मुनव्वर राणायाः यूपी त्यजकः कथनं, अंततः किं मुस्लिम: विभेति ? तर्हि लवजिहाद यथा जघन्यानि कृत्य किं करोति ? मुनव्वर राणा का यूपी छोड़ने वाला बयान, आखिर क्या मुस्लिम डर रहा है ? तो लव जिहाद जैसे घिनौने कृत्य कौन कर रहा है ?

0
348

प्रसिद्ध शायर मुनव्वर राणा: वर्तमानैव कथित: स्म तत यदि योगी आदित्यनाथ: पुनः सर्वकारः निर्माणे साफल्यं लभति तदा तः उत्तरप्रदेश त्यक्त्वा कोलकाता गमिष्यति !

मशहूर शायर मुनव्वर राणा ने हाल ही में कहा था कि अगर योगी आदित्यनाथ दोबारा सरकार बनाने में कामयाब होते हैं तो वो यूपी छोड़कर कोलकाता चले जाएंगे !

येन सहैव सः एआईएमआईएम प्रमुख: असदुद्दीन ओवैसिम् मतकर्तकः एव कथित: ! मुनव्वर राणायाः इति कथने राजनैतिकोष्णता उत्कर्षे अस्ति !

इसके साथ ही उन्होंने एआईएमआईएम चीफ असदुद्दीन ओवैसी को वोटकटवा तक करार दिया ! मुनव्वर राना के इस बयान पर सियासी गरमी चरम पर है !

मीडिया सूचनायाः अनुरूपम् योगी सर्वकारे मंत्री आनंद स्वरूप शुक्ल: यत्रैव कथित: तत यत् जनाः भारतीयानां विरुद्धम् स्थाष्यन्ति तै: समाघाते हनिष्यन्ति !

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक योगी सरकार में मंत्री आनंद स्वरूप शुक्ल ने यहां तक कह दिया कि जो लोग भारतीयों के खिलाफ खड़े होंगे उन्हें एनकाउंटर में मारा जाएगा !

इति सर्वानां मध्य अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद: कथित: तत मुनव्वर राणाम् यूपी त्यजतुम् तत्पर भवनीयः कुत्रचित योगी आदित्यनाथ: पुनः सर्वकारे आगच्छति !

इन सबके बीच अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद ने कहा कि मुनव्वर राणा को यूपी छोड़ने के लिए तैयार रहना चाहिए क्योंकि योगी आदित्यनाथ दोबारा सरकार में आ रहे हैं !

एबीएपी इतस्याध्यक्ष: महंत नरेंद्र गिरि: टिप्पणिका कृतमानः कथित: तत इदृशं परिलक्ष्यति तत मुनव्वर राणा: कट्टरपंथिनां हस्तेषू क्रीडन्ति !

एबीएपी के अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरि ने टिप्पणी करते हुए कहा कि ऐसा लगता है कि मुनव्वर राणा कट्टरपंथियों के हाथों में खेल रहे हैं !

योगी आदित्यनाथस्य नेतृत्वक: उत्तरप्रदेशे भाजपा सर्वकारस्य काळम्, पूर्व ४ वर्षेषु कश्चित कलहम् नाभवत् !

योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व वाली उत्तर प्रदेश में भाजपा सरकार के दौरान, पिछले चार साल में कोई दंगा नहीं हुआ है !

उत्तर प्रदेशे यदापि अन्य सर्वकारा: रमन्ति, कलहम् भविता: मुस्लिमरपि च् असुरक्षितं रमन्ति ! गिरी: कथित: तत उत्तर प्रदेशे भाजपायाः शासने मुस्लिम: पूर्णतया सुरक्षितं सन्ति !

उत्तर प्रदेश में जब भी अन्य सरकारें रही हैं, दंगे हुए हैं और मुसलमान भी असुरक्षित रहे हैं ! गिरी ने कहा कि उत्तर प्रदेश में भाजपा के शासन में मुसलमान पूरी तरह सुरक्षित हैं !

तु राणायाः अयम् कथनं तत यदि भाजपाग्रिम विधानसभा निर्वाचनम् जयति योगी आदित्यनाथ: च् मुख्यमंत्री भवति तदा स राज्य त्यजिष्यति, असंगतं अस्ति ! गिरी: कथित: तत राणायाः कथनं ज्ञापयति तत तस्य मानसिक स्थितिम् सम्यक् नास्ति !

