सीतापुर कारागारे शिवपाल यादवस्य आजम खानस्य च् मेलनम्, गोपितमस्ति राजनैतिक सन्देशम् ! सीतापुर जेल में शिवपाल यादव और आजम खान की मुलाकात, छिपे हैं सियासी संदेश !

0
118

शिवपाल यादव: तादृशं तर्हि समाजवादी दलस्य निर्वाचनपत्रे विधायक: सन्ति तु तस्य स्वदलमपि अस्ति सम्यक् तादृशैव आजम खान: समाजवादी दलस्य निर्वाचनपत्रे विधायक: सन्ति तु तस्य समर्थकानां कथनमस्ति तत अखिलेश यादव: तस्य उपेक्षाम् कुर्वन्ति !

शिवपाल यादव वैसे तो समाजवादी पार्टी के टिकट पर विधायक हैं लेकिन उनकी अपनी पार्टी भी है ! ठीक वैसे ही आजम खान समाजवादी पार्टी के टिकट पर विधायक हैं लेकिन उनके समर्थकों का कहना है कि अखिलेश यादव अनदेखी कर रहे हैं !

केचनास्यैव प्रकारस्य वार्ता शिवपाल यादवं प्रत्या तदा कथितं यदा तेन एसपी विधायक दलस्य गोष्ठ्यां नाहूतं ! येषां सर्वानां मध्य शिवपाल यादव: स्वयं सीतापुर गत्वा जनपदकारागारे आजम खानेण मेलनम् कृतः ! तादृशैव तर्हि शिवपाल यादव: मेलनं अराजनैतिक ज्ञापित: !

कुछ इसी तरह की बात शिवपाल यादव की तरफ से तब कही गई जब उन्हें एसपी विधायक दल की बैठक में नहीं बुलाया गया ! इन सबके बीच शिवपाल यादव खुद सीतापुर जाकर जिला जेल में आजम खान से मुलाकात की ! वैसे तो शिवपाल यादव ने मुलाकात को गैर सियासी बताया !

तु राजनित्या: विदानां कथनमस्ति तत इति मेलनेण पूर्वस्य घटनाक्रमम् दर्शितं तर्हि येन राजनैतिक नाम दत्तुम् शक्नोति ! अधुना प्रश्नमिदमस्ति तत इति मेलनस्यार्थम् किं अस्ति ! अस्य प्रश्नस्योत्तरे विद्वाना: स्वयं शिवपाल यादवस्याजम खानस्य च् समर्थकानां कथने ध्यानदत्तस्य वार्ता कथ्यन्ति !

लेकिन राजनीति के जानकारों का कहना है कि इस मुलाकात से पहले की घटनाक्रम को देखें तो इसे सियासी नाम दिया जा सकता है ! अब सवाल यह है कि इस मुलाकात के मायने क्या हैं ! इस सवाल के जवाब में जानकार खुद शिवपाल यादव और आजम खान के समर्थकों के बयान पर ध्यान देने की बात कहते हैं !

वर्तमानैवे आजम खानस्य दृढ़ समर्थक: कथित: तत यदि योगी महोदयः कथ्यति तताजम खानस्य स्वतंत्रता अखिलेश यादव: स्वयं नेच्छति तर्हि अनृतं नास्ति ! पूर्वेषु द्वयवर्षेषु सः आजम खानेण केवलं एकदा मेलित: ! इदमेव न भूमिस्तरे आजम खानस्य स्वतंत्रतायै प्रयत्नमपि न कृतः !

हाल ही में आजम खान के कट्टर समर्थक ने कहा कि अगर योगी जी कहते हैं कि आजम खान की रिहाई अखिलेश यादव खुद नहीं चाहते हैं तो गलत नहीं है ! पिछले दो वर्षों में वो आजम खान से सिर्फ एक दफा मिले ! यही नहीं जमीनी स्तर पर आजम खान की रिहाई के लिए कोशिश भी नहीं की !

इदमेकमिदृशं पीड़ामस्ति यस्योल्लेखमधुना आजम खानस्य समर्थका: स्पष्टरूपेषु कथ्यन्ति ! वर्तमानैवे कश्चित क्रोणे स्वरमागतं तत आजम खानस्य कश्चित अन्यविकल्पम् प्रत्यां विचारणीय: केचन जनाः एआईएमआईएम इत्या: अंशभवस्य उपदेशमेव दत्तं !

यह एक ऐसा दर्द है जिसका जिक्र अब आजम खान के समर्थक खुली तौर पर कह रहे हैं ! हाल ही में किसी कोने से आवाज आई कि आजम खान साहब को किसी और विकल्प के बारे में सोचना चाहिए कुछ लोगों ने एआईएमआईएम का हिस्सा बनने की सलाह तक दे डाली !

सम्प्रति वार्ता कुर्वन्ति शिवपाल यादवस्य ! शिवपाल यादवम् प्रत्यां कथ्यते तत तस्य हृदयं भाजपायै कोमलमस्ति ! वर्तमानैवे यदा सः स्वट्वीतर चित्रे परिवर्तनम् कृतः तर्हीति वार्तायाः चर्चा स्पष्टमासीत् तत सः भाजपा दले गन्तुं शक्नोति !

अब बात करते हैं शिवपाल यादव की ! शिवपाल यादव के बारे में कहा जा रहा है कि उनका रुख बीजेपी के लिए लचीला है ! हाल ही में जब उन्होंने अपने ट्विटर प्रोफाइल में बदलाव किया तो इस बात की चर्चा आम थी कि वो बीजेपी खेमे में जा सकते हैं !

यद्यपि सः यस्यखंडनम् कर्तुं रमति ! तु आगरायां यदा अखिलेश यादव: कथित: तत भाजपाया सह सहानुभूतिधर्ताभि: सह कश्चित प्रकारस्य अवमोक: न दाष्यते तेन बाह्यस्य मार्गम् द्रक्ष्यते !

हालांकि वो इसका खंडन करते रहे हैं ! लेकिन आगरा में जब अखिलेश यादव ने कहा कि बीजेपी के साथ सहानुभूति रखने वालों के साथ किसी तरह की रियायत नहीं दी जाएगी उन्हें बाहर का रास्ता दिखाया जाएगा !

तर्हि शिवपाल यादव: अपि मूकम् न रमित: ! सः कथित: तत यदैच्छामसि अखिलेश यादव: निस्सरतु ! इति पृष्ठभूम्यां आजम खानस्य शिवपाल यादवस्य मेलनम् महत् बद्यते !

तो शिवपाल यादव भी चुप नहीं रहे ! उन्होंने कहा कि जब चाहें अखिलेश यादव निकाल दें ! इस पृष्ठभूमि में आजम खान शिवपाल यादव की मुलाकात को अहम बताया जा रहा है !

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here