12.1 C
New Delhi

उच्चन्यायालयस्याज्ञायाः अनंतरम् कार्यवाहियां योगी सरकारः अर्धरात्रिम् निर्वर्तम् मध्य स्थितम् हन्ति ! HC के आदेश के बाद एक्शन में योगी सरकार आधी रात को हटवाई सड़क के बीच बनी मजार !

Date:

Share post:

उच्चन्यायालयस्याज्ञायाः अनंतरम् उत्तरप्रदेशे सार्वजनिक स्थलानानि मार्गे वा स्थितं धार्मिक स्थलान् निर्वर्तस्याज्ञायाः अनंतरम् योगी सरकारः कार्यवाहिमारम्भित: !

हाईकोर्ट के आदेश के बाद उत्तर प्रदेश में सार्वजनिक स्थलों या सड़क पर बने धार्मिक स्थलों को हटाने के आदेश के बाद योगी सरकार ने एक्शन शुरू कर दिया है !

अस्यैव कार्यवाहिण: अनुरूपम् शनिवासरम् रात्रिम् बाराबंक्याम् प्रथम कार्यवाहिम् अभवत् तत्र प्रशासनम् स्वकीयैव सहमत्या: अनंतरम् मार्गस्य मध्य स्थितं हन्तिम् निर्वर्तम् ! अस्य हन्तिम् अधुना ईदगाहस्य पार्श्व विस्थापितं करिष्यते !

इसी एक्शन के तहत शनिवार रात को बाराबंकी में पहली कार्रवाई हुई जहां प्रशासन ने आपसी सहमति के बाद सड़क के बीचों-बीच बनी मजार को हटवाया ! इस मजार को अब ईदगाह के पास विस्थापित किया जाएगा !

सर्कारस्याज्ञायाः अनंतरम् फतेहपुरस्य एस डी एम पंकज सिंह: शनिवासरम् एकम् आपात कालीन गोष्ठिमाहूतम् यस्मिन् नगरपंचायत फतेहपुरे मध्य मार्गे स्थितं भिदुरस्य वृक्षम् पार्श्वे वा स्थितं हन्तिम् निर्वर्तम् प्रत्ये अबद्यते पुनः यस्मिन् च् सहमतिम् निश्चितं अक्रियते !

सरकार के आदेश के बाद फतेहपुर के एस डी एम पंकज सिंह ने शनिवार एक इमरेंजी मीटिंग बुलाई जिसमें नगर पंचायत फतेहपुर में मध्य रोड पर लगे पकरिया के पेड़ व पास में बनी मजार को हटाने के बारे में बताया गया और फिर इस पर सहमति कायम की गई !

गोष्ठ्याम् विभिन् जनाः प्रतिभागितं इदम् च् निश्चितं अभवत् तत हन्तिम् तत्रात् निर्वर्तृत्वा ईदगाहस्य पार्श्व स्थानांतरितं करिष्यते ! अस्य सहमत्या: अनंतरम् प्रशासनम् इदम् कार्यवाहिम् कृतम् !

बैठक में विभिन्न लोगों ने भाग लिया और यह तय हुआ कि मजार को वहां से हटाकर ईदगाह के पास शिफ्ट किया जाएगा ! इस सहमति के बाद प्रशासन ने यह कार्रवाई की !

भवन्तः ज्ञापयन्तु तत उत्तरप्रदेश सरकारः मार्गेषु वीथिसु तथा पदमार्गे धार्मिक यथायाः कश्चित संरचनायाः निर्माणस्य वाज्ञाम् न दत्तस्य निर्देशित: कथितः तत एक जनवरी २०११ तस्य अनंतरम् च् अस्य प्रकारस्य कश्चित निर्माणम् कारितानि तदा तेन त्वरित निर्वर्तानि !

आपको बता दें कि उत्तर प्रदेश सरकार ने सड़कों,गलियों तथा फुटपाथ पर धार्मिक किस्म की कोई संरचना या निर्माण की अनुमति नहीं देने के निर्देश देते हुए कहा है कि एक जनवरी 2011 और उसके बाद से इस तरह का कोई निर्माण कराया गया है तो उसे फौरन हटा दिया जाए !