लेकिन राणा का यह बयान कि अगर भाजपा अगला विधानसभा चुनाव जीतती है और योगी आदित्यनाथ मुख्यमंत्री बनते हैं तो वह राज्य छोड़ देंगे, बेतुका है ! गिरि ने कहा कि राणा का बयान बताता है कि उसकी मानसिक स्थिति ठीक नहीं है !

इदमेकम् वृहद प्रश्नम् रमति तत अन्ततः मुस्लिमान् कं विभेति ! किं मुस्लिमानां भयस्यपश्चस्य वास्तविक कारणं भाजपामस्ति पुनः वा केचन जनाः केवलं केवलं च् राजनित्यामोपस्थितिम् पंजीकृताय मुस्लिमानस्त्रस्य रूपे प्रयोगम् कुर्वन्ति !

यह एक बड़ा सवाल रहा है कि आखिर मुसलमानों को कौन डरा रहा है ! क्या मुस्लिमों की डर के पीछे की वास्तविक वजह बीजेपी है या फिर कुछ लोग सिर्फ और सिर्फ सियासत में बने रहने के लिए मुसलमानों को हथियार के तौर पर इस्तेमाल करते हैं !

तु इति विषये विशेषज्ञ उपदेशतः पूर्व उत्तरप्रदेशस्य गोरक्षपुर, वाराणसी, आजमगढ़ मेरठ च् जनपदानां जनानां किं कथनमस्ति ! वस्तुतः यदा इति विषये वार्तालापम् कृतम् !

लेकिन इस विषय पर एक्सपर्ट्स राय से पहले यूपी के गोरखपुर, वाराणासी, आजमगढ़ और मेरठ जिले के लोगों का क्या कहना है ! दरअसल जब इस विषय पर बातचीत की गई !

जनाः कथिता: ततैदम् सत्यतामस्ति तत बहुसंख्यक समाजे यतपि वर्ग अल्पसंख्यक समाज रमति तै: भयं भवति ! तैव प्रकारम् यत्राल्पसंख्यक समाजस्य संख्याधिकम् भवति तत्र ते वस्तुतः बहुसंख्यक समाजम् पीड़ितं कुर्वन्ति !

लोगों ने कहा कि यह सच्चाई है कि बहुसंख्यक समाज में जो भी वर्ग अल्पसंख्यक समाज रहता है उसे डर लगता है ! उसी तरह जहां अल्पसंख्यक समाज की संख्या अधिक होती है वहां वह वास्तव में बहुसंख्यक समाज को पीड़ित करते हैं !

तुतं भये यदा राजनैतिक प्रवेशं भवति तदाविश्वासस्य स्थितिम् निर्मीति ! यदि भवन्तः भूमिस्तरे दर्शितान् मुस्लिमान् हिंदू समाजेण कश्चित भयं नास्ति अपितु हिंदू समाजमेव मुस्लिम समाजेण भयं भवति !

लेकिन उस डर पर जब सियासी रंग चढ़ जाता है तो अविश्वास का माहौल बनता है ! अगर आप जमीनी स्तर पर देखें को मुस्लिमों को हिंदू समाज से कोई भय नहीं है अपितु हिंदू समाज को ही मुस्लिम समाज से भय होता है !

तु यदा राजनीति प्रवेश्यति तदा कश्चितापि समाजम् विशेषतः अल्पसंख्यक समाजेण संलग्ना: जनान् दिग्भ्रमित कृतं सरलम् भवति येन प्रकारेण च् केचन जनाः न केवलं स्वान् प्रासंगिक: निर्मयन्ति अपितु राजनीतिक रूपे लाभमपि उत्थायन्ति !

लेकिन जब सियासत एंट्री करती है तो कोई भी समाज खासतौर से अल्पसंख्यक समाज से जुड़े लोगों को बरगलाना आसान हो जाता है और इस तरह से कुछ लोग ना सिर्फ अपने आपको प्रासंगिक बना लेते हैं बल्कि राजनीतिक तौर पर फायदा भी उठा लेते हैं !

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here