जेपी नड्डा: सर्वा: विभागानां अध्यक्षै: कारिष्यति मेलनम्, २०२२ तमे उत्तरप्रदेश जयस्य तत्परता ! जेपी नड्डा सभी मोर्चों के अध्यक्षों से करेंगे मुलाकात, 2022 में यूपी फतह की तैयारी !

0
425

उत्तरप्रदेश विधानसभायाः निर्वाचनमग्रिम वर्षम् भवितमस्ति तु तस्मात् पूर्वराजनीतिक समीकरणानां साध्यस्य कार्यमारंभितं !

यूपी विधानसभा के चुनाव अगले साल होने हैं लेकिन उससे पहले राजनीतिक समीकरणों को साधने का काम शुरू हो चुका है !

बसपा स्पष्टम् कृतवान तत तः एकलं निर्वाचनी रणे अवतरिष्यति तर्हि समाजवादी दलस्य कथनमस्ति तत भाजप: विरुद्धम् सर्वाणि लघु दलान् एके मंचे आगमनीयम् !

बीएसपी ने साफ कर दिया है कि वो अकेले चुनावी समर में उतरेगी तो समाजवादी पार्टी का कहना है कि बीजेपी के खिलाफ सभी छोटे दलों को एक मंच पर आना चाहिए !

एतानि सर्वानां मध्य भाजप: कथनमस्ति तत रणम् तर्हि क्रमांक द्वयस्य क्रमांक त्रयस्य चस्ति ! भाजपा एकदा पुनः सत्तायां पुनरागमनं करिष्यति ! भाजप: राष्ट्रीयाध्यक्ष: जेपी नड्डा प्रदेशस्य सर्वा: विभागानां अध्यक्षै: मेलनम् कर्तास्ति तः च् स्वयं सप्ताष्ट अगस्त इतम् चोत्तरप्रदेशस्य भ्रमणे रमिष्यति !

इन सबके बीच बीजेपी का कहना है कि लड़ाई तो नंबर 2 और नंबर 3 की है ! बीजेपी एक बार फिर सत्ता में वापसी करेगी ! बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा प्रदेश के सभी मोर्चों के अध्यक्षों से मुलाकात करने वाले हैं और वो खुद 7 और 8 अगस्त को यूपी के दौरे पर रहेंगे !

उत्तरप्रदेश विधानसभा निर्वाचनम् गृहीत्वा भाजप: कथनमस्ति तत विगत चत्वरार्ध वर्षेषु विकासम् अभवत् ! कोरोना महामर्या: काले अपि समाज प्रत्येक वर्गा: विशेषतः क्षीणायार्थिनाय च् विशेषं कार्यम् कारितं !

यूपी विधानसभा चुनाव को लेकर बीजेपी का कहना है कि पिछले साढ़े चार वर्षों में विकास की गंगा बही है ! कोरोना महामारी के दौर में भी समाज के हर वर्गों खासतौर से कमजोर और जरूरतमंदों को के लिए खास काम किया गया !

यत्रैव विपक्षस्य वार्तास्ति तर्हि तस्य कार्यम् विरोधम् कृतमस्ति त: च् कर्तुम् रमिष्यति ! भाजप: सर्वकारः स्व घोषणापत्रे याः दृढ़कथनानामोल्लेखम् कृतः स्म तेन पूर्णकृतस्य प्रयत्नम् कृतः !

जहां तक विपक्ष की बात है तो उनका काम विरोध करना है और वो करते रहेंगे ! बीजेपी की सरकार ने अपने घोषणापत्र में जिन वादों का जिक्र किया था उसे पूरा करने की कोशिश की गई है !

विपक्षाद्य प्रकरण विहीनमस्ति, येन सह कुतर्कस्य राजनीति क्रियते ! समाजवादी दलेन बसपाया च् भवन्तः बहुकेचनोत्कृष्टाशाम् न कर्तुम् शक्नोन्ति ! अतः तयो आरोपान् न तर्हि भाजपा नैव च् जनाः महत्वम् ददात: !

विपक्ष आज मुद्दा विहीन है, इसके साथ कुतर्क की राजनीति की जा रही है ! समाजवादी पार्टी और बीएसपी से आप बहुत कुछ बेहतर उम्मीद नहीं कर सकते हैं ! लिहाजा उनके आरोपों को ना तो बीजेपी और ना ही जनता तवज्जो देती है !

ज्ञानिणां कथनमस्ति तत २०२२ तमस्य निर्वाचनम् रोचकम् भवक: अस्ति ! इदम् वार्ता सत्यमस्ति तत उत्तरप्रदेशे विपक्षयति छिन्नभिन्नं भविष्यति भाजप: संमुखम् संकटम् न्यूनम् भविष्यति !

जानकारों का कहना है कि 2022 का चुनाव दिलचस्प रहने वाला है ! यह बात सच है कि यूपी में विपक्ष जितना बिखरा होगा बीजेपी के सामने मुश्किलें कम होंगी !

तु राजनित्यां कदापि कश्चित काळम् परिवर्तनम् भवति यं प्रति भविष्यवाणी कृतं संकटम् भवति ! यदि २०१७ तमस्य निर्वाचनं दर्शितं तर्हि सामाजिक समीकरणान् साध्यमानः भाजपा निर्वाचने अवतरितं तस्य च् लाभमपि ळब्धम् !

लेकिन सियासत में कभी भी किसी समय बदलाव होता है जिसके बारे में भविष्यवाणी करना मुश्किल होता है ! अगर 2017 के चुनाव को देखें तो सामाजिक समीकरणों को साधते हुए बीजेपी चुनाव में उतरी और उसका फायदा भी मिला !

यदि वार्ता २०१७ तः गृहीत्वा २०२१ तमस्य कुर्वन्तु तर्हि बहु घटक दलानि भाजपाम् त्याजितानि केचन घटक दलानि च् नेत्राणि अपि दर्शयन्ति इदृशेषु भाजपा संगठनायावश्यकमस्ति तत तं प्रति कश्चित प्रकारस्य न्यूनतावशेषितं ! अतः तं सन्दर्भे जेपी नड्ड: प्रदेशस्य सर्वा: विभागानामध्यक्षै: मेलनम् विशेषं अस्ति !

अगर बात 2017 से लेकर 2021 की करें तो कई घटक दल बीजेपी को छोड़ चुके हैं या कुछ घटक दल आंखें भी दिखाते हैं ऐसे में बीजेपी संगठन के लिए जरूरी है कि उसकी तरफ से किसी तरह की कोर कसर ना रह जाए ! लिहाजा उस संदर्भ में जेपी नड्डा की प्रदेश के सभी मोर्चों के अध्यक्षों से मुलाकात खास है !

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here