राज्य सर्कारस्य एक: प्रवक्ता: अत्र बदित: तत शासनेण निर्देशितानि तत मार्गेषु (राजमार्गै: सह),वीथिसु, पदमार्गेषु, मार्गाणां तटेषू, चत्वारः मार्गेषु धार्मिक प्रकृत्या: कश्चित संरचना निर्माणस्याज्ञाम् कदापि न ददानि !

राज्य सरकार के एक प्रवक्ता ने यहां बताया कि शासन द्वारा निर्देश दिए गए हैं कि सड़कों (राजमार्गों सहित), गलियों, फुटपाथों, सड़क के किनारों, लेन पर धार्मिक प्रकृति की कोई संरचना निर्माण की अनुमति कतई न दी जाए !

सरकारः अस्य संबंधे केचन दिवसं पूर्वैव प्रदेशस्य सर्वाणि मंडलायुक्ता:,आरक्षकरायुक्ता: गौतमबुद्धनगरं लक्ष्मणनगरं वा,समस्त परिक्षेत्रीय आरक्षकः महानिरीक्षका:, उप महानिरीक्षका:, समस्त जिलाधिकारिन्, वरिष्ठ आरक्षकराधीक्षका:, आरक्षकराधीक्षकान् निर्देशं निर्गतानि स्म !

सरकार ने इस संबंध में कुछ दिन पहले ही प्रदेश के सभी मंडलायुक्त, पुलिस कमिश्नर गौतमबुद्ध नगर व लखनऊ, समस्त परिक्षेत्रीय पुलिस महानिरीक्षक, उपमहानिरीक्षक, समस्त जिलाधिकारी, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक, पुलिस अधीक्षक को निर्देश जारी किया गया था !

निर्देशेषु इदमपि कथितानि तत यदि अस्य आज्ञायाः पालने कश्चितापि अनपेक्षयावज्ञा वा भवति तदास्मै संबंधिताधिकारिन् व्यक्तिगत रूपेणाह्वेयता भविष्यन्ति !

निर्देशों में यह भी कहा गया है कि अगर इस आदेश के पालन में कोई भी लापरवाही या अवज्ञा होती है तो इसके लिए संबंधित अधिकारी व्यक्तिगत रूप से जिम्मेदार होंगे !

