प्रयागराजहिंसायां जावेद अहमदस्यातिरिक्तं भवितुं शक्नोति बहु मास्टरमाइंड, उत्तरप्रदेशारक्षकः ! प्रयागराज हिंसा में जावेद अहमद के अलावा हो सकते हैं कई और मास्टरमाइंड, यूपी पुलिस !

0
112

प्रयागराजहिंसा प्रकरणे अधुनैकं अभिज्ञानं संमुखम् आगच्छति ! यूपी आरक्षकस्य कथनमस्ति तत मास्टरमाइंड जावेदाहमदं बंधने नीतमस्ति ! तु एकतः अधिकं मास्टरमाइंड भवितुं शक्नोन्ति !

प्रयागराज हिंसा मामले में अब एक जानकारी सामने आ रही है ! यूपी पुलिस का कहना है कि मास्टरमाइंड जावेद अहमद को हिरासत में लिया गया है ! लेकिन एक से अधिक मास्टरमाइंड हो सकते हैं !

विशेषवार्ता इदमस्ति ततासामाजिकतत्वानि आरक्षकेण प्रशासनेण च् संलग्ना: जनेषु प्रस्तर प्रहारायानघ बालाकानां प्रयोगम् कृतवान स्म ! २९ मुख्य धारासु अभियोगम् कृतवन्तः !

खास बात यह है कि असामाजिक तत्वों ने पुलिस और प्रशासन से जुड़े लोगों पर पथराव के लिए मासूम बच्चों का इस्तेमाल किया था ! 29 मुख्य धाराओं में केस दर्ज किए गए हैं !

येन सहैव गैंगस्टर एनएसए चनुरूपमपि कार्यवाहिं कृतमस्ति ! विधिव्यवस्थाम् सीएम योगिन् शनिवासरं सायं ६.३० वादनम् महत गोष्ठीकर्ता सन्ति ! इति गोष्ठ्यां प्रदेशस्य सर्वा: डीएम, एसएसपी सम्मिलिता: भविष्यति !

इसके साथ ही गैंगस्टर और एनएसए के तहत भी कार्रवाई की गई है। कानून व्यवस्था सीएम योगी शनिवार शाम 6.30 बजे अहम बैठक करने वाले हैं ! इस बैठक में प्रदेश के सभी डीएम, एसएसपी शामिल होंगे !

प्रयागराजस्य एसएसपी इत्या: कथनमस्ति पूर्ण ७० नामयुक्तं ५ सहस्रस्य लगभगमज्ञातं सन्ति, एतेषां विरुद्धम् कार्यवाहिम् क्रियते ! प्रयागराजारक्षकस्य कथनमस्ति तत जावेदस्य पुत्री यत् देहल्यां पठति तापीति प्रकारस्य गतिविध्यां सम्मिलितास्ति !

प्रयागराज के एसएसपी का कहना है कि कुल 70 नामजद और 5 हजार के करीब अज्ञात हैं, इन सभी के खिलाफ कार्रवाई की जा रही है ! प्रयागराज पुलिस का कहना है कि जावेद की बेटी जो दिल्ली में पढ़ती है वो भी इस तरह की गतिविधि में शामिल है !

यदि आवश्यकताभवत् तर्हि वयं देहली आरक्षकेण संपर्कम् करिष्यामः स्वदळमपि च् प्रेक्ष्यामः ! एडीजी प्रेमप्रकाशस्य कथनमस्ति ततहिंसायाः पश्च वामपंथी संगठनानां, एआईएमआईएम सीएए च् एनआरसी वा आंदोलनम् समर्थनं कर्तुं रमिताः जनानां हस्तानि सन्ति !

अगर जरूरत पड़ी तो हम लोग दिल्ली पुलिस से संपर्क साधेंगे और अपनी टीम भेजेंगे ! एडीजी प्रेमप्रकाश का कहना है कि हिंसा के पीछे वामपंथी संगठनों, एआईएमआईएम और सीएए व एनआरसी आंदोलन को सपोर्ट कर रहे लोगों का हाथ है !

वीथिभिः निःसृत्वारक्षकस्य युवासु गोरिल्लाघातम् कृतवन्तः ! बालकान् अग्रम् कृत्वा प्रस्तरप्रहारम् कृतवान ! यद्यपि आरक्षकः संयमेण कार्यम् कृतः केवलं च् वरिष्ठजनान् इव पलायस्य प्रयत्नम् कृतं !

गलियों से निकलकर पुलिस के जवानों पर गोरिल्ला वार को अंजाम दिया गया ! बच्चों को आगे करके पत्थरबाजी कराई गई ! हालांकि पुलिस ने संयम से काम लिया और सिर्फ बड़े लोगों को ही भगाने की कोशिश की गई !

ज्ञापयन्तु तत शुक्रवासरम् हिंसायाः मध्य एडीजी स्वयं दंडम् गृहीत्वा सम्मर्दस्य मध्य प्रवेशिता: स्म ! आरक्षक: परितः बंधनम् कर्तुं धृतमस्ति ! आपणम् अवरुद्धम् दृश्यते !

बता दें कि शुक्रवार को हिंसा के बीच एडीजी खुद लाठी लेकर भीड़ के बीच घुस गए थे ! पुलिस ने चारों तरफ घेराबंदी कर रखी है ! बाजार बंद दिख रहे हैं !

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here