगम् वृहदमस्ति, पश्चिम बङ्गे पंजाबे अपि च् चलचित्र नगरमस्ति ! किं योगी महोदयः इति स्थानेषु अपि गमिष्यति तत्रस्य च् निर्देशकै:/कलाकारै: वार्ताम् करिष्यति किं सः वा केवलं मुंबईयामेव इदृशं कृतं गच्छति ?

दक्षिण भारत में भी फिल्म उद्योग बड़ा है, पश्चिम बंगाल और पंजाब में भी फिल्म सिटी हैं ! क्या योगी जी इन स्थानों पर भी जाएंगे और वहां के निर्देशकों/ कलाकारों से बात करेंगे या क्या वह केवल मुंबई में ही ऐसा करने जा रहे हैं ?

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here