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

[tds_leads input_placeholder="Email address" btn_horiz_align="content-horiz-center" pp_checkbox="yes" pp_msg="SSd2ZSUyMHJlYWQlMjBhbmQlMjBhY2NlcHQlMjB0aGUlMjAlM0NhJTIwaHJlZiUzRCUyMiUyMyUyMiUzRVByaXZhY3klMjBQb2xpY3klM0MlMkZhJTNFLg==" msg_composer="success" display="column" gap="10" input_padd="eyJhbGwiOiIxNXB4IDEwcHgiLCJsYW5kc2NhcGUiOiIxMnB4IDhweCIsInBvcnRyYWl0IjoiMTBweCA2cHgifQ==" input_border="1" btn_text="I want in" btn_tdicon="tdc-font-tdmp tdc-font-tdmp-arrow-right" btn_icon_size="eyJhbGwiOiIxOSIsImxhbmRzY2FwZSI6IjE3IiwicG9ydHJhaXQiOiIxNSJ9" btn_icon_space="eyJhbGwiOiI1IiwicG9ydHJhaXQiOiIzIn0=" btn_radius="0" input_radius="0" f_msg_font_family="521" f_msg_font_size="eyJhbGwiOiIxMyIsInBvcnRyYWl0IjoiMTIifQ==" f_msg_font_weight="400" f_msg_font_line_height="1.4" f_input_font_family="521" f_input_font_size="eyJhbGwiOiIxMyIsImxhbmRzY2FwZSI6IjEzIiwicG9ydHJhaXQiOiIxMiJ9" f_input_font_line_height="1.2" f_btn_font_family="521" f_input_font_weight="500" f_btn_font_size="eyJhbGwiOiIxMyIsImxhbmRzY2FwZSI6IjEyIiwicG9ydHJhaXQiOiIxMSJ9" f_btn_font_line_height="1.2" f_btn_font_weight="600" f_pp_font_family="521" f_pp_font_size="eyJhbGwiOiIxMiIsImxhbmRzY2FwZSI6IjEyIiwicG9ydHJhaXQiOiIxMSJ9" f_pp_font_line_height="1.2" pp_check_color="#000000" pp_check_color_a="#309b65" pp_check_color_a_h="#4cb577" f_btn_font_transform="uppercase" tdc_css="eyJhbGwiOnsibWFyZ2luLWJvdHRvbSI6IjQwIiwiZGlzcGxheSI6IiJ9LCJsYW5kc2NhcGUiOnsibWFyZ2luLWJvdHRvbSI6IjMwIiwiZGlzcGxheSI6IiJ9LCJsYW5kc2NhcGVfbWF4X3dpZHRoIjoxMTQwLCJsYW5kc2NhcGVfbWluX3dpZHRoIjoxMDE5LCJwb3J0cmFpdCI6eyJtYXJnaW4tYm90dG9tIjoiMjUiLCJkaXNwbGF5IjoiIn0sInBvcnRyYWl0X21heF93aWR0aCI6MTAxOCwicG9ydHJhaXRfbWluX3dpZHRoIjo3Njh9" msg_succ_radius="0" btn_bg="#309b65" btn_bg_h="#4cb577" title_space="eyJwb3J0cmFpdCI6IjEyIiwibGFuZHNjYXBlIjoiMTQiLCJhbGwiOiIwIn0=" msg_space="eyJsYW5kc2NhcGUiOiIwIDAgMTJweCJ9" btn_padd="eyJsYW5kc2NhcGUiOiIxMiIsInBvcnRyYWl0IjoiMTBweCJ9" msg_padd="eyJwb3J0cmFpdCI6IjZweCAxMHB4In0=" msg_err_radius="0" f_btn_font_spacing="1"]
spot_img

Related articles

रामचरितमानसस्यानादर:, रिक्तं रमवान् सपायाः हस्तम् ! रामचरितमानस का अपमान, खाली रह गए सपा के हाथ ?

उत्तर प्रदेशे वर्तमानेव भवत् विधान परिषद निर्वाचनस्य परिणाम: आगतवान् ! पूर्ण ५ आसनेभ्यः निर्वाचनमभवन् स्म् ! यत्र ४...

चीन एक ‘अलग-थलग’ और ‘मित्रविहीन’ भारत चाहता है

एक अमेरिकी रिपोर्ट के अनुसार, "पाकिस्तान के बजाय अब चीन, भारतीय परमाणु रणनीति के केंद्र में है।" चीन भी समझता है कि परमाणु संपन्न भारत 1962 की पराजित मानसिकता से मीलों बाहर निकल चुका है।

हमारी न्याय व्यवस्था पर बीबीसी का प्रहार

बीबीसी ने अपनी प्रस्तुति में भारत के तथाकथित सेकुलरवादियों, जिहादियों और इंजीलवादियों के उन्हीं मिथ्या प्रचारों को दोहराया है, जिसे भारतीय सर्वोच्च न्यायालय द्वारा गठित विशेष जांच दल (एसआईटी) ने न केवल वर्ष 2012 में सिरे से निरस्त कर दिया

मध्यप्रदेशे इस्लामनगरम् ३०८ वर्षाणि अनंतरम् पुनः कथिष्यते जगदीशपुरम् ! मध्यप्रदेश में इस्लाम नगर 308 साल बाद फिर से कहलाएगा जगदीशपुर !

मध्यप्रदेशस्य भोपालतः १४ महानल्वम् अंतरे एकं ग्रामम् इस्लामनगरमधुना जगदीशपुर नाम्ना ज्ञाष्यते ! केंद्र सर्वकार: ग्रामस्य नाम परिवर्तनस्याज्ञा दत्तवान्...